निर्भया केस: रिएलिटी चेक में IBN7 की महिला रिपोर्टर के साथ बदसलूकी

निर्भया कांड को तीन साल पूरे होने वाले हैं। मगर क्या आज भी दिल्ली की महिलाओं के सुरक्षित होने का दावा कर सकते हैं। ये सवाल इसलिए उठा क्योंकि रियलिटी चेक करने गई IBN7 संवाददाता तनुश्री पांडे को बदसलूकी का सामना करना पड़ा।

  • News18India
  • Last Updated: December 15, 2015, 11:41 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली। निर्भया कांड को तीन साल पूरे होने वाले हैं। तीन साल पहले 16 दिसंबर को राजधानी दिल्ली में 21 साल की छात्रा से चलती बस में जो दरिंदगी हुई उसके बाद पूरा देश हिल गया। तमाम विरोध और धरने प्रदर्शनों के बाद सरकार ने कानून भी कड़ा कर दिया। मगर क्या आज भी दिल्ली की महिलाओं के सुरक्षित होने का दावा कर सकते हैं। ये सवाल इसलिए उठ रहा है क्योंकि रियलिटी चेक करने गई IBN7 संवाददाता तनुश्री पांडे को बदसलूकी का सामना करना पड़ा।

पढ़ें- कैसे कैमरे में कैद हुई पूरी वारदात:

रात के करीब 10 बजे दिल्ली के द्वारका मेट्रो स्टेशन के पास एक अंधेरी सी सड़क पर IBN7 संवाददाता तनुश्री पांडे निर्भया कांड के तीन साल बाद दिल्ली के हालात और महिला सुरक्षा को लेकर रिएलिटी चेक करने के लिए खड़ी थीं। सड़क भी सुनसान नहीं थी इक्का दुक्का गाड़ियां चल रही थीं।



पास ही में मेट्रो स्टेशन था इसलिए कई लोग इस रास्ते का इस्तेमाल भी कर रहे थे। तभी एक वैगन आर कार वहां आकर रुकी। ये देखकर तनुश्री थोड़ा ठिठकीं, वैगन आर से तीन लोग उतरे और IBN7 के कैमरा मैन राजू खत्री से उलझ गए और उन्हें शूट करने से रोकने की कोशिश करने लगे।
कार सवार- किस चीज की हो रही है शूटिंग, यार मैं अलाऊ तो नहीं कर सकता, मैं तो केस ठोक दूंगा

कार सवार- यार पता है क्या है गाड़ी जो दिख रही है वो हमारी दिख रही है चल करने दे इसको शूटिंग पता नहीं क्या ढूंढने की कोशिश कर रहा है इस गाड़ी में

कार सवार- अगर डेंट वेंट दिखे तो बता देना ढंग से मेरे ख्याल से थोड़ा जूम वूम करेंगे तो दिख जाएंगे दो-चार बंपर के डेंट

इन लोगों की बातचीत से अभी तक ये तो समझ आ चुका था ये लोग नशे में हैं और बदसलूकी के साथ- साथ काम में दखल देने के मकसद से आए हैं। जब बात ज्यादा बढ़ गई तो इन लोगों ने अभद्र भाषा का भी इस्तेमाल किया, कैमरामैन ने कैमरा चालू रखा।

राजू खत्री (कैमरा मैन)- ये परेशान करने वाली बात है भाई

राजू खत्री (कैमरा मैन)- तुमने अपनी तफरी के लिए गाड़ी आगे लगा दी, मैं तो काम कर रहा हूं अपना, कंपनी ने भेजा है मैं तो नौकरी कर रहा हूं

कार सवार- हां एक #$%^&* है मैं उसे बताकर तुमसे बात करता हूं

जो लोग काम में रुकावट डाल रहे थे उन्हें पता था कि यहां एक न्यूज चैनल के लोग हैं वो भी एक महिला रिपोर्टर स्टोरी के लिए शूट कर रही है फिर भी इन्होंने अपनी दबंगई दिखाने में कसर नहीं छोड़ी

कार सवार- हां कहां नौकरी करता है भाई?

राजू खत्री (कैमरा मैन)- मैं कैमरा मैन हूं CNN-IBN में

कार सवार- किसमें CNN-IBN में? क्या कर लेगा तू?

बदतमीजी करने वाले कार सवार को न तो चैनल का लिहाज था न कानून का डर, इतना ही नहीं वो कैमरामैन से भी भिड़ गए। जब कैमरामैन ने कैमरा बंद नहीं किया तो इनमें से एक ने कैमरे पर हाथ मार दिया।

कार सवार - ये गाड़ी की फोटो लेकर तू क्या करेगा, नहीं सुननी तेरी बात

कार सवार- तुम किसी की इजाजत के बिना शूटिंग नहीं कर सकते हम यहां अथॉरिटी हैं

इस पूरी घटना के दौरान आसपास से गुजर रही किसी भी गाड़ी ने वहां रुकने की कोशिश नहीं की, इससे कार सवारों का हौसला और बढ़ गया मगर जब तनुश्री ने पुलिस को फोन मिलाने की कोशिश की तब उसमें से एक शख्स घबरा गया और अपने साथी को बदसलूकी से रोकने लगा।

दूसरा कार सवार - अरे मत छेड़ भाई सार्थक मत छेड़ यार चल ना यार...

इस पूरे वाकये के बाद तनुश्री और कैमरामैन सीधा पुलिस स्टेशन गए और इसकी शिकायत की कुछ ही घंटों में पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया।

 

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज