प्रतापगढ़: मजाक पड़ा भारी, दोस्त को लगी अवैध पिस्टल से चली गोली, हालत नाजुक

घायल यूवक ने अपना बयान दर्ज कराया है.
घायल यूवक ने अपना बयान दर्ज कराया है.

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में दो दोस्तों के बीच का मजाक उस वक्त भारी पड़ गया जब एक दोस्त ने दूसरे पर अवैध पिस्टल (illegal pistol ) को गोली चला दी. घायल युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है.

  • Share this:
प्रतापगढ़. उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) में खेल- खेल में किया गया मजाक दो  दोस्तो को महंगा पड़ गया. अवैध पिस्टल से फायरिंग में रमेश वर्मा नाम का युवक घायल हो गया. दरअसल, रमेश वर्मा और मोनू दोनों अच्छे दोस्त थे. मंगलवार सुबह दोनों खेल खेल में मजाक करने लगे. घर के पास ही रखा धनुष -बाण लेकर रमेश वर्मा मोनू को तीर मारने लगा. काफी देर तक यह मजाक चलता रहा. इसी दौरान मोनू ने अपने पास रखा अवैध पिस्टल (Illegal pistol) निकाल लिया और रमेश पर फायर कर दिया.

गोली रमेश को लगी और वह वहीं गिर पड़ा. गोली की आवाज सुनकर गांव में अफरा-तफरी मच गई. लोग घरों से निकले तो देखा कि रमेश जमीन पर पड़ा तड़प रहा था. आनन-फानन में निजी गाड़ी से उसे जिला अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने युवक रमेश की हालत गंभीर देखते हुए प्रयागराज रेफर कर दिया.

घायल युवक ने ककाया बयान दर्ज



वहीं जिला अस्पताल पहुंची पुलिस ने घायल रमेश वर्मा का बयान दर्ज किया है. आरोपी मोनू को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. उससे पूछताछ की जा रही है. वही मामले में अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश द्विवेदी ने फोन पर बताया कि खेल- खेल में गोली चलने की बात सामने आई है.आरोपी ने अवैध पिस्टल से फायर किया है. उसे हिरासत में ले लिया गया है. पुलिस मामले में गंभीर धाराओं में मामला दर्ज करेगी,अवैध असलहा रखने के मामले में भी केस दर्ज होगा.
ये भी पढ़ें: COVID-19 Update: दिल्ली में 7340 नए केस, 24 घंटे में 96 लोगों की मौत

यहां उठी  सीबीआई जांच की मांग

उत्तर प्रदेश के कानपुर  के घाटमपुर क्षेत्र में दीपावली की रात कथित रूप से काला जादू और तंत्र-मंत्र के लिये 6 साल की एक दलित बच्‍ची की हत्‍या से पहले उससे कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म भी किया गया था. मामले में मुख्य आरोपी पुरुषोत्तम के अलावा अकुल कुरील (20) और बीरन (31) की गिरफ्तारी की गई. लेकिन परिजन पुलिस के इस खुलासे से संतुष्ट नहीं हैं. उन्होंने इस पूरे मामले में मानव अंग तस्करी की आशंका जाहिर की है और मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.



इससे पहले अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश श्रीवास्तव ने सोमवार को बताया था कि इस वारदात के मामले में पकड़े गए अंकुल कुरील और बीरन ने बताया कि उन्होंने बच्ची से सामूहिक बलात्कार करने के बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी. हत्या के बाद दोनों आरोपियों ने बच्ची के दोनों फेफड़े निकालकर मुख्य आरोपी पुरुषोत्तम को दिए थे. पुरुषोत्तम को काला जादू करने के लिए इन अंगों की जरूरत थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज