होम /न्यूज /city-khabrain /गुजरात:पानी के लिए सड़कों पर हंगामा, टूटे मटके

गुजरात:पानी के लिए सड़कों पर हंगामा, टूटे मटके

महाराष्ट्र की तरह गुजरात के भी कई इलाके पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। राजकोट में नगर निगम हर रोज लोगों को बस 20 मिनट के लिए पानी की सप्लाई करता है। लेकिन लोगों की माने तो ये भी महज दावा है।

महाराष्ट्र की तरह गुजरात के भी कई इलाके पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। राजकोट में नगर निगम हर रोज लोगों को बस 20 मिनट के लिए पानी की सप्लाई करता है। लेकिन लोगों की माने तो ये भी महज दावा है।

महाराष्ट्र की तरह गुजरात के भी कई इलाके पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। राजकोट में नगर निगम हर रोज लोगों को बस 20 मिनट क ...अधिक पढ़ें

    मुंबई। महाराष्ट्र की तरह गुजरात के भी कई इलाके पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। राजकोट में नगर निगम हर रोज लोगों को बस 20 मिनट के लिए पानी की सप्लाई करता है। लेकिन लोगों की माने तो ये भी महज दावा है। उनके घरों में बस आठ से दस मिनट पानी आता है। उसमें भी कई बार गंदे पानी की सप्लाई उन्हें बीमारियां देती है।
    लोग विरोध प्रदर्शन करके अपनी बात प्रशासन तक पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन अभी तक उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। राजकोट की महिलाएं पानी की इस तंगी से तंग आ चुकी हैं। महिलाओं ने हाथों में घड़े लेकर राजकोट कार्पोरेशन के ऑफिस पहुंच गईं। वहां जोर जोर से घड़े बजाए ताकी अधिकारियों तक उनकी आवाज पहुंच सके और जब वहां से सिर्फ आश्वासन मिला तो उन्होंने सड़क जाम कर दिये और पानी की मांग करने लगे।मटके भी तोड़े।
    राजकोट के रैय्या गांव में एक पूरे परिवार को हर दिन महज चार से पांच बाल्टी पानी से गुजारा करना पड़ता है। इसमें पीने से लेकर नहाने तक का इंतजाम करना पड़ता है। जब गर्मी आती है तो स्थिति और गंभीर हो जाती है। कई बार पूरे परिवार को बस एक ही बाल्टी पानी मिलता है।

    राजकोट नगरनिगम दावा करता है कि हर रोज उसकी तरफ से लोगों के घरों में 20 मिनट तक पानी की सप्लाई होती है। लेकिन लोगों की माने तो उन्हें महज आठ से दस मिनट पानी मिलता है। शहर में गंदा पानी पीने की वजह से ग्रस्त बीमारियों से जूझते हर रोज सैकड़ों मरीज अस्पतालों में पहुंचते हैं। लेकिन राजकोट के मेयर नहीं मानते कि उनके शहर में ऐसी कोई समस्या है।

    Tags: Rajkot

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें