अपना शहर चुनें

States

बिहारः कैमूर में मिनी गन फैक्ट्री का भंडाफोड़, अवैध हथियार और उपकरण सहित चार गिरफ्तार

कैमूर में मिनी गन फैक्ट्री के खुलासे के मामले की जानकारी देते एसपी
कैमूर में मिनी गन फैक्ट्री के खुलासे के मामले की जानकारी देते एसपी

Mini Gun Factory: बिहार के कैमूर में पुलिस को ये कामयाबी वाहन चेकिंग के दौरान लगी. पुलिस ने जब खदेड़ कर भाग रहे लोगों को पकड़ा तो उनके पास से हथियार बरामद हुए.

  • Share this:
कैमूर. बिहार की कैमूर पुलिस (Kaimur Police) को अवैध हथियार के कारोबारियों के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली है. शनिवार को चैनपुर थानाक्षेत्र में चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक बंदूक, 2 कट्टा, 6 अर्धनिर्मित कट्टा और 6 कारतूस तथा खोखा के साथ हथियार बनाने का उपकरण बरामद किया. इस दौरान चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

बाइक चेकिंग के दौरान मिली कामयाबी
पुलिस को कामयाबी तब हाथ लगी जब चैनपुर में चेकिंग के दौरान एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन लोगों को रोक गया. इस दौरान पुलिस को देखते ही वो भागने लगे. पुलिस ने जब सभी को पकड़कर जांच किया गया तो कट्टा बरामद किया गया. जब इसकी जांच की गई तो हथियार बनाने वाले स्थान का उद्भेदन हुआ. गिरफ्तार आरोपियों में जालिम राम, संजय खरवार, अनिल खरवार तीनों थाना भभुआ निवासी बताए जाते हैं, वहीं चौथा आरोपी चैनपुर थाना क्षेत्र के तनौरा गांव निवासी रामदुलार शर्मा है.

क्या बोले कैमूर एसपी
मामले की जानकारी देते हुए एसपी कैमूर दिलनवाज अहमद ने बताया कि शनिवार को अवैध शराब एवं अवैध हथियार के बरामदगी के लिए विशेष चेकिंग और छापेमारी करने का आदेश दिया गया था. इसको लेकर चैनपुर थाना अध्यक्ष के नेतृत्व में वाहन जांच की जा रही थी. चेकिंग के क्रम में ही ये सफलता मिली. तलाशी के क्रम में उनके पास से एक देसी 315 बोर का एक नाली राइफल एवं दो जिंदा कारतूस तथा एक खोखा बरामद हुआ है.



पूर्व में भी जा चुका है जेल
पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर राम दुलार शर्मा के घर पर छापेमारी की तो इस दौरान छापेमारी के क्रम में घर से अवैध दो देशी कट्टा एवं 6 अर्द्ध निर्मित देसी कट्टा, कट्टा बनाने वाला उपकरण तथा 6 जिंदा कारतूस एवं 2 खोखा बरामद किया गया. एसपी ने बताया कि सभी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है. पुलिस के मुताबिक पकड़े गए लोगों में से एक पूर्व में तीन बार हथियार बनाने के मामले में जेल जा चुका है. वो पहली बार 1976 में जेल गया था तब से लगातार सक्रिय है और जालिम राम पूर्व में भी तीन बार आर्म्स एक्ट एवं मारपीट के केस में जेल जा चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज