पुलवामा हमले और एयर स्ट्राइक के बाद बनी लहर को भुना रहे हैं साइबर ठग

साइबर अलर्ट: आप एक ऑनलाइन एड देखकर फोन करेंगे तो दूसरी तरफ से आर्मी का जवान बात करेगा. वो आर्मी के प्रति आपकी भावनाओं के साथ खेलेगा और कुछ देर बाद आपको पता चलेगा कि हज़ारों रुपये का चूना लग चुका.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: March 6, 2019, 9:25 PM IST
पुलवामा हमले और एयर स्ट्राइक के बाद बनी लहर को भुना रहे हैं साइबर ठग
सांकेतिक चित्र
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: March 6, 2019, 9:25 PM IST
पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमलों और फिर भारत की तरफ से एयर स्ट्राइक के बाद देश भर में सेना के लिए एक संवेदना का माहौल बन गया है और इसी लहर का फायदा उठाकर कुछ अपराधी ठगी को अंजाम दे रहे हैं. मध्य प्रदेश पुलिस ने एक सलाह जारी करते हुए ऐसे ठगों से सावधान रहने की हिदायत भी दी है.

READ: जिस मेले में विवेकानंद ज्ञान दे रहे थे, वहीं शिकार तलाश रहा था ये कातिल

आपके हाथ में जो मोबाइल फोन है, आपके लिए घाटे का सौदा साबित हो सकता है, अगर आप सतर्क न रहे तो. सोशल मीडिया और दूसरे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर एक विज्ञापन देखा तो इंदौर का राकेश खुद को रोक नहीं पाया. राकेश एक अच्छी सेकंड हैंड बाइक खरीदना चाह रहा था और यह विज्ञापन उसके काम का था. उसने फौरन दिए गए नंबर पर फोन किया.



राकेश : मेरा नाम राकेश है और आपका एड देखकर कॉल कर रहा हूं. मैं बाइक खरीदना चाहता हूं. आपका परिचय जान सकता हूं?

फोन : हलो राकेश, मेरा नाम अरविंद है और मैं आर्मी में हूं. मेरे भाई भी आर्मी में थे, जो पिछले दिनों सरहद पर मारे गए. उन्हीं की बाइक है, जिसे हम बेचना चाहते हैं. बाइक आर्मीमैन की है इसलिए अच्छी कंडीशन में है और सस्ते दामों पर हम दे देंगे.
राकेश : ओह, सो सॉरी अरविंद. आप बता दीजिए कैसे आपको सुविधा होगी? मैं बाइक ले लूंगा.

इसके बाद अरविंद ने राकेश से कुछ एडवांस ऑनलाइन जमा करने को कहा ताकि वह बाइक ट्रांसफर का काम पूरा कर सके. राकेश ने कुछ रकम ट्रांसफर कर दी और अरविंद ने उसे बाइक की कुछ तस्वीरें भी वॉट्सएप करने की बात कही. कुछ ही दिनों बाद बाइक की डिलीवरी की तारीख आई और राकेश ने अरविंद से बातचीत की.
Loading...

अरविंद : राकेश, बाइक आर्मी कैंटीन में है और चूंकि आप आर्मी में नहीं हैं इसलिए आपको एंट्री नहीं मिलेगी. मैं वहां कॉल कर दूंगा, तो बाइक आपको गेट पर ही दे दी जाएगी.
राकेश : ठीक है, अरविंद. मैं गेट से ही बाइक पिक कर लूंगा.
अरविंद : थैंक्स राकेश. आप बाकी रकम ट्रांसफर करवा दीजिए. पेपर्स और बाइक रेडी हैं. आप चाहें तो मैं आपके नाम हो चुकी बाइक के पेपर्स की तस्वीर भी वॉट्सएप पर भेज देता हूं.

इसके बाद राकेश ने बाकी रकम ट्रांसफर की और आर्मी कैंटीन पर पहुंचा. गेट पर उसने इस डील के बारे में जानकारी देकर बाइक मांगी, तो गेटकीपर ने भीतर पूछकर आने की बात कही. कुछ देर बाद राकेश को बताया गया कि ऐसी किसी बाइक और डील के बारे में यहां जानकारी नहीं है और वह बाइक का जो नंबर बता रहा है, वो बाइक भी यहां नहीं है.

pulwama terror attack, fake armymen, indore cyber crime, online fraud, indore news, पुलवामा आतंकी हमला, सेना के नाम पर ठगी, इंदौर में साइबर क्राइम, ऑनलाइन ठगी, इंदौर समाचार

कुछ हैरान हुए राकेश ने अरविंद को फोन लगाया तो उसका नंबर स्विच्ड ऑफ था. काफी कोशिशों के बाद भी उसके बाद अरविंद से राकेश कॉंटैक्ट नहीं कर सका. फिर क्या था? अच्छा खासा धोखा खा चुका राकेश सीधे पुलिस की साइबर क्राइम शाखा में पहुंचा और उसने अपनी शिकायत दर्ज करवाई. वहां उसे पता चला कि पहले ऐसा कोई मामला हफ्ते में एकाध आता था लेकिन पुलवामा हमले के बाद इंदौर में रोज़ ऐसे आधा दर्जन मामले दर्ज हो रहे हैं.

पुलिस का कहना है कि कई लोग ऐसी शिकायतें लेकर आ रहे हैं और इसके पीछे किसी एक खास गैंग का हाथ हो सकता है क्योंकि दर्ज करवाई जा रही ज़्यादातर शिकायतों में ठगी का ऐसा ही तरीका अपनाया जा रहा है. साथ ही, जिस मोबाइल नंबर से बात की जाती है, वह भी जाली होता है या किसी और के नाम पर रजिस्टर पाया जाता है.

पुलिस ने सतर्क रहने की हिदायत जारी करते हुए ऐसा धोखा होने पर फौरन पुलिस से कॉंटैक्ट करने की सलाह दी है क्योंकि ऑनलाइन पेमेंट को 24 घंटे के भीतर फ्रीज़ किया जा सकता है, उसके बाद मुश्किल है. साथ ही, पुलिस टीमों को निर्देश दिए गए हैं कि पिछले कुछ सालों में मिसिंग मोबाइल फोन नंबरों की जानकारी ली जाए.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

Total Recall: नौकरानी के बच्चे की शक्ल जब घर के मालिक से मेल खाने लगी!
The Misfits: वो उस 'सेक्स सिम्बल' स्टार के लिए बाप भी बनना चाहता था, पति भी
जिस मेले में विवेकानंद ज्ञान दे रहे थे, वहीं शिकार तलाश रहा था ये कातिल

PHOTO GALLERY : इस बार चापो खोज पाएगा जेल से भागने का रास्ता?
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...