बिलासपुर: किशोरी को भगाने के आरोपी युवक की पिटाई से मौत, तीन आरोपी गिरफ्तार

नाबालिग लड़की को भगाने के आरोप में एक युवक को लड़की के परिजनों ने इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई.
नाबालिग लड़की को भगाने के आरोप में एक युवक को लड़की के परिजनों ने इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई.

बिलासपुर (Bilaspur) में एक युवक की कुछ लोगों ने जमकर पिटाई कर दी, जिसमें युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई. इस मामले में पुलिस (Police) ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 1:28 PM IST
  • Share this:
बिलासपुर. बिलासपुर (Bilaspur) के रतनगढ़ इलाके में नाबालिग युवती के परिजनों ने एक युवक को इतना पीटा कि युवक की मौत (Kill) हो गई. परिजनों का आरोप है कि युवक उनकी नाबालिक बेटी को भगाकर ले गया था. घटना का जानकारी होने पर पुलिस (Police) ने युवक को पीटने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

डेली छत्तीसगढ़ डॉटकॉम की खबर के अनुसार  ग्राम बोधिबंद में मृतक रामनारायण ध्रुव गांव की एक किशोरी को लेकर दो माह पहले फरार हो गया था. इसके बाद परिजनों ने लड़की की तलाश करनी शुरू कर दी. अपनी खुफिया जानकारी के आधार पर परिजनों ने युवक और नाबालिग लड़की को बिजराकापा गांव से जाकर पकड़ लिया और लड़की को अपने साथ ले आए.

कोरोना काल में छत्तीसगढ़ में घाटों पर नहीं मनेगा छठ पर्व, प्रशासन ने श्रद्धालुओं को दी ये सलाह



इसके कुछ दिनों बाद मृतक भी गांव लौट गया है. इसके बाद लड़की के परिजन युवक से बदला लेने का मौका खोजने लगे. बीते 30 सितम्बर को युवक ठेले के पास पान खाने के लिए गया था. वहां लड़की के परिजन संदीप नेताम उर्फ संटी (22 साल), पिंटू नेताम (18 साल) और मुकेश नेताम (28 साल) ने उसे घेर लिया और लाठियों से युवक पर हमला कर दिया.
इस हमले में युवक के सिर, हाथ, पैर आदि में गंभीर चोट आई. इसके बाद युवक को इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया. कुछ दिनों बाद अस्पतलात से युवक को घर लाया गया, जिसके बाद घर में उसकी दोबारा से तबियत बिगड़ गई तो 12 अक्टूबर को बिलासपुर के एक निजी अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया, जहां शनिवार को उसकी मौत हो गई. रतनपुर पुलिस ने पहले हत्या के प्रयास की धारा में अपराध दर्ज किया था, लेकिन अब तीनों के खिलाफ धारा 302, 34 के तहत कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार कर लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज