देवास: खुद को कर्मचारी बता पूरा मोबाइल टॉवर चुरा कर चंपत हुए चोर, तीन आरोपी गिरफ्तार

शातिर चोरों ने खुद को कंपनी का कर्मचारी बताकर पूरा मोबाइल टॉवर चुरा लिया और फरार हो गए

शातिर चोरों ने खुद को कंपनी का कर्मचारी बताकर पूरा मोबाइल टॉवर चुरा लिया और फरार हो गए

देवास में शातिर चोरों ने खुद को कर्मचारी बताकर मोबाइल नेटवर्क कंपनी का पूरा टॉवर ही खोलकर चोरी कर लिया. इसकी कीमत लाखों में थी. मोबाइल कंपनी के कर्मचारी सुबह टॉवर को गायब देख भौचक्के रह गए. इस चोरी की घटना से पुलिस की भी नींद उड़ गई. चोरों की तलाश की गई, जिसके बाद तीन चोरों को गिरफ्तार कर लिया गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 6:29 AM IST
  • Share this:
देवास. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के देवास (Dewas) में चोरों ने इस बार कुछ हटके ही कारनामा किया है. यहां औद्योगिक थाना क्षेत्र में शातिर चोरों ने मोबाइल नेटवर्क कंपनी (Mobile Network Company) का टॉवर (Tower) ही चोरी कर लिया. उन्होंने इस घटना को मोबाइल कंपनी के कर्मचारी बनकर अंजाम दिया. जमीन मालिक को कर्मचारी होने का परिचय देकर पूरा टॉवर ही खोलकर उड़ा दिया. इस घटना ने सभी को चौंका दिया. सुबह मोबाइल कंपनी के असली कर्मचारी पहुंचे तो वे टॉवर को गायब देख भौचक्के रह गए. मोबाइल टॉवर की चोरी के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है और इसमें 3 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. पुलिस ने पत्रकार वार्ता के दौरान चोरों के आष्टा से गिरफ्तार किए जाने की बात कही है. कुल 35 लाख रुपयों का सामान जप्त किया गया है.

मोबाइल नेटवर्क टॉवर चोरी की घटना को लेकर शहर में खासी चर्चा थी. मोबाइल नेटवर्क का टॉवर पहली बार चोरी हो जाने के मामले ने सबको चौंका दिया. इस घटना के सामने आने के बाद देवास जिले की पुलिस भी हैरान थी. देवास जिले के औद्योगिक थाना क्षेत्र में हुई इस चोरी का खुलासा करते हुए पुलिस ने अहम जानकारी दी है. बताया गया है कि आरोपी कंपनी के कर्मचारी बनकर क्षिप्रा स्थित एक कालोनी में पंहुचे थे. वहां चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया था. जहां उन्होंने पूरे टॉवर को खोल दिया साथ ही उसमें लगे जनरेटर को भी ले उड़े. अगले दिन जब कंपनी के कर्मचारी पंहुचे तो मोबाइल का टॉवर गायब था. फिर क्या था कंपनी के आवेदन पर पुलिस ने सक्रियता के साथ टॉवर चोरों की तलाश शुरू कर दी. पुलिस ने बहुत की कम समय में सभी चोरों को दबोच लिया. चोरों से मोबाइल टॉवर का जो सामान बरामद किया गया उसकी कीमत पुलिस द्वारा लगभग 35 लाख रुपये बताई गई है. फिलहाल पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस को इनके अतिरिक्त इस चोरी में और भी लोगों के होने के सुराग मिले हैं.

पुलिस ने तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार



पुलिस के अनुसार आरोपियों के द्वारा कंपनी के कर्मचारी बनकर चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया था. जमीन मालिक से भी आरोपियों ने कंपनी का कर्मचारी बनकर बात की. घटना की जानकारी लगने के बाद ही पुलिस ने सक्रियता से तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया. प्रेस वार्ता में एसआई मलखान सिंह भाटी और एसआई जितेन्द्र यादव ने बताया कि उक्त आरोपियों को पुलिस टीम ने आष्टा से पकड़ा है. साथ ही इनके पास से टॉवर और जनरेटर भी जब्त किया गया है. इस चोरी में और भी लोगों के होने की संभावना है.
बहरहाल चोरी का खुलासा तो हो गया लेकिन इस घटना से साफ है कि चोरों के हौसले कितने बुलंद हैं.अब पुलिस पकड़े गये आरोपियों के आपराधिक रिकॉर्ड भी खंगालने में पुलिस जुट गई है. पुलिस का कहना है इस तरह की चोरी का यह पहला मामला सामने आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज