Assembly Banner 2021

राधा और रघु का नया आशियाना बना सतना का जू

छत्तीसगढ़ के भिलाई के मैत्रीगार्डन से सफेद शेर के जोड़े को सतना के मुकुंदपुर में बनने वाले नए जू की लिए शनिवार को भेजा गया. शेर के जोड़ों को ले जाने के लिए सतना फोरेस्ट विभाग की टीम पहुंची थी.

छत्तीसगढ़ के भिलाई के मैत्रीगार्डन से सफेद शेर के जोड़े को सतना के मुकुंदपुर में बनने वाले नए जू की लिए शनिवार को भेजा गया. शेर के जोड़ों को ले जाने के लिए सतना फोरेस्ट विभाग की टीम पहुंची थी.

छत्तीसगढ़ के भिलाई के मैत्रीगार्डन से सफेद शेर के जोड़े को सतना के मुकुंदपुर में बनने वाले नए जू की लिए शनिवार को भेजा गया. शेर के जोड़ों को ले जाने के लिए सतना फोरेस्ट विभाग की टीम पहुंची थी.

  • Last Updated: December 5, 2015, 7:53 PM IST
  • Share this:
छत्तीसगढ़ के भिलाई के मैत्रीगार्डन से सफेद शेर के जोड़े को सतना के मुकुंदपुर में बनने वाले नए जू की लिए शनिवार को भेजा गया. शेर के जोड़ों को ले जाने के लिए सतना फोरेस्ट विभाग की टीम पहुंची थी.

टीम में डॉक्टर के साथ विशेषज्ञों की टीम भी पहुंची थी.दोनों शेर के जोड़ो को चोट ना लगे इसके लिए दो बड़े-बड़े वाहन लाए गए थे और रास्ते में भी कई जगह स्टाॅपेज की व्यवस्था की गई थी.

आपको बता दें की यह सफेद शेर राधा और रघु का जोड़ा मैत्रीगार्डन में ही पैदा हुआ था जिसके माता-पिता का नाम गंगा और सतपुड़ा है



मैत्रीगार्डन से शनिवार को शेर के जोड़ों को ले जाने से पहले उनके खाने और रहने के तरीकों के बारे में सतना से आई टीमों के सदस्यों को बारीकी से जानकारी दी गई.
जिससे उन्हें खानपान में कोई दिक्कत न हो. वहीं इन दोनों नन्हे जीवों के चले जाने से मैत्रीगार्डन जू का केज खाली नजर आएगा, जिसकी कमी यहां आने वाले दर्शकों को खलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज