आगरा में फर्जीवाड़े से सेना में भर्ती कराने वाले रैकेट का पर्दाफाश, दो शातिर गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक गिरोह के सदस्य संगठित तरीके से सेना में युवाओं की भर्तियां करवाते थे

पुलिस के मुताबिक गिरोह के सदस्य संगठित तरीके से सेना में युवाओं की भर्तियां करवाते थे

पुलिस के मुताबिक यह गिरोह पूरी भर्ती प्रकिया कराने का ठेका पांच लाख रुपये में लेता था. जिसके तहत जाली कागज (Fake Documents) बनाने से लेकर कागजों के वेरिफिकेशन तक करवाया जाता था. भर्ती प्रकिया के दौरान भी यह रैकेट काम करता था और मामूली कमियों को दूर करवाकर भर्तियां करवा देता था

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 6:43 PM IST
  • Share this:
आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra) में सेना में फर्जी तरीके से भर्ती कराने वाले रैकेट का पर्दाफाश हुआ है. पिनाहट थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मनोज और नीरज नाम के दो शातिरों को गिरफ्तार किया है. जबकि गिरोह के दो अन्य जालसाज फरार चल रहे हैं जिनकी तलाश की जा रही है. पुलिस अधीक्षक (पूर्व) के. वेंकट अशोक ने बताया कि पकड़ा गया रैकेट (Racket) बेहद शातिर लोगों का है. यह लोग सेना में भर्ती कराने के लिए जाली कागजात तैयार करते थे. इन्हीं फर्जी कागजातों के आधार पर युवाओं को सेना में भर्ती (Army Recruitment) करवाया जाता था.

पुलिस के मुताबिक यह गिरोह पूरी भर्ती प्रकिया कराने का ठेका पांच लाख रुपये में लेता था. जिसके तहत जाली कागज बनाने से लेकर कागजों के वेरिफिकेशन तक करवाया जाता था. भर्ती प्रकिया के दौरान भी यह रैकेट काम करता था और मामूली कमियों को दूर करवाकर भर्तियां करवा देता था. पुलिस अब जांच कर रही है कि यह गिरोह अब तक कितने लोगों को सेना में भर्ती करा चुका है. साथ ही रैकेट के जरिये जितने भी लोग सेना में भर्ती हुए हैं उनकी गहनता से जांच की जाएगी.

Youtube Video


बता दें कि आगरा के सिकंदरा इलाके में कुछ दिन पहले सेना भर्ती की प्रक्रिया चल रही थी. उस भर्ती प्रकिया में सेंध लगाने की कोशिश हो चुकी है. पुलिस ने इस मामले से जुड़े कई शातिरों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज