होम /न्यूज /crime /Trilokpuri Murder: रात भर लाश से बहने दिया खून, फिर अगले दिन किए टुकड़े... जानें त्रिलोकपुरी मर्डर केस से जुड़ी 5 बड़ी बातें

Trilokpuri Murder: रात भर लाश से बहने दिया खून, फिर अगले दिन किए टुकड़े... जानें त्रिलोकपुरी मर्डर केस से जुड़ी 5 बड़ी बातें

दिल्ली पुलिस ने दोनों आरोपी  मां और बेटे को गिरफ्तार कर लिया है. (एएनआई)

दिल्ली पुलिस ने दोनों आरोपी मां और बेटे को गिरफ्तार कर लिया है. (एएनआई)

East Delhi Murder Case: पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर इलाके में सामने आया यह हत्याकांड राष्ट्रीय राजधानी में 26 वर्षीय श्र ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. श्रद्धा वालकर हत्याकांड की तरह ही पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर इलाके में एक महिला द्वारा बेटे के साथ मिलकर अपने पति की कथित तौर पर हत्या कर शव के कई टुकड़े करने के बाद उसे ठिकाने लगाने का मामला सामने आया है. पुलिस ने सोमवार को बताया कि इस मामले में आरोपी महिला तथा उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया गया है. पीड़ित अंजन दास को जून में ही मौत के घाट उतार दिया गया था, लेकिन इसका खुलासा अब हुआ है.

पुलिस ने बताया कि अंजन दास (45) की उसकी पत्नी पूनम और सौतेले बेटे दीपक (25) ने 30 मई को हत्या की और शव के 10 टुकड़े किए गए तथा उन्हें एक फ्रिज में रखा. पांच जून को उसके शव के टुकड़े पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी में रामलीला मैदान में एक बैग के अंदर मिले थे. अगले कुछ दिनों में उसके पैर, जांघ, खोपड़ी और एक हाथ मिला, जिसके बाद पांडव नगर पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और 201 (सबूत छिपाने तथा झूठी सूचना देने) के तहत एक मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस के मुताबिक, मां-बेटे ने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्हें शक था कि दास की उसकी सौतेली बेटी तथा सौतेले बेटे की पत्नी पर बुरी नजर थी. पूनम और उसके बेटे दीपक ने एक-एक करके पूर्वी दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर शव के टुकड़ों को तीन-चार दिनों में ठिकाने लगाया और खोपड़ी दफन कर दी. पुलिस के मुताबिक, मां और बेटे ने मार्च-अप्रैल के आसपास हत्या की साजिश रची.
पुलिस ने कहा है कि दास द्वारा उसके गहने बेचने और अपनी पहली पत्नी को पैसे भेजने के बाद आरोपी पूनम गुस्से में थी. इसके बाद उसने पिछली शादी से अपने बेटे दीपक के साथ मिलकर दास की हत्या की योजना बनाई. दीपक ने पुलिस को बताया कि वह मां की बात से सहमत हो गया क्योंकि दास ने कथित तौर पर उसकी पत्नी को परेशान किया था.
आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने दास को नशे की दवा घोलकर पिलायी थी और बेहोश होने के बाद उन्होंने उसकी हत्या के लिए एक चाकू और खंजर का इस्तेमाल किया. इसके बाद उन्होंने उसका गला काट दिया और शव के टुकड़े-टुकड़े करने से पहले खून पूरी तरह बह जाने का इंतजार किया. आरोपियों ने पुलिस को बताया कि अगली सुबह उन्होंने शव के 10 टुकड़े किये और उसे पॉलीथीन बैग में डालकर फ्रिज में रख दिया. शव के टुकड़े रखने के लिए इस्तेमाल किए गए फ्रिज को जब्त कर लिया गया है.
अगले कुछ दिनों में, आरोपियों ने शव के टुकड़ों को फेंक दिया. पुलिस को अब तक छह टुकड़े मिले हैं. शवों के टुकड़ों को फेंकने के लिए रात के समय जाने के दौरान इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों में पूनम और दीपक कैद हो गए.
आरोपियों ने पुलिस को बताया कि बाद में उन्होंने घर और फ्रिज की सफाई की ताकि बदबू दूर हो सके. पुलिस ने कहा कि उन्होंने पड़ोसियों को यह भी बताया कि दास बिना किसी को बताए घर से निकल गए थे.

Tags: Delhi police

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें