होम /न्यूज /crime /असम रैगिंग: घायल छात्र की रीढ़ की हड्डी की हुई सर्जरी, 4 और आरोपियों पर बड़ा एक्शन

असम रैगिंग: घायल छात्र की रीढ़ की हड्डी की हुई सर्जरी, 4 और आरोपियों पर बड़ा एक्शन

असम के यूनिवर्सिटी में हुए छात्र से रैगिंग के मामले में 4 और आरोपियों पर कार्रवाई हुई.

असम के यूनिवर्सिटी में हुए छात्र से रैगिंग के मामले में 4 और आरोपियों पर कार्रवाई हुई.

Assam News: असम में डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी में हुए छात्र से रैगिंग के मामले में बड़ा एक्शन लिया गया है. यूनिवर्सिटी ने 4 ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

असम में डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी में जूनियर स्टूडेंट से रैगिंग
यूनिवर्सिटी ने 4 और आरोपियों को किया निष्कासित
पीड़ित छात्र का गुरुवार को रीढ़ की हड्डी का हुआ ऑपरेशन

डिब्रूगढ़ (असम). असम में डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी के 4 और छात्रों को एक जूनियर स्टूडेंट के साथ रैगिंग करने के आरोप में एक्सपेल कर दिया गया है. रैगिंग की घटना की वजह से गंभीर रूप से घायल हुए पीड़ित छात्र का गुरुवार को रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन भी किया गया. एमकॉम प्रथम वर्ष के छात्र ने पिछले सप्ताह अपने सीनियर द्वारा की गई रैगिंग से बचने के लिए छात्रावास की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी थी, जिससे उसका हाथ और रीढ़ की हड्डी टूट गई थी.

असम के शिक्षा मंत्री रानोज पेगू ने ट्वीट कर कहा, ‘डिब्रूगढ़ के रैगिंग पीड़ित छात्र की सर्जरी सफलतापूर्वक हुई.’ सर्जरी करने वाले डॉक्टर और निजी अस्पताल का धन्यवाद व्यक्त करते हुए मंत्री ने सोशल मीडिया पर कहा कि पीड़ित छात्र की हालत में सुधार हो रहा है. विश्वविद्यालय ने सोमवार को रैगिंग के आरोप में 18 छात्रों को संस्थान से निष्कासित कर दिया था.

अब तक 5 छात्र गिरफ्तार

डिब्रूगढ़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बिटुल चेतिया ने कहा कि अब तक रैगिंग की घटना में शामिल पांच छात्रों को गिरफ्तार किया गया है. आरोपियों को शरण देने के आरोप में एक अन्य व्यक्ति को भी पकड़ा गया है. बाकि आरोपियों को पकड़ने के लिए हमारा तलाश अभियान जारी है.

डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा कि इसकी रैगिंग रोधी समिति ने बुधवार शाम एक आपात बैठक में चार छात्रों को तीन साल की अवधि के लिए निष्कासित कर दिया, जिसके दौरान उन्हें किसी भी संस्थान में प्रवेश लेने से रोक दिया गया है. छात्रावास में रैगिंग की घटना को रोकने में सक्षम नहीं होने के कारण विश्वविद्यालय ने ‘पद्मनाथ गोहेन बरुआ छात्र निवास’ के तीन वार्डन को भी निलंबित कर दिया.

ये भी पढ़ें:  IAS success Story: पढ़ाई में मन नहीं लगने के बावजूद भी दो बार पास की UPSC परीक्षा

डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के कुलपति जितेन हजारिका ने कहा, ‘मैंने छात्रावास के सभी तीन वार्डन को निलंबित कर दिया है और मामले की जांच के लिए एक उच्चस्तरीय जांच समिति का गठन किया है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस ने तीनों वार्डन को थाने बुलाया था और घटना को लेकर उनसे पूछताछ की. पीड़ित छात्र की मां ने दावा किया कि उनका बेटा विश्वविद्यालय के अधिकारियों से कुछ छात्रों द्वारा रैगिंग किए जाने की शिकायत कर रहा था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई.

Tags: Assam news, Crime News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें