प्रदेश18 विशेष: प्रधानमंत्री जी, कोहली ही नहीं, इंदौर के हजारों दर्शक भी सफाई अभियान में खरे उतरे

इंदौर के होलकर स्टेडियम में प्रैक्टिस सेशन के दौरान विराट कोहली की सफाई अभियान से जुड़ी छोटी सी कोशिश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी दिल जीत लिया था. स्वच्छ भारत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट के बाद प्रदेश18 की टीम ने होलकर स्टेडियम में सफाई का रियलिटी चेक किया.

इंदौर के होलकर स्टेडियम में प्रैक्टिस सेशन के दौरान विराट कोहली की सफाई अभियान से जुड़ी छोटी सी कोशिश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी दिल जीत लिया था. स्वच्छ भारत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट के बाद प्रदेश18 की टीम ने होलकर स्टेडियम में सफाई का रियलिटी चेक किया.

इंदौर के होलकर स्टेडियम में प्रैक्टिस सेशन के दौरान विराट कोहली की 'सफाई अभियान' से जुड़ी छोटी सी कोशिश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी दिल जीत लिया था. स्वच्छ भारत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट के बाद प्रदेश18 की टीम ने होलकर स्टेडियम में सफाई का रियलिटी चेक किया.

  • Pradesh18
  • Last Updated: October 10, 2016, 3:33 PM IST
  • Share this:

इंदौर के होलकर स्टेडियम में प्रैक्टिस सेशन के दौरान विराट कोहली की 'सफाई अभियान' से जुड़ी छोटी सी कोशिश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी दिल जीत लिया था. प्रधानमंत्री ने बकायदा ट्वीट कर टीम इंडिया के कप्तान की जमकर तारीफ की थी.

virat-kohli-pm-narendra-modi

दरअसल, कोहली ने प्रैक्टिस खत्म होने के बाद मैदान में खाली पड़ी बोतलें उठाकर डस्टबीन में डाली थी. कोहली को ऐसा करते देख मैदान में मौजूद स्टाफ ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो कोहली ने कहा कि ये बोतलें उन्होंने फैलाई हैं तो इकठ्ठा भी वे ही करेंगे.



विराट कोहली और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट के बाद प्रदेश18 की टीम ने होलकर स्टेडियम में सफाई का रियलिटी चेक किया.
अमूमन किसी भी बड़े आयोजन के बाद जगह-जगह कचरे और गंदगी के ढेर आसानी से देखे जा सकते हैं, लेकिन होलकर स्टेडियम पर नजारा इससे ठीक उलट देखने को मिल रहा है. इंदौर टेस्ट भारतीय बल्लेबाजों की रिकॉर्ड पारी के साथ ही सफाई और स्वच्छता की भी मिसाल बनता जा रहा है.

Indore Holkar Stadium Clean India

टेस्ट मैच के पहले दो दिन 40 हजार से ज्यादा दर्शकों ने मैच का आनंद उठाया. इतनी संख्या में दर्शकों के पहुंचने के बावजूद स्टेडियम पर गंदगी और कचरा नहीं के बराबर नजर आया. यहां तक की मैच के दूसरे दिन भी मैदान में हर जगह सफाई दिखी.

इंडिया-न्यूजीलैंड के टेस्ट मैच से पहले इस मैदान पर पहले चार वनडे मुकाबले खेले जा चुके हैं पर उस समय हर जगह सफाई की जगह गंदगी का आलम था. उन मैचों के दौरान फूड स्टॉल के बाहर पानी की खाली बोतलें, झूठी प्लेट का अंबार नजर आता है. इस बार ये नजारा पूरी तरह बदला हुआ है.

Indore Holkar Stadium Clean India2

इस बदलाव को प्रधानमंत्री की सफाई और स्वच्छता को लेकर की गई देशव्यापी अपील से जोड़कर देखा जा रहा है. उनकी अपील का असर अब दर्शकों पर भी दिखने लगा है.

मैदान पर मौजूद दर्शक इस बात का ध्यान रख रहे हैं कि मैदान पर वह किसी तरह की कोई गंदगी नहीं फैलाएं. सीट के नीचे खाली कप आदि फेंकने वाले इंदौर के दर्शक अब खुद कचरे को डस्टबीन में ही फेंक रहे हैं, तो कुछ दर्शक कचरे को डस्टबीन के बाहर पड़ा देखकर उस जगह को साफ करते दिखे.

एमपीसीए की भी अहम भूमिका

होलकर स्टेडियम पर 'स्वच्छता अभियान' का श्रेय काफी हद तक मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एमपीसीए) को भी दिया जा सकता है.

Indore Holkar Stadium

दरअसल, एमपीसीए ने स्टेडियम को साफ-सुथरा रहने के लिए एक निजी कंपनी को सारे इंतजाम सौंपे हैं. इसके अलावा स्टेडियम में जगह-जगह डस्टबीन रखे गए हैं, जिसे देख दर्शक खुद ही बोतलें या दूसरी सामग्री को इधर-उधर फेंकने की बजाए डस्टबीन में फेंक रहे हैं.

होलकर स्टेडियम पर हुए कई इंटरनेशनल और आईपीएल मुकाबलों के साक्षी रहे प्रवीण सावंत खुद स्टेडियम के अंदर सफाई व्यवस्था और दर्शकों के स्वप्रेरणा से हैरान हैं. वह कहते हैं

इतने बड़े आयोजन के बाद सफाई की इस व्यवस्था के लिए दर्शकों की जितनी तारीफ की जाए वह कम है. साथ ही इसके लिए एमपीसीए की पीठ थपथपाई जाना चाहिए.
प्रवीण सावंत,खेल पत्रकार

एमपीसीए की इस व्यवस्था से बदली सूरत

एमपीसीए के वॉलिंटियर पूरे वक्त दर्शक दीर्घा में मुस्तैद रहते हैं. यदि कोई दर्शक गलती से भी कचरा फैला दे तो वॉलिंटियर तुरंत उसे साफ कर देते हैं. इस वजह से पूरा स्टेडियम साफ-सुथरा नजर आता है.

indore match

वहीं, वॉलिंटियर पूरे वक्त एक ब्लैक रंग की थैली लेकर अलर्ट मुद्रा में रहते हैं और ब्रेक के दौरान पलक झपकते ही स्टेडियम को चकाचक कर देते हैं.

सभी को सख्त हिदायत दी गई है कि मैच खत्म होने के बाद वह हर स्टैंड में जाकर सफाई और स्वच्छता का ध्यान रखेंगे.

Indore Test Clean India

ये है सफाई प्लान

एमपीसीए के सीईओ रोहित पंडित ने बताया कि, इस बार हमने अलग वर्किंग प्लान तैयार किया है. हर सेगमेंट के लिए अलग टीम रखी है. पानी, बिजली हाउस कीपिंग, मेंटेनेंस, लिफ्ट, सफाई, ड्रेनेज हर काम के लिए अलग टीम है.

एमपीसीए के स्टाफ, कर्मचारियों के अलावा ईवेंट कंपनी, मेंटेनेंस कंपनी के करीब 200 अतिरिक्त लोगों का सपोर्ट लिया गया है. स्टेडियम के हर जोन के लिए सफाई के लिए कर्मचारी है जो लगातार मॉनिटर कर सफाई कर रहे हैं.

ईवेंट कंपनी ने ईस्ट गैलरी, वेस्ट गैलरी, अपर और लोअर साइड, पवेलियन, मीडिया बॉक्स, वीवीआईपी बॉक्स सहित सभी जगह पर हाउसकीपिंग स्टाफ लगाया है. इन जगहों पर तीन से चार सुपरवाइजर हैं, जो सतत मॉनिटरिंग कर रहे हैं और कचरा होने पर तुरंत साफ कर देते हैं.

सफाई के लिए दो शिफ्ट में स्टाफ आ रहा है. एक शिफ्ट सुबह 6.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक और दूसरी शिफ्ट शाम 6.30 बजे से रात 1.30 बजे तक काम कर रही है. मैच के एक दिन पहले ही पूरी सफाई की जा रही है, ताकि मैच की सुबह दर्शकों को साफ सुथरा स्टेडियम मिले.
रोहित पंडित, सीईओ,एमपीसीए

इंदौर में कोहली के 'सफाई अभियान' ने जीता पीएम मोदी का दिल

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज