Alwar News: रात को शराब नहीं देने पर दलित सेल्समैन को जमकर पीटा, इलाज के दौरान हुई मौत

मृतक युवक के चाचा ने बताया कि आरोपीगण रात 9 बजे नत्थीलाल पर शराब देने का दबाव बना रहे थे.

अलवर में एक बार फिर एक दलित युवक (Dalit youth) की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. युवक शराब ठेके पर सेल्समैन था. रात 9 बजे शराब नहीं देने पर आरोपियों उसे लाठी-डंडों और रॉड से जमकर पीटा. इलाज के दौरान उसकी मौत (Death) हो गई है.

  • Share this:
अलवर. जिले के किशनगढ़बास कस्बे में एक दलित युवक (Dalit youth) की पीट-पीटकर हत्या (Murder) कर दी गई. युवक किशनगढ़ बास का रहने वाला था. वह शराब ठेके पर सेल्समैन का काम करता था. युवक के साथ 27 जनवरी को जबर्दस्त मारपीट की गई थी. उसका जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में इलाज चल रहा था. वहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. युवक की मौत के बाद किशनगढ़बास (Kishangarhbas) की वाल्मिक बस्ती में शनिवार शाम को एक भी घर में चूल्हा नहीं जला. वहीं घटना के विरोध में रविवार को अलवर में सफाई कर्मचारी हड़ताल पर उतर गये हैं. इससे शहर में आज सफाई नहीं हो पायी.

पुलिस के अनुसार मारपीट के बाद हत्या का शिकार हुआ युवक नत्थी लाल वाल्मीकि शराब ठेके पर काम करता था. काकरा गांव निवासी बदमाश सत्यवीर उर्फ पर्रा और उसके साथियों ने शराब ठेके के सामने ही 27 जनवरी को उसे जमकर पीटा. घटना के बाद गंभीर रूप से घायल नत्थीलाल को उपचार के लिये जयपुर के एसएमएस अस्पताल ले जाया गया. वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

युवक पर रात 9 बजे शराब देने का दबाव बना रहे थे आरोपी
मृतक युवक के चाचा ने बताया कि आरोपीगण रात 9 बजे नत्थीलाल पर शराब देने का दबाव बना रहे थे. लेकिन नत्थी नहीं माना. उसके बाद जब नत्थीलाल रात को बाहर निकला तो वहां छिपकर बैठे आरोपियों ने उस पर लाठी-डंडों और लोहे की रॉड से हमला कर दिया. इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. बाद में जयपुर में शुक्रवार देर रात को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मृतक की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है.

आरोपी के खिलाफ से ही पांच मामले दर्ज हैं
नत्थीलाल की मौत के बाद किशनगढ़ बास डीएसपी अतुल अग्रे एसएमएस अस्पताल पहुंचे और शव का पोस्टमार्टम करवाकर कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुसार अंतिम संस्कार करवाया. किशनगढ़ बास थानाधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं. मृतक की मां इमरती देवी ने थाने में दर्ज कराई अपनी रिपोर्ट सत्यवीर उर्फ पर्रा नामजद किया है. प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि आरोपी सत्यवीर उर्फ पर्रा पर पांच मुकदमें पहले से ही दर्ज हैं. उसके खिलाफ पुलिस अधीक्षक के मार्फत जिला कलक्टर को गुंडा एक्ट में इस्तगासा भिजवाया जा चुका है. लेकिन अभी तक उसके खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई लंबित चल रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.