जोधपुर की किताबों में पढ़ाया जा रहा है पाठ, आसाराम महान संत!

रेप के आरोपी आसाराम महान संत हैं जोधपुर में तीसरी क्लास के बच्चों को नैतिक शिक्षा के नाम पर यही पाठ पढ़ाया जा रहा है

  • News18India
  • Last Updated: August 2, 2015, 1:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। रेप के आरोपी आसाराम महान संत हैं जोधपुर में तीसरी क्लास के बच्चों को नैतिक शिक्षा के नाम पर यही पाठ पढ़ाया जा रहा है। खास बात ये है कि नाबालिग से बलात्कार के आरोपी आसाराम करीब दो साल से जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद हैं और वहीं के 80 से ज्यादा स्कूलों में ये सीख दी जा है कि आसाराम महान संत हैं।

दरअसल, दिल्ली के एक प्रकाशक गुरुकुल एजुकेशन बुक्स ने नैतिक शिक्षा की पुस्तक में आसाराम को महान संत बताया है। एनसीईआरटी के सीसीई पैटर्न पर आधारित इस किताब में देश के लिए अमूल्य योगदान देने वाले महान संतों और महात्माओं के साथ आसाराम का फोटो भी प्रकाशित किया गया है।

नया उजाला नामक इस किताब के पेज नंबर 40 पर प्रसिद्ध संतों के फोटो प्रकाशित कर उन्हें पहचानने के लिए कहा गया है। इनमें गुरु नानक, महावीर, कबीर, विवेकानंद, मदर टेरेसा, मीराबाई, शंकराचार्य, रामकृष्ण परमहंस, दयानंद सरस्वती और बाबा रामदेव के फोटो के बीच आसाराम का फोटो भी है। संकेत में इन्हें आसाराम बापू के नाम से संबोधित किया गया है।



प्रकाशक राकेश अग्रवाल का कहना है कि पुस्तक का यह संस्करण पांच साल पुराना है। उस समय आसाराम के खिलाफ कोई मामला नहीं था। अज्ञानता के चलते ध्यान नहीं दिया। पुस्तकें बाजार से वापस लेने की प्रक्रिया चल रही है।
नए संस्करण में आसाराम नहीं होगा। वहीं, प्रेरणा इंटरप्राइजेज के मुकेश मूथा ने बताया कि सामान्य ज्ञान की यह पुस्तक दिल्ली से आती है। हम सिर्फ सप्लाई करते हैं। इसमें अंदर क्या गलत, क्या सही है, यह हमें नहीं पता। उधर, जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि नैतिक शिक्षा की पुस्तक में आसाराम को संत के रूप में पढ़ाने वाले स्कूलों को नोटिस जारी कर जवाब मागेंगे।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज