Home /News /city-khabrain /

जाट आंदोलन की आड़ में कभी मचाया कोहराम तो कभी दुकानों में लूटपाट

जाट आंदोलन की आड़ में कभी मचाया कोहराम तो कभी दुकानों में लूटपाट

हरियाणा के जाट आरक्षण आंदोलन की आग ने पूरे हरियाणा को झुलसा दिया है। आंदोलन की आड़ में जाट प्रदर्शनकारियों ने अपने ही सूबे को वो जख्म दिए हैं

    नई दिल्ली। हरियाणा के जाट आरक्षण आंदोलन की आग ने पूरे हरियाणा को झुलसा दिया है। आंदोलन की आड़ में जाट प्रदर्शनकारियों ने अपने ही सूबे को वो जख्म दिए हैं जिनकी टीस लंबे समय तक बनी रहेगी। जाट प्रदर्शनकारियों ने आंदोलन के बहाने जमकर लूटपाट की। दुकानों को लूटा गया। दुकानों को जलाया गया। हालात का जायजा लेने रोहतक पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर को भी लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा।

    हरियाणा के जाट आंदोलनकारियों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण चाहिए और अपनी मांग को लेकर जब जाट सड़क पर उतरे तो अपने ही सूबे की खाट खड़ी कर दी। कल तक जिन रास्तों, जिन गलियों, जिन दुकानों में आते-जाते थे उन्हें ही लूट लिया।

    कहने को तो जाट हरियाणा के सबसे धनी और मजबूत जातियों में शुमार हैं। फिर भी इन्हें आरक्षण चाहिए और अपनी इसी जिद में इन्हें नंबर वन हरियाणा के जलाकर खाक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। सबसे बुरा हाल तो रोहतक का हुआ है। जहां आंदोलनकारियों ने जमकर लूटपाट की है। जब सूबे के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर रोहतक में जाट आंदोलन से हुए नुकसान का जायजा लेने पहुंचे तो व्यापारियों के सब्र का बांध टूट गया।

    सीएम का विरोध कर रहे लोगों का आरोप है कि रोहतक पुलिस भी जाट प्रदर्शनकारियों से मिली हुई थी। मुख्यमंत्री खट्टर ने आश्वासन दिया कि सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि मैं सरकार की तरफ से आश्वासन देता हूं कि जिसका जितना भी नुकसान हुआ है उसकी भरपाई की जाएगी। जो गरीब परिवार हैं उनके लिए नौकरी का इंतज़ाम किया जाएगा।

    जाट आंदोलन की आग ने पूरे हरियाणा में हजारों करोड़ की संपत्ति जलाकर खाक कर दी है। तमाम छोटी-बड़ी कंपनियों को अपना काम बंद करना पड़ा, जिसके चलते उन्हें भारी आर्थिक नुकसान हुआ है। एसोचैम के मुताबिक, जाट आंदोलन से हरियाणा को 36 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

    जाट आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी के भीतर ही विरोध के सुर उठ रहे हैं। बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी लगातार जाट आरक्षण के खिलाफ बोल रहे हैं। राजकुमार सैनी कहते हैं कि दबाव के अंदर कुछ किया जाता है तो प्रजातंत्र की हत्या हो जाएगी। मैं अपील करना चाहता हूं कि शांति कायम करें, मांग है भी तो डंडे के जोर पर नहीं होती कानून के तहत होता है। आज पूरे प्रदेश का जा मौहाल बना है उसे देखते हुए कहा नहीं जा सकता कि प्रजातंत्र जिंदा है।

    इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को राजनीतिक सलाहकार प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह की एक कथित ऑडियो क्लिप ने हरियाणा में सियासी हड़कंप मचा दिया है। इस क्लिप में वीरेंद्र सिंह खाप के प्रधान कप्तान मान से सिरसा में जाट आंदोलन भड़काने की बात कहते सुनाई देते हैं।

    मनोहर लाल खट्टर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि एक ऑडियो क्लिप मीडिया के माध्यम से पता चला है उसके ऊपर भी जांच करवाएंगे। इस क्लिप से लगता है कि किसी का षड्यंत्र था। ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद हरियाणा कांग्रेस ने वीरेंद्र सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी कर तीन दिन के अंदर जवाब मांगा है। हालांकि हुड्डा इसे राजनितिक साजिश करार दे रहे हैं। बहरहाल दो दलों की सियासत हो या जाटों का गुस्सा, असल नुकसान तो हरियाणा और यहां के लोगों का ही हुआ है और इसकी भरपाई होने में काफी वक्त लगेगा।

    Tags: Jat reservation, Rohtak, हरियाणा

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर