अपना शहर चुनें

States

खुलासा: बहन से की शादी, फिर अवैध संबंध के शक में कर दी हत्‍या, बाइक से 100 KM दूर ले जाकर चंबल में फेंका शव

नरेश ने अपनी बुआ की बेटी मौसमी को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया. इस पर मौसमी ने अपने पति को छोड़ कर नरेश से शादी कर ली.
नरेश ने अपनी बुआ की बेटी मौसमी को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया. इस पर मौसमी ने अपने पति को छोड़ कर नरेश से शादी कर ली.

कोटा में रिश्तों में उलझी हत्या (Murder) की घटना को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है. महिला का कातिल उनका ही दूसरा पति निकला.

  • Share this:
कोटा. हाड़ोती में रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली लव और मर्डर (Love and Murder) की सनसनीखेज घटना सामने आई है. यहां एक युवक ने पहले प्रेम जाल में फंसाकर अपनी बुआ की शादीशुदा बेटी से शादी कर ली. बाद में उन पर अवैध संबंधों को लेकर शक करने लगा और आखिरकार उनकी हत्‍या कर दी. आरोपी शख्‍स इतना बेखौफ और शातिर था कि वह पत्नी बनी बहन की हत्या करने के बाद उनके शव को बाइक पर बांधकर 100 किलोमीटर दूर ले गया और चंबल नदी में फेंक दिया. फिर परिवार और पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिये पत्नी के मौसा के खिलाफ उसे भगा ले जाने का मामला दर्ज करा दिया.

कोटा (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने बताया करीब दो माह पूर्व कोटा ग्रामीण के इटावा के गैता माखीजा चंबल नदी में 30 वर्षीय महिला का कट्टे में बंद शव मिला था. उनकी शिनाख्त सवाईमाधोपुर निवासी मौसमी मीणा के रूप में हुई थी. पुलिस ने जब इस मामले की तफ्तीश की तो रोंगटे खड़े कर देने वाली कहानी सामने आई. मौसमी की हत्या उसके ही पति नरेश मीणा ने की थी. पुलिस ने नरेश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है. उससे पूछताछ की जा रही है.

समाज ने प्रताड़ित किया तो जयपुर आ गये
पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, हत्‍या का मुख्य आरोपी नरेश मीणा है. वह मौसमी का ममेरा भाई है. नरेश ने अपनी बुआ की बेटी मौसमी को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया. मौसमी ने बाद में अपने पति को छोड़ कर नरेश से शादी कर ली थी. शादी के बाद समाज से प्रताड़ित होने के कारण दोनों जयपुर में रहने लग गये, लेकिन लॉकडाउन में आर्थिक स्थिति खराब हुई तो दोनों सवाईमाधोपुर के श्याम नगर में कमरा किराया पर लेकर रहने लगे. इस दौरान अपने मौसा से मिलने पर नरेश मौसमी को टोका करता था. वह मौसमी पर अवैध संबंध का शक करने लगा. इसी बात को लेकर आरोपी नरेश ने मौसमी का गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया. बाद में कानून की आंखों में धूल झोंकने के लिए उसने मौसमी के शव को चादर में लपेट कर उसे एक बड़े कोरियर के डिब्बे में डाल दिया.
सवाईमाधोपुर से 100 किलोमीटर दूर ले गया शव


इसके बाद वह शव को बाइक पर पीछे बांधकर सवाईमाधोपुर से 100 किलोमीटर दूर कोटा ग्रामीण के गैंता आया. यहां उसने चंबल नदी में शव को फेंक दिया. उसने परिवार को गुमराह करने के लिये कह दिया कि मौसमी लापता हो गयी. इस पर मौसमी के माता पिता घटना के डेढ़ महीने बाद सवाईमाधोपुर में उसकी गुमशुदगी दर्ज करवाई. गुमशुदगी का मामला दर्ज होने के बाद आरोपी नरेश ने भी मौसा के खिलाफ मौसमी को भगा ले जाने की रिपोर्ट दर्ज करवा दी. सवाईमाधोपुर पुलिस की ढिलाई से आरोपी के हौसले बुलंद होते गये. लेकिन नरेश की रिपोर्ट पर पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूछताछ शुरू की तो वह टूट गया और उसने मर्डर मिस्ट्री का खुलासा कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज