Home /News /city-khabrain /

खोजी पत्रकार जे डे को उनके खबरी ने ही किया डबलक्रॉस

खोजी पत्रकार जे डे को उनके खबरी ने ही किया डबलक्रॉस

आईबीएन7 को सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक जे डे की हत्या तीन वजहों से हो सकती है। ये हैं चंदन तस्करों और कुछ भ्रष्ट कस्टम अधिकारियों से बैर, तेल माफिया के खेल को उजागर करना या फिर रियल एस्टेट के खेल में पुणे के एक ताकतवर शख्स को बेनकाब करना।

अधिक पढ़ें ...
    मुंबई। मुंबई में मिड डे अखबार के खोजी पत्रकार जे डे की हत्या किसने और क्यों की? आईबीएन7 को सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक जे डे की हत्या तीन वजहों से हो सकती है। ये हैं चंदन तस्करों और कुछ भ्रष्ट कस्टम अधिकारियों से बैर, तेल माफिया के खेल को उजागर करना या फिर रियल एस्टेट के खेल में पुणे के एक ताकतवर शख्स को बेनकाब करना। आईबीएन7 को मिली पक्की खबर के मुताबिक जे डे की हत्या में उनके अपने खबरी का ही हाथ था यानि जे डे को उनके ही खबरी ने डबलक्रॉस किया।

    चंदन तस्करों और कस्टम अफसरों से बैर
    2010 में मुंबई से सटे नावा शावा पोर्ट पर चंदन की एक बड़ी खेप चोरी छुपे आने वाली थी। पत्रकार जे डे को अपने खबरियों से इसकी खबर मिली और उन्होंने इस खबर का इनपुट कस्टम विभाग में अपने भरोसेमंद अधिकारियों को दे दिया। फिर क्या था जैसे ही तस्करी का माल आया कस्टम विभाग ने उसे जब्त कर लिया। जे डे के इस इनपुट से चंदन तस्करों को 10 करोड़ का चूना लगा। 10 करोड़ के चंदन की खेप के साथ पकड़े गए लोगों से पूछताछ में अहम खुलासे हुए जिसकी बदौलत करोड़ों के चंदन की 2 और कंसाइनमेंट पकड़ी गईं। जे डे की हत्या की इस थ्योरी को इस बात से और बल मिलता है कि मुंबई पुलिस ने इकबाल हटेला नाम के एक शख्स को हिरासत में लिया है।

    इकबाल हटेला एक खबरी है जो चंदन तस्करी से ही जुड़ी खबरें देता था तो क्या इकबाल हटेला ने किया जे डे को डबलक्रॉस? दरअसल आईबीएन7 को मिल रही खबरों के मुताबिक पत्रकार जे डे ने चंदन तस्करी के खेल में शामिल कुछ भ्रष्ट कस्टम अधिकारियों के बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा कर ली थी। कस्टम अधिकारियों और चंदन तस्करों की साठगांठ का जे डे ने एक डॉसियर बना लिया था। जे डे के पास इसकी सॉफ्ट कॉपी भी थी। लेकिन जे डे के खबरी को ये बात पता चल गई और उन्होंने जे डे को डबलक्रॉस कर दिया। खबर के मुताबिक कस्टम अधिकारियों और चंदन तस्करों ने समझौते की पेशकश की लेकिन पत्रकार जे डे ने इनकार कर दिया। फिर वही हुआ जिसका खतरा था। जे डे की हत्या करवा दी गई।

    तेल माफिया के खेल को उजागर करना
    मुंबई में मिलावटी तेल का कारोबार करोड़ों का है और पूरे महाराष्ट्र की बात करें तो अरबों का टर्नओवर है। जे डे की खबरों से तेल माफिया को करोड़ों का नुकसान हुआ इसीलिए हत्या की दूसरी अहम थ्योरी है तेल माफिया से दुश्मनी। इस खबर पर पुलिस की कार्रवाई भी मुहर लगा रही है क्योंकि मुंबई पुलिस ने ना सिर्फ खबरी इकबाल हटेला को पकड़ा है बल्कि एक और खबरी को पकड़कर वो उससे इस मर्डर का राज उगलवा रही है।

    इस खबरी का नाम है मतीन। सूत्रों से मिल रही खबर के मुताबिक मतीन जे डे का खबरी था। मतीन जे डे को तेल माफिया से जुड़ी अहम खबरें देता था यानि मतीन ने मुंबई और उसके आसपास नकली तेल का खेल खोलने में जे डे की काफी मदद की लेकिन खबरी मतीन खुद शक के घेरे में है। कहीं उसने तो जे डे को डबलक्रॉस नहीं किया? कहीं तेल माफिया से पैसे लेकर इस खबरी ने जे डे को डबलक्रास तो नहीं किया?

    रियल एस्टेट के खेल में पुणे के एक ताकतवर शख्स को बेनकाब करना
    जे डे की हत्या की तीसरी थ्योरी का सवाल है तो ये जुड़ा है पुणे के रियल एस्टेट माफिया से। पत्रकार जे डे ने पुणे के रियल एस्टेट के दाम में अचानक आए उछाल की पोल खोली थी। यही नहीं पिंपरी चिंचवाड़ा इलाके में जमीनों की बंदरबांट और रियल एस्टेट के खेल को लेकर आरटीआई एक्टिविस्टों पर हो रहे हमलों के पीछे की खबर भी उन्होंने साफ की थी। खबरों के मुताबिक इसी वजह से जे डे ने कई ताकतवर लोगों से बैर ले लिया था। इस मामले में पुणे के एक बड़े आदमी पर शक की सुई जा रही है।

    इस खबर पर तवज्जो की वजह है पुणे से अनवर नाम के शख्स का पकड़ा जाना। सूत्रों के मुताबिक पुणे के अनवर ने ही जे डे की हत्या की सुपारी दी थी। पुलिस ने इस सिलसिले में हत्या में इस्तेमाल एक मोटरसाइकिल और एक कार भी बरामद की है। हालांकि पुलिस ने अभी इस बात की तस्दीक नहीं की है लेकिन खबर है कि बरामद की गई इस कार का इस्तेमाल हत्यारों ने हत्या के बाद फरार होने में किया।

    Tags: Oil mafia, Police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर