• Home
  • »
  • News
  • »
  • crime
  • »
  • पादरियों द्वारा यौन शोषण की वो कहानी जो सदियों में कभी नहीं सुनी गई

पादरियों द्वारा यौन शोषण की वो कहानी जो सदियों में कभी नहीं सुनी गई

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

केरल के एक चर्च के कम से कम पांच पादरियों ने एक महिला के साथ बारी-बारी यौन शोषण किया. पहले भी पादरियों पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं लेकिन इस कहानी में ऐसा मोड़ है जो ईसाईयत के दो हज़ार सालों के इतिहास में संभवत: अब तक नहीं हुआ.

  • Share this:
केरल में रहने वाली जेनी की छोटी सी बेटी का चर्च में बप्तिस्मा होने का दिन नज़दीक आ रहा था लेकिन जेनी किसी उलझन में थी. धर्म के मुताबिक उसने कन्फेशन करने का रास्ता चुना. जेनी मलंकारा आॅर्थोडॉक्स चर्च पहुंची और कन्फेशन किया. धर्म के अनुसार कन्फेशन को गोपनीय रखा जाता है लेकिन कौन सोच सकता है कि पादरी जेनी को इस कन्फेशन के ज़रिये शारीरिक शोषण की खाई में गहरे धकेल देगा.

कहानी तब शुरू हुई जब केरल के कोट्टयम ज़िले में जेनी कॉलेज छात्रा थी. इस दौरान चर्च के एक पादरी के साथ उसका ऐसा वास्ता पड़ा कि इस पादरी ने कभी धर्म तो कभी इलाज तो कभी कोई और बहाना लेकर जेनी के साथ शारीरिक संबंध बनाए. एक बार इन संबंधों के बनने के बाद लगातार कई सालों तक वह इसी बात को लेकर जेनी का शारीरिक शोषण करता रहा. ऐसा भी नहीं था कि हर बार उसने ज़बरदस्ती की. शुरुआती शोषण के बाद कई बार जेनी की मर्ज़ी भी इसमें शामिल थी. इस पादरी का नाम मान लीजिए जॉन था.

एक दिन जेनी ने जॉन से कहा कि अब उसकी शादी होने वाली है इसलिए अब वह उसे छोड़ दे. जॉन ने मुस्कुराकर उसे कोई चिंता न करने को कहा लेकिन शादी के बाद भी जॉन मौका तलाश लेता और जेनी को अपनी शारीरिक ज़रूरत पूरी करने के लिए इस्तेमाल करता. जेनी को हमेशा डर लगा रहता कि उसके पति रॉबर्ट को कहीं कुछ भनक न लग जाए. शादी को वक्त हो गया और जेनी ने एक बेटी को जन्म दिया. इसके बाद भी न जॉन का शोषण रुका और न रॉबर्ट को कुछ पता चला.

अब समय आया रॉबर्ट और जेनी की बेटी के बप्तिस्मा का. बप्तिस्मा अस्ल में ईसाई होने के समय होने वाला पहला जल संस्कार है जिसे ईसाई दीक्षा के रूप में समझा जाता है. इस खुशी के मौके पर जेनी ईसाई धार्मिक मान्यताओं के कारण असमंजस में थी और उसे समझ नहीं आ रहा था कि इस पवित्र मौके पर वह कैसे चर्च के रीति रिवाजों में शामिल हो. उसने अपने अपराध बोध से मुक्ति पाने के लिए कन्फेशन का रास्ता चुना.

केरल समाचार, यौन शोषण, बलात्कार, चर्च में सेक्स, चर्च में रेप, kerala news, sexual abuse, rape, sex in church, rape in church

ईसाई के पिछले 2000 सालों में कन्फेशन को गोपनीय रखे जाने का प्रावधान रहा है और इस गोपनीयता को भंग कर अपराध किए जाने का संभवत: अब तक कोई केस सामने नहीं आया है. यही सब जान समझकर जेनी चर्च पहुंची और एक पादरी के सामने उसने कन्फेशन किया कि शादी से पहले से उसके शारीरिक संबंध एक पादरी के साथ रहे और उसने यह बात अब तक अपने पति से छुपाई है. जेनी अपने पूरे अपराध बोध की कहानी कह रही थी और वह पादरी सुन रहा था.

जेनी की पूरी कहानी सुनने के बाद पादरी ने कन्फेशन बॉक्स की तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेनी से मिलने को कहा. जेनी अगले कुछ दिनों में जब उस पादरी से मिलने गई तो उस पादरी की बात सुनकर उसके होश उड़ गए. उस पादरी ने जेनी को ब्लैकमेल करते हुए कहा कि अगर उसने उसके साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए तो वह उसके पति को धोखे और फरेब की यह पूरी कहानी बताकर उसकी खुशहाल शादीशुदा ज़िंदगी को तबाह कर देगा.

जेनी बुरी तरह डर चुकी थी और उसे कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था. जेनी यह कहानी रॉबर्ट को बताने की हिम्मत नहीं जुटा पाई और इस पादरी के लगातार दबाव के कारण एक और समझौता करने पर मजबूर हो गई. यह जेनी की बहुत बड़ी गलती थी. इस पादरी ने न केवल जेनी का शारीरिक शोषण किया बल्कि इस दौरान चुपके से तस्वीरें भी ले लीं. इस पादरी के ज़हन में एक खेल आ चुका था जिसे वह अंजाम देने के रास्ते पर था.


कुछ समय तक जेनी का शोषण करने के बाद इन तस्वीरों को इस पादरी ने अपने और साथी पादरियों के साथ शेयर किया. अब इन सबने बारी बारी से जेनी को मजबूर किया और उसका यौन शोषण करने लगे. जेनी को अलग अलग जगहों पर बुलाया जाता और उसे भोगा जाता. जेनी इतनी धंस चुकी थी कि उसके लिए निकलने का कोई रास्ता ही नहीं था. वह अपनी नज़रों में शर्मिंदा थी इसलिए रॉबर्ट को कुछ बता पाने में हमेशा कोशिश करने पर भी नाकाम रही.

केरल समाचार, यौन शोषण, बलात्कार, चर्च में सेक्स, चर्च में रेप, kerala news, sexual abuse, rape, sex in church, rape in church

एक दिन रॉबर्ट को ईमेल पर अच्छी खासी रकम का बिल दिखाई दिया. यह फाइव स्टार होटल का बिल था. रॉबर्ट ने जब जेनी से पूछताछ की तो थोड़ी ही देर में जेनी रोने लगी और फिर उसने शुरू से पूरी कहानी बयान कर दी. रॉबर्ट पूरी कहानी सुनकर हिल गया और सबसे ज़्यादा मायूस इसी बात से हुआ कि जेनी को बहुत पहले यह सब कुछ बता देना था. इसके बाद रॉबर्ट ने चर्च के अधिकारियों से अपनी पत्नी के साथ हुए शोषण के मामले की शिकायत की.

मामले पर चर्च का नज़रिया

बरसों पुराने मलंकारा आॅर्थोडॉक्स चर्च के अधिकारियों ने इस मामले की गंभीरता को समझते हुए आरोपी पांच पादरियों को पिछले दिनों अस्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया है. चर्च का कहना है कि अगर पीड़ितों द्वारा बताई गई इस कहानी में जांच के बाद कोई सच पाया जाता है तो आरोपी पादरियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी वरना उन्हें बहाल कर दिया जाएगा. चर्च के प्रवक्ता का यह भी कहना है कि इतने सालों तक अगर बलात्कार होता रहा तो पहले कोई शिकायत क्यों नहीं की गई? इस बारे में पीड़िता के पास जवाब नहीं है.

दूसरी तरफ, चर्च इस मामले को किसी साज़िश के तौर पर भी देख रहा है. कहा जा रहा है कि चर्च पर वर्चस्व चाहने वाले दूसरे गुट द्वारा यह चर्च को बदनाम करने की कोई चाल भी हो सकती है. फिलहाल पुलिस में मामला दर्ज नहीं किया गया है और प्रतिष्ठा बचाए रखने के लिहाज़ से मामले से जुड़े किसी भी व्यक्ति के वास्तविक नाम का खुलासा नहीं हुआ है. महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि अगर पीड़ितों द्वारा सुनाई गई यह कहानी सच्ची पाई जाती है तो यह पिछले दो हज़ार सालों में पहला मामला हो सकता है जब कन्फेशन की गोपनीयता का नियम भंग कर चर्च के प्रतिष्ठित पादरी द्वारा किसी अपराध को अंजाम दिया गया हो.

ये भी पढ़ेंः

दिल्ली में जिस्मफरोशी के धंधे में एक दर्जन बार खरीदी-बेची गई यह लड़की
कॉन्ट्रैक्ट किलर को जेल से निकलवाकर करवाया पुराने दुश्मन का कत्ल
शैलजा की इस एक गलती से गई जान, मेजर ने ऐसे बनाया था प्लान
#SerialKillers: 'सायनाइड मोहन', जिसने 20 महिलाओं को मौत के घाट उतारा
#SerialKillers : हर कत्ल के लिए लेता था कुल्हाड़ी, हथौड़े या फावड़े जैसा नया हथियार

Gallery - फ्रीलान्स Call Girls का रैकेट बना चुकी थी देह व्यापार की लेडी डॉन

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज