होम /न्यूज /crime /Delhi: हर‍ि नगर में खुला नया साइबर थाना, CP अस्‍थाना बोले-तेजी से बढ़ रहा क्राइम, सावधानी व जागरूकता जरूरी

Delhi: हर‍ि नगर में खुला नया साइबर थाना, CP अस्‍थाना बोले-तेजी से बढ़ रहा क्राइम, सावधानी व जागरूकता जरूरी

पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना ने वेस्‍ट ज‍िला में साइबर पुल‍िस स्‍टेशन, पुल‍िस पब्‍ल‍िक लाइब्रेरी और क्रेच की शुरूआत की है.

पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना ने वेस्‍ट ज‍िला में साइबर पुल‍िस स्‍टेशन, पुल‍िस पब्‍ल‍िक लाइब्रेरी और क्रेच की शुरूआत की है.

Delhi Police Cyber Police Station: पुलिस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना ने साइबर क्राइम पर कहा क‍ि साइबर अपराध पारंपरिक अपराध ...अधिक पढ़ें

नई द‍िल्‍ली. साइबर क्राइम (Cyber ​​Crime) करने वालों पर श‍िंकजा कसने के ल‍िए द‍िल्‍ली पुल‍िस (Delhi Police) के हर ज‍िले में साइबर पुल‍िस स्‍टेशन (Cyber ​​Police Station) खोले जा रहे हैं. साथ ही द‍िल्‍ली पुल‍िस की ओर से सामाज‍िक पहल के दायरे को बढ़ाते हुए पुल‍िस-पब्‍ल‍िक लाइब्रेरी (Police Public Library) और क्रेच की भी शुरूआत कर रही है. इससे पुल‍िस स्‍टॉफ को भी बड़ा फायदा म‍िल रहा है.

इस द‍िशा में आगे बढ़ते हुए द‍िल्‍ली पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना (Rakesh Asthana) ने वेस्‍ट ज‍िला में साइबर पुल‍िस स्‍टेशन, पुल‍िस पब्‍ल‍िक लाइब्रेरी और क्रेच की शुरूआत की है. साइबर पुल‍िस स्‍टेशन हरि नगर थाना कॉम्‍प्‍लेक्‍स में शुरू क‍िया गया है. इस अवसर पर स्पेशल सीपी दीपेंद्र पाठक, ज्वाइंट सीपी मीनू चौधरी और एडिशनल सीपी चिन्मय बिश्वाल समेत अन्‍य पुल‍िस अध‍िकारी भी प्रमुख रूप से उपस्‍थ‍ित रहे.

पुलिस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना ने साइबर क्राइम पर कहा क‍ि साइबर अपराध पारंपरिक अपराध की तुलना में अधिक खतरनाक होगा और अपराध के इस रूप से निपटने के लिए सावधानी और जागरूकता की आवश्यकता है. हर जिले में साइबर पुलिस स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं ताकि पीड़ित लोग शीघ्र जांच के लिए प्रशिक्षित पुलिस कर्मियों से संपर्क कर सकें.

UPI Alert: ऑनलाइन पेमेंट करते समय रहें सतर्क, नहीं होंगे फर्जीवाड़े के शिकार

कम‍िश्‍नर ने कहा क‍ि इस क्राइम की संख्‍या अधिक है और शिक्षित और जानकार व्यक्ति भी इसका तेजी से शिकार हो रहे हैं. इसलिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जागरूकता बढ़ाने और प्रतिबंधों की भी सिफारिश की जाती है. पुलिस कम‍िश्‍नर अस्‍थाना ने कहा कि अगर लोग साइबर क्राइम में फंसा हुआ महसूस करें तो वे संकोच न करें और माता-पिता और पुलिस पर विश्वास करें.

News18 Hindi

द‍िल्‍ली पुल‍िस की ओर से आशीर्वाद परियोजना अकेले रहने वाले सीन‍ियर स‍िटीजन के ल‍िए शुरू की गई है.

उन्‍होंने क्रेच की स्‍थापना के उद्देश्‍य पर वक्‍तव्‍य देते हुए कहा क‍ि द‍िल्ली पुलिस की कामकाजी महिलाकर्मियों के लिए यह एक कल्याणकारी कदम है. पुलिस-पब्लिक लाइब्रेरी स्थानीय समुदाय के छात्रों के लिए एक सामुदायिक पुलिसिंग मंच है जो पढ़ाई की तैयारी करते समय पुलिस कर्मियों और उनके बच्चों के साथ घुलमिल जाता है.

इसके अलावा द‍िल्‍ली पुल‍िस की ओर से शुरू की गई आशीर्वाद परियोजना अकेले रहने वाले सीन‍ियर स‍िटीजन को एक आपातकालीन सहायता प्रदान करने के लिए है. इन नागर‍िकों को आपातकालीन स्थितियों में उपयुक्त स्तर के अधिकारियों से तत्काल मदद लेने के लिए संपर्क नंबर जारी क‍िए गए हैं. इनमें संबंधित एसएचओ, बीट अधिकारी, बुजुर्ग हेल्पलाइन, दिल्ली पुलिस हेल्पलाइन, साइबर हेल्पलाइन आद‍ि के नंबरों की जानकारी दी गई है.

आपातकालीन स्थितियों में उपयुक्त स्तर के अधिकारियों से तत्काल मदद लेने के लिए संपर्क नंबर जारी क‍िए गए हैं.

आपातकालीन स्थितियों में उपयुक्त स्तर के अधिकारियों से तत्काल मदद लेने के लिए संपर्क नंबर जारी क‍िए गए हैं.

हेलो प्रिया! मैं आपका जीजा बोल रहा हूं… जानें फिर कैसे युवती हुई ठगी का शिकार

इतना ही नहीं, पुल‍िस को प्रोजेक्ट स्मार्ट एल्डर सी‍न‍ियर स‍िटीजंस को डिजिटल साक्षरता और साइबर जागरूकता प्रदान करेगा. पुल‍िस की ओर से शुरू क‍िए गए दो दिन के क्रैश कोर्स में उनको तमाम जानकारी उपलब्‍ध करवाई जाएगी. उन्हें दिल्ली पुलिस एप्लिकेशन, सोशल मीडिया एप्लिकेशन, ऑनलाइन शॉपिंग एप्लिकेशन, टैक्सी बुकिंग एप्लिकेशन और अन्य उपयोगी ऐप्स के बारे में शिक्षित और जागरूक किया जाएगा. इससे वह आसानी से अपने ड‍िज‍िटल वर्क कर सकेंगे और साइबर क्राइम के चंगुल में फंसने से भी बच सकेंगे.

Tags: Cyber Crime, Cyber Crime News, Delhi news, Delhi police, Delhi Police Commissioner, Rakesh asthana

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें