• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarhi
  • »
  • खिनमिनहा गड़हन झन होवय भगवान अइसे मनावत हंव

खिनमिनहा गड़हन झन होवय भगवान अइसे मनावत हंव

News18hindi.

News18hindi.

कइसे हे विधाता तोरो हाथ मा सगुन धरा के पबरित जगा के निरमान करवाथे. तोर कई पीढ़ी ले चलत आवत हे तेला मानना नइ मानना तोर हाथ नइये ऐला जग के बनाने वाला सिरजनहार हा तोला संउपे हे. करनच परही.

  • Share this:

रद्दा मा रेंगासी अउ थकासी दुनो ला नापे ला परथे. नवा सगा के बलावा मा जाबे त कई किसम के विचार दउड़ – दउड़ के आवत रइथे. बिचार आही ते जाही घलाव बने बने बिचारबे त सब बने बने होही नइते खिनमिनहा गड़हन ला तो तें सोचे डरे अस. भगवान ला सुमर डरे एही तोर बर बने असन के चिन्हारी बनही अतका भरोसा होना चाही.

सोंचने वाला कोने तिंही हरस
काबर बनाए हे बनाने वाला ए मानुस तन ला. सबो नापे तऊले बरोबर राखे हे. कोनो ला कांही बर तरसावत होही अइसे नइ लागय. देख ताक के रेंगे मा कांटा घलो घुच के रेंगे ला कहिथे तभी तो कलासे असन रेंगई रेंगत रइथन. कांटा ला कोनो बोवंय नहीं तभो ले फूल ले जादा कांटा बगरे रइथे इही कांटा असन विचार चोखियाए लेवत हे. रेंगे के पहिली मन मा गिरे हपटे के विचार आगे त तें गिरबेच भले अउ कोनो कारन होही फेर तें तो पहिली सोंच डरे हस कइसे बनही बता भला. एकरे सेती केहे जथे हमेशा बने बने सोचना चाही. अपन बर होवय चाहे कखरो बर होवय बिचार पवित्र होना चाही.

पबरित जगा ला तिही बनाए
कइसे हे विधाता तोरो हाथ मा सगुन धरा के पबरित जगा के निरमान करवाथे. तोर कई पीढ़ी ले चलत आवत हे तेला मानना नइ मानना तोर हाथ नइये ऐला जग के बनाने वाला सिरजनहार हा तोला संउपे हे. करनच परही. धरमात्मा कोई इही मानस चोला हरय. करम हे पूजा तेला सबो जानत हें तभो ले जतका धरम करम करइया मा अलग अलग पहचान बने हे तेला तोरेच हाथ मा सौंपे हे. लीपे बहरे धोए मांजे पवरित जल चढ़ाए फूल पान के चढ़ावा लाने मिठई पेड़ा के परसाद लाने सबो पबरित लागथे.

अजम करके देखले जइसे सोंचे वइसे होइस
बनें बात हा कभू नइ बिगड़य. अनमनहा कोनो काम झन होवय फेर देख तोर मन कइसे तोर बस मा रइथे. मन भागथे अउ लहुट के घलो आथे. घेरी – बेरी बिटोथे दइसे होही का वइसे होही का एला छोड़ ओला धर अउ करइया करतेच आवत हें अउ दुख पावत हें. कभू ककरो बिगाड़ झन होवय अइसे सोचने वाला के घर भगवान घलो परछो लेहे बर आथे वोला घलो अजम करना परथे. अपने अपन मा झन रहना चाही अइसे शिक्षा पाबे त डर्राए भर्राए असन नइ रहिबे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज