Home /News /city-khabrain /

यूपी में सुरक्षा बलों के साए में मनेंगे त्योहार

यूपी में सुरक्षा बलों के साए में मनेंगे त्योहार

उत्तर प्रदेश में दुर्गा पूजा से लेकर दीपावली तक सभी त्योहार केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के साए में ही मनाए जाएंगे। सूबे के अलग-अलग हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव की घटनाओं की वजह से यह एहतियात बरता जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में दुर्गा पूजा से लेकर दीपावली तक सभी त्योहार केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के साए में ही मनाए जाएंगे। सूबे के अलग-अलग हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव की घटनाओं की वजह से यह एहतियात बरता जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में दुर्गा पूजा से लेकर दीपावली तक सभी त्योहार केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के साए में ही मनाए जाएंगे। सूबे के अलग-अलग हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव की घटनाओं की वजह से यह एहतियात बरता जा रहा है।

    लखनऊ। उत्तर प्रदेश में दुर्गा पूजा से लेकर दीपावली तक सभी त्योहार केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के साए में ही मनाए जाएंगे। सूबे के अलग-अलग हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव की घटनाओं की वजह से यह एहतियात बरता जा रहा है। हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अर्धसैनिक बलों की 78 टुकड़ियां सिर्फ मुजफ्फरनगर और उसके आसपास के इलाकों में तैनात हैं।

    मुजफ्फरनगर शहर में तैनात त्वरित कार्रवाई बल (आरपीएफ) की 12 टुकड़ियों को त्योहार के मद्देनजर संवेदनशील जिलों में भेजने की योजना है। प्रदेश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था से सिर्फ पुलिस अधिकारी ही नहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय भी चिंतित है। इधर, खुफिया एजेंसियों को सांप्रदायिक माहौल खराब करने की साजिशों के बारे में गुप्त सूचना मिलना परेशानी को बढ़ाने वाला है।

    मुजफ्फरनगर में हालात और बिगड़ने के बाद सेना के अलावा अर्धसैनिक बलों की 78 टुकड़ियां तैनात करनी पड़ी। मुजफ्फरनगर सहित राज्य की पुलिस के लिए आने वाले दिन काफी संकट भरे हैं। दुर्गा प्रतिमा विसर्जन को लेकर खास तौर पर सरकारी अमले को मशक्कत करनी पड़ रही है। वहीं दूसरी ओर, पूरे सूबे में सांप्रदायिक तनाव बढ़ने की घटनाओं ने भी प्रशासनिक अमले की दिक्कतों में इजाफा कर दिया है।

    पश्चिमी यूपी में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को 30 सितंबर तक ही तैनात रखने की अनुमति केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दी है। प्रदेश पुलिस ने मंत्रालय से इसकी अवधि 17 अक्टूबर तक बढ़ाने का अनुरोध किया है, ताकि दुर्गा पूजा और बकरीद का त्यौहार शांतिपूर्वक संपन्न कराया जा सके। बीते दो दिनों के भीतर प्रदेश के चार जिलों में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बनी हुई है, जिसे काबू में करने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बलों को तैनात करना पड़ा।

    हैरत की बात यह है कि शामली को छोड़कर बाकी जगहों पर मामूली घटनाएं हुईं, जिसे सांप्रदायिक रंग दे दिया गया। शामली के कोतवाली क्षेत्र में एक युवक पर हमला किया गया। इसके विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए। वहीं दूसरी ओर, बुलंदशहर में गुलावठी इलाके में भी ट्रैक्टर-ट्रालियों की भिड़ंत के बाद दो समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए। हालांकि, पुलिस इसे मारपीट का मामला बता रही है।

    लखीमपुर खीरी के निघासन थाना क्षेत्र के पडुवा गांव में शनिवार को एक युवती को भगा ले जाने के मामले को लेकर भी सांप्रदायिक तनाव फैलने की सूचना है। वहीं बरेली के फतेहगंज पश्चिमी क्षेत्र में दो दिन पहले एक छात्रा के अपहरण मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर लोगों ने शनिवार को बाजार बंद रखकर अपना आक्रोश जाहिर किया। इलाके में तनाव फैला हुआ है और पुलिस बलों को तैनात कर दिया गया है।


    Tags: उत्तर प्रदेश, लखनऊ

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर