Home /News /crime /

Delhi Crime: कारोबारी को इंटरनेशनल कॉल कर मांगी थी 10 लाख की रंगदारी, 329 द‍िन बाद गाज‍ियाबाद से दबोचे तीन बदमाश

Delhi Crime: कारोबारी को इंटरनेशनल कॉल कर मांगी थी 10 लाख की रंगदारी, 329 द‍िन बाद गाज‍ियाबाद से दबोचे तीन बदमाश

इंटरनेशनल कॉल करके 10 लाख की रंगदारी मांगने वाले तीन आरोप‍ियों को 329 दिन बाद गाजियाबाद से गिरफ्तार क‍िया गया.

इंटरनेशनल कॉल करके 10 लाख की रंगदारी मांगने वाले तीन आरोप‍ियों को 329 दिन बाद गाजियाबाद से गिरफ्तार क‍िया गया.

Delhi Crime: इस साल जनवरी माह में एक कारोबारी अजय शर्मा ने द्वारका नॉर्थ थाने में शिकायत दी थी. पुल‍िस को कारोबारी ने श‍िकायत दर्ज कराते हुए जानकारी दी थी क‍ि उसके बेटे को जान से मारने की धमकी भरी कॉल की गई है और 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई है. शिकायत के बाद मामला दर्ज कर जांच की गई. करीब 329 दिनों की जांच व टेक्निकल सर्विलांस के माध्यम से ट्रैक करने के बाद तीनों को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली पुल‍िस (Delhi Police) आजकल साइबर क्राइम (Cyber Crime) से जुड़े मामलों को त्‍वर‍ित तरीके से न‍िपटाने के ल‍िए साइबर थाने (Cyber Thana) खोल रही है. हर ज‍िले में इस तरह के थाने खोले गए हैं और खोलने का काम क‍िया भी जा रहा है. इसके अलावा ज‍िला पुल‍िस साइबर सेल (Cyber Cell) से टेक्‍नीकल सर्व‍िलांस की मदद से भी अपराध‍ियों को दरदबोचने का काम भी करती आ रही है. ताजा मामला द्वारका ज‍िले का सामने आया है जहां हांगकांग के इंटरनेशनल सर्वर (Hong Kong International Server) का उपयोग कर रंगदारी मांगने के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है.

    द्वारका ज‍िला के डीसीपी शंकर चौधरी के मुताब‍िक इस साल जनवरी माह में एक कारोबारी अजय शर्मा ने द्वारका नॉर्थ थाने में शिकायत दी थी. पुल‍िस को कारोबारी (Businessman) ने श‍िकायत दर्ज कराते हुए जानकारी दी थी क‍ि उसके बेटे को जान से मारने की धमकी भरी कॉल की गई है.

    कारोबारी को तीन आरोप‍ियों की ओर से बेटे के जान से मारने की धमकी देकर 10 लाख रुपए की रंगदारी देने को कहा था. शिकायत के बाद मामला दर्ज इसकी जांच की गई. करीब 329 दिनों की जांच व टेक्निकल सर्विलांस (Technical Surveillance) के माध्यम से ट्रैक करने के बाद तीनों को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया.

    ये भी पढ़ें: बेल आर्डर से छेड़छाड़: ‘डिसमिस’ की जगह ‘अलाउड’ कर दिया, लेकिन पकड़ में आई आरोपी की चालकी 

    इन तीनों ग‍िरफ्तार आरोप‍ियों की पहचान संदीप (23), राकेश कुमार (31) और जाक‍िर (33) के रूप की गई है. संदीप ने फर्जी सिम के लिए कागजात बनाए थे. वहीं, राकेश कुमार ने सिम उपलब्ध कराए थे और जाक‍िर ने अपना मोबाइल दिया था. राकेश एक इंटरनेशनल सिम देने वाली कंपनी का रिप्रेजेंटेटिव है. पुलिस के अनुसार इस मामले में और भी गिरफ्तारी होने की संभावना है.

    डीसीपी ने बताया क‍ि इस मामले में एसीपी ऑपरेशन विजय सिंह यादव के निरीक्षण में स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर नवीन कुमार और साइबर सेल के सब-इंस्पेक्टर अरविंद के नेतृत्व में एसआई जयवीर, रणजीव त्यागी और बिजेंदर की टीम ने इंटरनेट कॉल की जांच शुरू की तो पता चला कि कॉल हांगकांग के सर्वर से आया था.

    ये भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा: कोर्ट ने शाहरुख पर ‘अटेम्प्ट टू मर्डर’ का आरोप तय किया, पुलिस पर तानी थी बंदूक

    टीम ने इस कॉल किए गए सिम और उपयोग किए गए मोबाइल को ट्रैक किया, तो जानकारी मिली कि वीओआईपी कॉल के लिए गाजियाबाद के रहने वाले एक शख्स के नाम पर सिम जारी किया गया था. गाजियाबाद में छापेमारी कर तीनों को गिरफ्तार कर लिया.

    वहीं इन आरोपियों ने पहचान नहीं उजागर नहीं होने के ल‍िए जिस सिम को नंबर जनरेट के लिए यूज किया था उसको लेने के लिए फोटो किसी और का और पता किसी और का द‍िया था. इसके बाद ही रंगदारी की पूरी योजना तैयार की गई. लेक‍िन पुल‍िस की गहन और लंबी जांच के बाद आख‍िरी तीनों आरोप‍ियों को धरदबोचने में कामयाबी हास‍िल कर ली.

    Tags: Crime News, Delhi Crime, Delhi news, Delhi police, Extortion, Fake Call

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर