72 घंटे बाद भी पिता-पुत्री के हत्यारों का सुराग नहीं, पुलिस की सात टीमें जांच में जुटीं

31 अक्टूबर को पिता-पुत्री की चाकुओं से गोदकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी (प्रतीकात्मक तस्वीर)
31 अक्टूबर को पिता-पुत्री की चाकुओं से गोदकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वारदात को हुए तीन दिन बीत चुके हैं लेकिन कातिल अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. पुलिस इस केस के सिलसिले में अभी तक 50 से अधिक लोगों से पूछताछ कर चुकी है. मंगलवार को बरेली जोन के एडीजी अवनीश कुमार ने घटनास्थल का मुआयना किया. उन्होंने पुलिस अधिकारियों को जल्द से जल्द इस दोहरे हत्याकांड का खुलासा करने का निर्देश दिया

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 12:05 AM IST
  • Share this:
मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) में तीन दिन पहले हुई डबल मर्डर केस (Double Murder) अभी तक नहीं सुलझ सका है. नागफनी थाना क्षेत्र में 31 अक्टूबर को एक प्रॉपर्टी डीलर और उनकी बेटी की चाकुओं से गोदकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था. पुलिस ने आनन-फानन में मौके पर पहुंचकर दोनों शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था. पुलिस के मुताबिक प्रॉपर्टी डीलर (Property Dealer) नज़रू के जिस्म पर नौ जख्म थे जबकि उनकी बेटी समरीन के शरीर पर 21 जख्म पाए गए.

मगर वारदात को हुए तीन दिन बीत चुके हैं लेकिन कातिल अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. पुलिस इस केस के सिलसिले में अभी तक 50 से अधिक लोगों से पूछताछ कर चुकी है. मंगलवार को बरेली जोन के एडीजी अवनीश कुमार ने घटनास्थल का मुआयना किया. उन्होंने पुलिस अधिकारियों को जल्द से जल्द इस दोहरे हत्याकांड का खुलासा करने का निर्देश दिया.

दोहरे हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रभाकर चौधरी ने सात टीमों का गठन किया है. इन सात टीमों की कमान एसपी, एएसपी और सीओ संभाल रहे हैं. इन सभी टीमों को अलग-अलग काम सौंपे गए हैं. जिसमें मोबाइल सर्विलांस टीम वारदात वाले दिन किसरौल मुहल्ले में चालू मोबाइल नंबरों की पड़ताल का काम रही है. वहीं फोरेंसिक टीम को लीड करने की जिम्मेदारी एसपी सिटी को सौंपा गया है. इसके अलावा पुराने अपराधियों और परिवार के वाद-विवाद की सभी जानकारियों को जुटाने का भी काम किया जा रहा है. (फरीद शम्सी की रिपोर्ट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज