• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • पढ़ें, यहां के सबसे पुराने कृष्‍ण मंदिर में कैसे मनाई जाती है जन्‍माष्‍टमी

पढ़ें, यहां के सबसे पुराने कृष्‍ण मंदिर में कैसे मनाई जाती है जन्‍माष्‍टमी

अम्बिकापुर में शनिवार को कृष्ण जन्‍माष्‍टमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. कृष्ण भक्तों ने जहां अपने-अपने घरों में कृष्ण जन्म का पर्व मनाया, वहीं शहर के सरगुजा पैलेस प्रांगण में स्थित संभाग के सबसे पुराने कृष्ण मंदिर में कृष्ण भक्तों की जमकर भीड़ उमड़ी.

अम्बिकापुर में शनिवार को कृष्ण जन्‍माष्‍टमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. कृष्ण भक्तों ने जहां अपने-अपने घरों में कृष्ण जन्म का पर्व मनाया, वहीं शहर के सरगुजा पैलेस प्रांगण में स्थित संभाग के सबसे पुराने कृष्ण मंदिर में कृष्ण भक्तों की जमकर भीड़ उमड़ी.

अम्बिकापुर में शनिवार को कृष्ण जन्‍माष्‍टमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. कृष्ण भक्तों ने जहां अपने-अपने घरों में कृष्ण जन्म का पर्व मनाया, वहीं शहर के सरगुजा पैलेस प्रांगण में स्थित संभाग के सबसे पुराने कृष्ण मंदिर में कृष्ण भक्तों की जमकर भीड़ उमड़ी.

  • Share this:
अम्बिकापुर में शनिवार को कृष्ण जन्‍माष्‍टमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. कृष्ण भक्तों ने जहां अपने-अपने घरों में कृष्ण जन्म का पर्व मनाया, वहीं शहर के सरगुजा पैलेस प्रांगण में स्थित संभाग के सबसे पुराने कृष्ण मंदिर में कृष्ण भक्तों की जमकर भीड़ उमड़ी.

दरअसल, शहर का ये इकलौता कृष्ण मंदिर है जिसमें वर्षों से सार्वजनिक कृष्ण जन्म का पर्व मनाया जाता है. इसमें न केवल अम्बिकापुर शहर से बल्कि पूरे जिले से हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है. इसको देखकर सुरक्षा के लिहाज से यहां काफी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किया जाता है.

इधर श्रद्धालुओं की मानें तो कृष्ण जन्‍माष्‍टमी के छठे दिन कृष्ण छठी तक इस पर्व की धूम रहेगी. इस वर्ष जिस नक्षत्र में जन्‍माष्‍टमी मनाई जा रही है वो 52 वर्ष बाद आया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज