होम /न्यूज /crime /

लश्‍कर-ए-तैयबा और अल बद्र को हवाला के जर‍िए करता था टेरर फंड‍िंग, स्‍पेशल सेल ने दिल्‍ली के मीना बाजार से दबोचा

लश्‍कर-ए-तैयबा और अल बद्र को हवाला के जर‍िए करता था टेरर फंड‍िंग, स्‍पेशल सेल ने दिल्‍ली के मीना बाजार से दबोचा

आतंकवादी संगठन LeT and Al Badr के टेरर फंड‍िंग के ल‍िए काम करने वाला हवाला ऑपरेटर द‍िल्‍ली से ग‍िरफ्तार क‍िया गया है.

आतंकवादी संगठन LeT and Al Badr के टेरर फंड‍िंग के ल‍िए काम करने वाला हवाला ऑपरेटर द‍िल्‍ली से ग‍िरफ्तार क‍िया गया है.

Terror Funding: द‍िल्‍ली पुल‍िस और जम्‍मू कश्‍मीर पुल‍िस के ज्‍वाइंट ऑपरेशन में आतंकवादी संगठन लश्‍कर ए तैयबा और अल बद्र (LeT and Al Badr) के टेरर फंड‍िंग के ल‍िए काम करने वाले एक हवाला ऑपरेटर को ग‍िरफ्तार क‍िया गया है. द‍िल्‍ली पुल‍िस की स्‍पेशल सेल की टीम ने आतंकी संगठनों के ल‍िए हवाला लेनदेन करने वाले ग‍िरफ्तार शख्स की पहचान मोहम्‍मद यासीन (48), निवासी गली नलबंदन, तुर्कमान गेट, दिल्ली के रूप में की गई है. मो. यासीन पेशे से गारमेंट का व्यापारी है और दिल्ली के मीना बाजार से काम करता है.

अधिक पढ़ें ...

नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली पुल‍िस (Delhi Police) और जम्‍मू कश्‍मीर पुल‍िस के ज्‍वाइंट ऑपरेशन में आतंकवादी संगठन लश्‍कर ए तैयबा और अल बद्र (LeT and Al Badr) के टेरर फंड‍िंग (Terror Funding) के ल‍िए काम करने वाले एक हवाला ऑपरेटर (Hawala operator) को ग‍िरफ्तार क‍िया गया है. द‍िल्‍ली पुल‍िस की स्‍पेशल सेल की टीम ने आतंकी संगठनों के ल‍िए हवाला लेनदेन करने वाले ग‍िरफ्तार शख्स की पहचान मोहम्‍मद यासीन (48), निवासी गली नलबंदन, तुर्कमान गेट, दिल्ली के रूप में की गई है. मो. यासीन पेशे से गारमेंट का व्यापारी है और दिल्ली के मीना बाजार से काम करता है.

द‍िल्‍ली पुल‍िस के स्‍पेशल सेल के स्‍पेशल कम‍िश्नर एचजीएस धालीवाल के मुताब‍िक सूचना म‍िली थी क‍ि जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकी गत‍िव‍िध‍ियों को बढ़ावा देने के ल‍िए हवाला मनी को उपलब्‍ध करवाया जा रहा है. इसको ऑपरेट करने काम द‍िल्‍ली के मीना बाजार से काम करने वाला मो. यासीन कर रहा है.

इस सूचना के आधार पर एसीपी ललित मोहन नेगी और एसीपी हृदय भूषण की देखरेख में नई दिल्ली रेंज के स्‍पेशल सेल के इंस्पेक्टर सुनील कुमार राजैन और इंस्‍पेक्‍टर रविंदर जोशी के नेतृत्‍व में टीम का गठन क‍िया गया. जानकारी प्राप्‍त हुई क‍ि मो. यासीन जोक‍ि निवासी गली नलबंदन, तुर्कमान गेट, दिल्ली है, वह आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा और अल बद्र के वित्तपोषण से संबंधित हवाला लेनदेन में एक एजेंट के रूप में काम करता है.

महाराष्ट्र: रायगढ़ समुद्र तट पर मिली संदिग्ध नाव की जांच जारी, AK-47 के अलावा तलवार और चाकू भी मिले

स्‍पेशल धालीवाल ने बताया क‍ि 17 अगस्त, 2022 को, मोहम्मद यासीन ने करीब दस लाख रुपए की राश‍ि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों में आगे उपयोग के लिए जम्मू-कश्मीर के एक आतंकी ऑपरेटिव अब्दुल हामिद मीर को भेजी है. इस संबंध में, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने 18 अगस्‍त को प्राथमिकी संख्या 37/2022, डीटी के तहत मामला दर्ज किया. इसके बाद अब्दुल हमीद मीर निवासी मेंढर, पुंछ, जम्मू-कश्मीर को जम्मू बस स्टैंड से 10 लाख की टेरर फंड‍िंग के साथ अरेस्‍ट क‍िया था.

स्‍पेशली सीपी धालीवाल के मुताब‍िक 18 अगस्‍त को केंद्रीय एजेंसियों और जम्मू-कश्मीर पुलिस से आतंकवादी गतिविधियों के वित्तपोषण में लिप्त एक व्यक्ति और मीना बाजार, दिल्ली से संचालित होने के बारे में सूचना प्राप्त हुई थी. इसके बाद मीना बाजार के आसपास छापेमारी टीम को तैनात क‍िया गया और प्रतिष्ठान के मालिक मो. यासीन को ग‍िरफ्तार क‍िया गया.

स्‍पेशल सीपी धालीवाल ने बताया क‍ि अातंकी संगठनों को हवाला मनी भेजने वाले मोहम्‍मद यासीन के पास से 7 लाख रुपए और एक मोबाइल फोन बरामद क‍िया है. उन्‍होंने आतंक‍ियों को हवाला भेजने वाले यासीन का खुलासा करते हुए बताया क‍ि वह पेशे से गारमेंट का व्यापारी है और दिल्ली के मीना बाजार से काम करता है. वह हवाला मनी के एक चैनल के रूप में काम करता है, विदेशों में स्थित स्रोतों से प्राप्त धन एकत्र करता है और आगे जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गुर्गों को ट्रांसफर करता है.

पूछताछ के दौरान, मोहम्मद यासीन ने भी खुलासा किया कि हवाला का पैसा दक्षिण अफ्रीका के माध्यम से भारत के सूरत और मुंबई भेजा जा रहा है. मो. यासीन इस हवाला श्रृंखला में दिल्ली की कड़ी था और दिल्ली से इस राशि को अलग-अलग कोरियर के माध्यम से जम्मू-कश्मीर में स्थानांतरित कर दिया गया था. यह राशि आगे जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और अल बद्र के गुर्गों को दी जाती है. मो. यासीन भारत के विभिन्न हिस्सों से जम्मू-कश्मीर तक धन के परिवहन के लिए एक महत्वपूर्ण कड़ी है.

हाल ही में यासीन को 24 लाख रुपए दक्षिण अफ्रीका से हवाला के माध्यम से भेजे गए, जिसमें से उन्होंने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गुर्गों को दो अलग-अलग कोरियर के माध्यम से 17 लाख रुपए ट्रांसफर क‍िए. जम्‍मू कश्‍मीर पुल‍िस द्वारा गिरफ्तार आरोपी अब्दुल हमीद मीर से उसके द्वारा दिए गए 10 लाख जब्त कर लिए गए हैं, जबकि शेष राशि सात लाख रुपए उसके घर की तलाशी के दौरान बरामद की गई.

Tags: Crime News, Delhi news, Delhi police, Delhi Police Special Cell, Terror Funding

अगली ख़बर