Home /News /chhattisgarh /

नान घोटाला के मुख्‍य आरोपी की क्‍यों नहीं हुई गिरफ्तारी: कांग्रेस

नान घोटाला के मुख्‍य आरोपी की क्‍यों नहीं हुई गिरफ्तारी: कांग्रेस

कांग्रेस ने नान घोटाला मामले में 12 आरोपियों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने रविवार को कहा कि इस पुरे मामले में 25 आरोपीयों का नाम सामने आए थे, जिसमें से केवल 12 को ही गिरफ्तार किया गया है।

कांग्रेस ने नान घोटाला मामले में 12 आरोपियों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने रविवार को कहा कि इस पुरे मामले में 25 आरोपीयों का नाम सामने आए थे, जिसमें से केवल 12 को ही गिरफ्तार किया गया है।

कांग्रेस ने नान घोटाला मामले में 12 आरोपियों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने रविवार को कहा कि इस पुरे मामले में 25 आरोपीयों का नाम सामने आए थे, जिसमें से केवल 12 को ही गिरफ्तार किया गया है।

कांग्रेस ने नान घोटाला मामले में 12 आरोपियों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने रविवार को कहा कि इस पुरे मामले में 25 आरोपीयों का नाम सामने आए थे, जिसमें से केवल 12 को ही गिरफ्तार किया गया है।

बघेल ने कहा कि कांग्रेस के लगातार दबाव के चलते ही इनकी गिरफ्तारी पुलिस ने की है। साथ ही इस पुरे मामले में मुख्य रूप से संलिप्त अनुरिमा सिंह और गिरीश शर्मा, जिनके घर से एक करोड़ 59 लाख रुपए पकड़ा गया था, उनकी अभी तक गिरफ्तारी नहीं होने पर सवाल उठाया।

दिल्ली में प्रेस कांफ्रेस के माध्‍यम से सामने लाए दस्तावेज को लेकर अभी तक सरकार द्वारा मौन बनाए रखने पर भी बघेल ने कहा कि आखिर सरकार क्‍यों चुप है?

यदि सरकार नान घोटाले को रोक लेती तो इस राशि से प्रदेश के किसानों को धान का बोनस दिया जा सकता है और मनरेगा का बकाया पेमेंट हो सकता था।

'इंदिरा प्रियदर्शनी बैंक घोटाले की नार्को टेस्ट की सीडी कहां है'
सहकारी बैंक के तीन शाखाओं से 21 बेनामी खातो से 500 करोड़ रुपए से अधिक रुपए के धोखाधड़ी मामले में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भुपेश बघेल ने रविवार को सरकार के ऊपर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि अभी तक इंदिरा प्रियदर्शनी बैंक घोटाले की नार्को टेस्ट की सीडी कोर्ट नहीं पहुंच पाई हैं। जबकि सीडी को काफी पहले कोर्ट में पेश करना था।

लगता है ठीक यही हश्र सहकारी बैंक घोटाले का मामले का भी होगा। इतना ही नहीं बघेल का यह कहना हैं कि इस बैंक में खातेदार फर्जी हो सकते हैं लेकिन जिन के खातों में पैसे गए वह असली हैं।

इस पूरे मसले पर सरकार पर निशाना साधते हुए बघेल ने कहा कि सरकार अभी तक इस बारे में कुछ बता नहीं पाई हैं। यह बैंक किसानों से जुड़ा हुआ है।

सरकार कृषि को तबाह करना चाह रही हैं। बघेल ने 500 करोड़ के घोटाला होने के बाद आरबीआई की ओर से कभी भी सहकारी बैंक के लाइसेंस को निरस्त कर सकती है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर