• Home
  • »
  • News
  • »
  • crime
  • »
  • NAGAUR AJMER ACB AND LOCAL POLICE HAS RAIDED AND SEIZED 48 BOTTLE OF LIQUOR FROM SUSPENDED SUB INSPECTOR OFFICIAL RESIDENCE NODMK8

नागौर: रिश्वतखोरी के आरोप में निलंबित सब-इंस्पेक्टर के सरकारी आवास से मिली 48 बोतल शराब, गिरफ्तार

पुलिस ने रिश्वतखोरी के आरोप में पहले से निलंबित चल रहे सब-इंस्पेक्टर केसर सिंह के सरकारी क्वार्टर से अवैध शराब मिलने के बाद गिरफ्तार कर लिया है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एसीबी (ACB) और नागौर पुलिस ने संयुक्त रूप से निलंबित सब-इंस्पेक्टर केसर सिंह के सीलबंद सरकारी क्वार्टर की तलाशी ली जिसमें वहां से 48 बोतल अवैध शराब (Illicit Liquor) बरामद हुई. इसके बाद कोतवाली पुलिस ने मौके पर ही आरोपी केसर सिंह को गिरफ्तार कर लिया

  • Share this:
    नागौर. अजमेर एसीबी (ACB) द्वारा रिश्वत के 11.36 लाख रुपए के साथ पकड़े गए नागौर (Nagaur) के निलंबित सब-इंस्पेक्टर (एसआई) केसर सिंह की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. बुधवार को एसीबी और नागौर पुलिस ने संयुक्त रूप से केसर सिंह के सीलबंद सरकारी क्वार्टर की तलाशी ली जिसमें वहां से 48 बोतल अवैध शराब (Illicit Liquor) बरामद हुई. एसीबी के एडिशनल एसपी बृजराज और कोतवाली थानाधिकारी जितेंद्र सिंह ने निलंबित एसआई केसर सिंह की मौजूदगी में यह पूरा तलाशी अभियान चलाया. इसके बाद कोतवाली पुलिस ने मौके पर ही आरोपी केसर सिंह को गिरफ्तार कर लिया.

    बता दें कि अगस्त 2020 में खींवसर थाने से तबादला होने के बाद एसआई केसरसिंह खींवसर थाना क्षेत्र से बंदी के लाखों रुपए इकट्ठा कर अजमेर स्थित अपने घर जा रहा था. इस दौरान अजमेर एसीबी ने सूचना के आधार पर बड़ीघाटी के पास एसआई केसरसिंह की कार की तलाशी ली जिसमें 11 लाख 36 हजार रुपए गाड़ी में मिले. साथ ही वहां से भारी मात्रा में अवैध शराब भी मिली. थावलां थाने में अवैध शराब से संबंधित मुकदमा दर्ज किया गया और पुलिस ने केसर सिंह को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद एसीबी ने केसर सिंह के अजमेर स्थित घर की तलाशी ली और वहां भी अवैध शराब मिली थी. अब यह तीसरा मौका है जब निलंबित एसआई केसर सिंह के नागौर के सरकारी क्वार्टर से अवैध शराब बरामद हुई है.

    दरअसल एसआई केसर सिंह खींवसर थानाधिकारी के पद पर तैनात था. उसके पद पर रहने के दौरान कई विवादित घटनाएं हुई, जिसके बाद केसर सिंह को खींवसर थाने से हटाकर पुलिस लाइन अटैच कर दिया गया. खींवसर थाने से हटाए जाने के बाद केसरसिंह ने अपने थाना क्षेत्र की बंदियों को इकट्ठा किया और अवैध काम करने वाले लोगों से लाखों रुपये इकट्ठा किये. उगाही कर जुटाए गए रुपयों को लेकर केसर सिंह कार से अपने अजमेर स्थित घर जा रहा था. मगर किसी ने उसकी शिकायत एसीबी से कर दी और वो पकड़ा गया.
    Published by:Manish Kumar
    First published: