शीना मर्डर केस के आरोपियों की हिरासत सात सितंबर तक कोर्ट ने बढ़ाई

शीना मर्डर केस के आरोपियों की हिरासत सात सितंबर तक कोर्ट ने बढ़ाई
शीना बोरा हत्याकांड के मुख्य आरोपियों इंद्राणी मुखर्जी, संजीव खन्ना और श्यामवर राय की पुलिस हिरासत स्थानीय कोर्ट ने सात सितंबर तक के लिए बढ़ा दी। तीनों आरोपियों को आज दोपहर अदालत में पेश किया गया।

शीना बोरा हत्याकांड के मुख्य आरोपियों इंद्राणी मुखर्जी, संजीव खन्ना और श्यामवर राय की पुलिस हिरासत स्थानीय कोर्ट ने सात सितंबर तक के लिए बढ़ा दी। तीनों आरोपियों को आज दोपहर अदालत में पेश किया गया।

  • Share this:
मुंबई। शीना बोरा हत्याकांड के मुख्य आरोपियों इंद्राणी मुखर्जी, संजीव खन्ना और श्यामवर राय की पुलिस हिरासत स्थानीय कोर्ट ने सात सितंबर तक के लिए बढ़ा दी। तीनों आरोपियों को आज दोपहर अदालत में पेश किया गया। पुलिस ने इस आधार पर उनकी हिरासत बढ़ाने का अनुरोध किया कि इस मामले में अभी एक बड़े दायरे को जांच में समेटना है।

गिरफ्तारी के 12 दिन बाद आखिरकार इंद्राणी के पूर्व चालक श्यामवर राय ने आज अपने लिये एक वकील की सेवाएं लीं। पिछली सुनवाइयों में उसका प्रतिनिधित्व करने के लिए कोई वकील नहीं था। इंद्राणी के वकील ने न्यायाधीश एसएम चांदगडे के सामने दलील दी कि पुलिस मीडिया ट्रायल करने की कोशिश कर रही है। आरोपियों की पुलिस की हिरासत की अवधि बढ़ाने की अर्जी में कहा गया कि शीना के भाई मिखाइल की हत्या की साजिश की शुरुआत कोलकाता से हुई। मिखाइल ने आरोप लगाया है कि इंद्राणी ने उसे भी मारने का प्रयास किया था।

मुंबई पुलिस ने कल कहा था कि पडोसी रायगढ़ जिले के एक जंगल से बरामद खोपड़ी के साथ शीना बोरा के प्रोफाइल के ‘डिटिजल सुपरइंपोजीशन’का मिलान हो गया है। पुलिस ने कहा कि उसने इस मामले में इंद्राणी के पति पूर्व मीडिया कारोबारी पीटर मुखर्जी को फिलहाल क्लीन चिट नहीं दी है। खोपड़ी के साथ डिजिटल सुपरइंपोजीशन मिलान यह साबित करने के लिए महत्वपूर्ण होगा कि रायगढ़ की पेन तहसील के जंगलों से बरामद कंकाल इंद्राणी की बेटी शीना का ही है। गौरतलब है कि इंद्राणी, उनके पूर्व पति संजीव खन्ना और पूर्व चालक श्यामवर राय को अप्रैल 2012 में शीना की हत्या करने और उसका शव रायगढ़ के जंगलों में फंेकने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading