Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Crime in UP : कानपुर में गोली मारकर अधेड़ की हत्या, दरोगा समेत तीन गिरफ्तार

    अधेड़ की हत्या के आरोप में गिरफ्तार अभियुक्तों की पुलिस ने मेडिकल जांच कराई.
    अधेड़ की हत्या के आरोप में गिरफ्तार अभियुक्तों की पुलिस ने मेडिकल जांच कराई.

    ग्रामीणों का आरोप है कि दरोगा प्रेमवीर यादव (Premveer Yadav) ने विवाद होने पर पप्पू वाजपेई की गोली मारकर हत्या की है. इस वारदात को अंजाम देने के बाद वह कॉस्टेबल के साथ मौके से फरार हो गया.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 1, 2020, 6:57 PM IST
    • Share this:


    कानपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में शनिवार को घाटमपुर क्षेत्र के भदरस गांव में एक पूर्व बीडीसी सदस्‍य की हत्‍या के आरोप में दरोगा प्रेमवीर यादव (Premveer Yadav) के अलावा दो अन्‍य आरोपियों (Accused) को गिरफ्तार (Arrested) किया गया है. पूर्व बीडीसी सदस्‍य की कथित तौर पर खाकी पहने कुछ लोगों और उनके साथियों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी थी. जेल भेजने से पहले तीनों लोगों का स्थानीय सीएचसी में मेडिकल कराया गया.

    फरार हो गए थे दरोगा



    आपको बता दें कि दरोगा पर जुआ खेलने निकले अधेड़ की गोली मारकर हत्या करने का आरोप है. शनिवार को भदरस गांव के रहने वाले 45 साल के पप्पू वाजपेई का शव गांव के बाहर खेतों पर पड़ा मिला था. ग्रामीणों ने आरोप लगाया जुए की फड़ में दरोगा प्रेमवीर यादव सादी वर्दी में सिपाही के साथ पहुंचे थे. दरोगा ने विवाद होने पर पप्पू वाजपेई को गोली मार दी थी. इस वारदात को अंजाम देने के बाद वह कॉस्टेबल के साथ मौके से फरार हो गया. पहले पुलिस ने मामले को मैनेज करने का प्रयास किया और परिजनों से तहरीर लेकर गांव के ही 4 लोगों को आरोपी बना एफआईआर दर्ज कर ली. बाद में मामला बढ़ने पर पुलिस ने आरोपी दरोगा प्रेमवीर यादव को गिरफ्तार कर लिया और उसकी सरकारी पिस्टल को फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया.


    चार टीमें कर रही हैं खोजबीन

    पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश श्रीवास्‍तव ने बताया कि दरोगा के साथ मौजूद सिपाही दीपांशु ने उच्च अधिकारियों को इस वारदात की जानकारी नहीं दी, जिसकी वजह से उन्हें लाइन हाजिर किया गया है. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सिपाही के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू की गई है. उन्‍होंने बताया कि इस मामले में वीरेंद्र और बक्‍का नाम के दो आरोपियों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. दुर्गा सिंह और सोनू सिंह समेत अन्‍य अभियुक्‍तों को पकड़ने के लिए पुलिस की चार टीमें लगाई गई हैं.

    एसपी ग्रामीण को जांच का आदेश

    उल्‍लेखनीय है कि यह चर्चा होने पर कि इस घटना में पुलिसकर्मियों की भूमिका है, कानपुर के पुलिस उप महानिरीक्षक डॉक्‍टर प्रीतिंदर सिंह ने मामले की छानबीन के लिए एसपी ग्रामीण को जांच का आदेश दिया था. पुलिस के अनुसार पीड़ित परिवार ने चार स्थानीय ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया उनमें दुर्गा सिंह, सोनू सिंह, वीरेंद्र और बड़का घाटमपुर क्षेत्र के भदरस के रहनेवाले हैं.

    पूर्व BDC सदस्य को मारी गोली

    स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिसकर्मी जुआरियों का पैसा लूटने गए थे और उसी दौरान भाग रहे पूर्व बीडीसी सदस्‍य पप्पू वाजपेई को गोली मार दी गई. इसके बाद बड़ी संख्‍या में लोग पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए घाटमपुर कोतवाली पहुंच गए.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज