अपना शहर चुनें

States

जोधपुर: रेप पीड़िता 11 वर्षीय मासूम ने दिया बच्चे को जन्म, पड़ोसी पर दुष्‍कर्म का आरोप

पुलिस ने इस मामले को लेकर आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. फिलहाल मासूम की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है.
पुलिस ने इस मामले को लेकर आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. फिलहाल मासूम की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है.

जोधपुर जिले में 9 महीने पहले रेप (Rape) की शिकार हुई 11 वर्षीय मासूम बालिका ने बच्चे को जन्म दिया है. आरोप है कि बच्ची के साथ रेप की इस वारदात को पड़ोसी (Neighbor) ने अंजाम दिया था.

  • Share this:
जोधपुर. पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर जिले (Jodhpur district) के भोपालगढ़ थाना इलाके में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है. यहां रेप पीड़िता मासूम बच्ची (Rape victim innocent girl) ने एक बच्चे को जन्म दिया है. लोक लाज के डर से पुलिस के सामने नहीं आ रहे, पीड़ित परिवार ने अब आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है. पीड़िता और उसका बच्चा स्वस्थ बताये जा रहे हैं.

पुलिस के अनुसार, पीड़िता 11 साल की है और वह छठी कक्षा में पढ़ती है. पीड़ित के माता-पिता ने भोपालगढ़ थाने में रिपोर्ट पेश कर बताया कि करीब 9 महीने पहले उनकी नाबालिग पुत्री को पड़ोसी मोबाइल दिखाने के बहाने अपने घर ले गया था. वहां उसने उनकी बेटी के साथ रेप किया. मासूम के परिवार को जब यह बात पता चली तो उन्होंने लोक लाज के डर से इस घटना को छिपाने के प्रयास किया. रेप केस के बाद मासूम गर्भवती हो गई. परिजनों को जब मासूम के गर्भवती होने की बात का पता चला तो उनके पैरो तले से जमीन खिसक गई. पीड़िता के परिजनों के सामने इस बात को लेकर यह बड़ी समस्या पैदा हो गई कि आखिर इस बात को कैसे छिपाए, लेकिन समय निकल जाने के कारण वे मासूम का गर्भपात नहीं करवा सके.

करौली: प्रेम प्रसंग में बाधा बन रहे पति को नर्स ने प्रेमी के साथ मिलकर मारकर फेंक दिया

मासूम की स्थिति खतरे से बाहर


अतंत: सोमवार को मासूम ने जोधपुर के उम्मेद अस्पताल में एक बालक को जन्म दिया है. इसके बाद परिजनों ने भोपालगढ़ थाने में इस बात को लेकर एफआईआर दर्ज करवाई है. भोपालगढ़ थाना पुलिस ने इस मामले को लेकर आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. फिलहाल मासूम की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है.

झुंझुनूं और डूंगरपुर जिले में भी ऐसी वारदात
उल्लेखनीय है रेप के बाद पीड़िता के गर्भवती होने के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं. इससे पहले झुंझुनूं और डूंगरपुर जिले में भी ऐसी वारदातें सामने आ चुकी हैं जब रेप पीड़िता नाबालिग युवतियों ने बच्चे का जन्म दिया है. पहले ये पीड़ितायें लोकलाज के कारण सामने नहीं आ पाईं. बाद में स्वास्थ्य कारणों से उनका गर्भपात नहीं कराया जा सका जिसके चलते उन्हें बच्चे को जन्म देना पड़ा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज