गिरफ्तारी के बाद जमानत पर रिहा हुए हार्दिक पटेल, मोबाइल इंटरनेट पर रोक

पटेल आरक्षण के लिए आंदोलन चला रहे हार्दिक पटेल को उनके एकता यात्रा से पहले निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में सूरत से गिरफ्तार किया गया, हालांकि अदालत से जमानत मिलने पर उन्हें रिहा भी कर दिया गया।

पटेल आरक्षण के लिए आंदोलन चला रहे हार्दिक पटेल को उनके एकता यात्रा से पहले निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में सूरत से गिरफ्तार किया गया, हालांकि अदालत से जमानत मिलने पर उन्हें रिहा भी कर दिया गया।

पटेल आरक्षण के लिए आंदोलन चला रहे हार्दिक पटेल को उनके एकता यात्रा से पहले निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में सूरत से गिरफ्तार किया गया, हालांकि अदालत से जमानत मिलने पर उन्हें रिहा भी कर दिया गया।

  • भाषा
  • Last Updated: September 20, 2015, 10:54 AM IST
  • Share this:

अहमदाबाद। पटेल आरक्षण के लिए आंदोलन चला रहे हार्दिक पटेल को उनके एकता यात्रा से पहले निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में सूरत से गिरफ्तार किया गया, हालांकि अदालत से जमानत मिलने पर उन्हें रिहा भी कर दिया गया।

हार्दिक की गिरफ्तारी से हिंसा और प्रदर्शन की छिटपुट घटनाएं हुईं जो पिछले महीने की तुलना में छोटे पैमाने पर और कम प्रभावकारी रही। पिछले महीने इस घटना के बाद समुदाय के सदस्यों ने व्यापक पैमाने पर प्रदर्शन किया था जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई थी। सरकार ने अपनी तरफ से किसी भी अफवाह को रोकने और कानून व्यवस्था से निपटने के लिए राज्यभर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है।

पुलिस ने हार्दिक और उनके 35 समर्थकों को सूरत में वराछा से हिरासत में लिया, जिन्हें सूरत में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था। मजिस्ट्रेट ने इन सभी को 1,000 रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी जिसके बाद उन्हें देर रात रिहा कर दिया गया। पुलिस ने बताया कि निषेधाज्ञा उल्लंघन के लिए हार्दिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।



सूरत पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने बताया कि हमने हार्दिक पटेल को गिरफ्तार किया है। निषेधाज्ञा उल्लंघन के लिए उनके खिलाफ धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज