लाइव टीवी

ममता से धोखा! गोद दे दिया HIV+ बच्चा

News18India
Updated: February 26, 2015, 5:40 PM IST

इस जोड़े के साथ हुए धोखे की कहानी सुनेंगे तो आपके भी पैरों तले जमीन खिसक जाएगी।

  • News18India
  • Last Updated: February 26, 2015, 5:40 PM IST
  • Share this:
मुंबई। मुंबई की अनिता और उसके पति अरुण के घर बरसों बाद आई खुशी अब खत्म हो चुकी है। उनकी जिंदगी में आया वेद अब चला गया है और इस मां बाप के पास बचा है तो सिर्फ गम, धोखा और एक मासूम को खो देने की बेबसी। इस जोड़े के साथ हुए धोखे की कहानी सुनेंगे तो आपके भी पैरों तले जमीन खिसक जाएगी।

कुछ महीनों पहले ही उन्होंने पुणे के गोदावरी गुरुकुल आश्रम से एक लाख रुपये देकर एक बच्चा गोद लिया था लेकिन बच्चे की किलकारियां घर में ठीक से गूंज पातीं, उससे पहले ही उनकी जिंदगी में भूचाल आ गया। अनिता और अरुण ने तिल तिल कर अपने मासूम को मरते देखा। उन्हें बड़ा झटका तब लगा जब लाडले की तबियत बिगड़ने के बाद उन्होंने उसका टेस्ट कराया। पता चला कि घर में आया नन्हा मेहमान एचआईवी पॉजिटिव है। कुछ दिनों तक कोमा में रहने के बाद उसकी मौत हो गई।

हैरानी की बात ये है कि पुणे के गोदावरी गुरुकुल आश्रम को ये बात अच्छी तरह से पता थी कि वेद एचआईवी पॉजिटिव है लेकिन इसके बावजूद न सिर्फ इस आश्रम ने इस परिवार को धोखा दिया और एक मासूम को पैसों के लालच में गोद में दे दिया। आश्रम के पास गोद देने का लाइसेंस भी नहीं है और गैरकानूनी तरीके से गोद देने का गोरखधंधा चल रहा था।

जब अनिता और उसके पति ने जानकारी मिलने के बाद बच्चे के लिए इस आश्रम से संपर्क किया तो उसने एक लाख रुपये में बच्चे देने की बात कही। एडवांस के तौर पर 30 हजार रुपये मांगे। बच्चे पाने की लालसा में अनिता ने झटके से 30 हजार रुपये दे दिए। लेकिन कई महीने बाद भी जब उन्हें बच्चा नहीं मिला तो फिर उन्होंने अपने पैसे मांगे लेकिन पैसे लौटाने की बात सुनते ही आश्रम ने दो-तीन दिन का समय और मांगा।

पैसे लौटाने की बात सुनते ही आश्रम ने झटके में एक बच्चा इस परिवार के पास मुंबई पहुंचा दिया लेकिन वो बच्चा किसका था, कहां से आया, उसके असली मां-बाप कौन थे इसकी कोई जानकारी नहीं दी बल्कि बाकी के सत्तर हजार भी लेकर वहां से गायब हो गए। अनिता और अरुण के इलाज में भी लाखों रुपये बर्बाद हुए इसके बावजूद नौ महीने बाद ही उन्होंने वेद को तिल-तिलकर मरते देखा।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सिटी खबरें से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 5, 2010, 5:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर