होम /न्यूज /crime /

Dholpur: खौफ पैदा करने के लिए बदमाशों ने हेड कांस्टेबल को पकड़कर मारी गोली

Dholpur: खौफ पैदा करने के लिए बदमाशों ने हेड कांस्टेबल को पकड़कर मारी गोली

बदमाशों ने हेड कांस्टेबल को घेरकर पकड़ लिया और मारपीट करते हुए पैर में गोली मार दी जो उसकी जांघ में लगी.

बदमाशों ने हेड कांस्टेबल को घेरकर पकड़ लिया और मारपीट करते हुए पैर में गोली मार दी जो उसकी जांघ में लगी.

धौलपुर जिले (Dhaulpur district) में बेखौफ बदमाशों ने पुलिस के एक हेड कांस्टेबल को पकड़कर गोली (Shoot) मार दी. बताया जा रहा कि अपराधियों ने पुलिस में खाैफ पैदा करने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया.

धौलपुर. राजस्थान में बेखौफ माफिया और बदमाश (Mafia and crooks) आमजन और पुलिस ने भय पैदा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार हो रहे हैं. ऐसा ही एक मामला धौलपुर जिले (Dhaulpur district) में सामने आया है. यहां अपराधियों ने पुलिस और आमजन में खौफ पैदा करने के लिए आरोपी को पकड़ने गए पुलिस के एक हेड कांस्टेबल को पकड़कर उसकी जांघ में गोली (Shoot) मार दी. इससे हैड कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हो गया. उसका जिला चिकित्सालय में इलाज चल रहा है. अब उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है.

पुलिस के अनुसार मामला मनियां थाना इलाके के गांव विनतीपुरा का है. गत 18 अक्टूबर को कोविड सेंटर से चार हार्डकोर अपराधी फरार हो गये थे. उनमें से एक के बारे में हेड कांस्टेबल अशोक राजावत को सूचना मिली थी कि वह एक शादी समारोह में भाग लेने विनतीपुरा आया हुआ है. इस सूचना पर अशोक विनतीपुरा पहुंचा. वहां बदमाशों ने उसे घेरकर पकड़ लिया और मारपीट करते हुए पैर में गोली मार दी जो उसकी जांघ में लगी. उसके बाद बदमाश वहां से फरार हो गए. वारदात के बाद पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत के निर्देशन में इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

Kiran Maheshwari Passes Away: राजसमंद से BJP विधायक किरण माहेश्वरी का COVID-19 से निधन, मेदांता में ली अंतिम सांस

कोरोना की जांच के लिये भर्ती कराया था
उल्लेखनीय है कि 15 अक्टूबर को बसेड़ी थाना पुलिस ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के चार हार्डकोर बदमाशों को पकड़ा था. पुलिस ने अनुसंधान कर चारों बदमाशों को न्यायालय के समक्ष पेश किया. न्यायालय ने आरोपियों की कोरोना जांच के लिए पुलिस को निर्देश दिए थे. उसके बाद पुलिस ने जिला अस्पताल के बंदी वार्ड में चारों बदमाशों अजीत, विकास, आकाश और कल्याण सिंह को भर्ती करा दिया था.

बंदी वार्ड की दीवार तोड़कर फरार हुए थे
बंदी वार्ड के बाहर सुरक्षाकर्मी भी मौजूद था. लेकिन इस दौरान बदमाशों ने शौचालय के अंदर से दीवार में सेंध लगा कर उसे तोड़ दिया. दीवार से पत्थरों के बड़े टुकड़े निकालकर बदमाश बेखौफ फरार हो गए. इन बदमाशों में से दो बदमाशों को पुलिस ने फिर पकड़ लिया था लेकिन दो फरार चल रहे थे. उनमें से एक ने रविवार इस वारदात को अंजाम दिया है.

Tags: Crime in Rajasthan, Crime report, Rajasthan police

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर