12 साल की नौकरी में अकाउंट एक्जीक्यूटिव ने कंपनी के खाते से उड़ाए 7 करोड़, गिरफ्तार

गुरुग्राम पुलिस आरोपी रणविजय को रिमांड पर लेकर उससे गबन किए गए रकम को रिकवर करने में जुट गई है
गुरुग्राम पुलिस आरोपी रणविजय को रिमांड पर लेकर उससे गबन किए गए रकम को रिकवर करने में जुट गई है

कंपनी के मैनेजमेंट की शिकायत पर पालम विहार थाना पुलिस (Palam Vihar Police Station) ने केस दर्ज कर आरोपी रणविजय को गुरुग्राम (Gurugram) के बजघेड़ा चौक से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. उसने बताया कि उसने यह रकम अपने पिता, ससुर ओर साले के खातों में डाली है

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 10:34 PM IST
  • Share this:
गुरुग्राम. दिल्ली से सटे साइबर सिटी गुरुग्राम (Gurugram) में लेबर कॉन्ट्रेक्ट का कार्य करने वाली कंपनी के अकाउंट एक्जीक्यूटिव (Account Executive) द्वारा करोड़ों रुपए के फर्जीवाड़ा (Fraud) करने का मामला सामने आया है. कंपनी की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर अकाउंट एक्जीक्यूटिव को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस आरोपी से पैसों की वसूली और फ्रॉड के सिलसिले में पूछताछ कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक गुरुग्राम के न्यू पालम विहार स्थित फेवरिकेशन का कार्य करने वाली कंपनी ने पालम विहार थाना में शिकायत दी कि उसके यहां काम करने वाले अकाउंट एक्जीक्यूटिव रणविजय ने कंपनी के खातों में हेरफेर कर करोड़ों रुपए का गबन किया है. पुलिस को दी शिकायत में कंपनी प्रबंधन ने बताया कि रणविजय उनकी कंपनी में वर्ष 2008 से अकाउंट एक्जीक्यूटिव के पद पर कार्यरत है. बीते दिनों कंपनी ने ऑडिट करवाया तो खुलासा हुआ कि उसके बैंक खातों में लगभग सात करोड़ रुपए का हेरफेर किया गया है.

इस पर कंपनी द्वारा आरोपी रणविजय से पूछताछ की गई तो वो इसका कोई ठीक जबाव नहीं दे सका. बाद में शक गहराने पर जब रणविजय के खाते चेक किए गए तो पता चला कि उसने सात करोड़ रुपए अपने परिवार और रिश्तेदारों के खाते में ट्रांसफर किए हैं. ऐसा कर रणविजय ने कंपनी के साथ धोखाधड़ी की.



कंपनी के मैनेजमेंट की शिकायत पर पालम विहार थाना पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी रणविजय को गुरुग्राम के बजघेड़ा चौक से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. उसने बताया कि उसने यह रकम अपने पिता, ससुर ओर साले के खातों में डाली है. पुलिस ने रणविजय को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेकर कंपनी के खातों से गबन की गई रकम को वसूलने की कवायद शुरू कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज