• Home
  • »
  • News
  • »
  • crime
  • »
  • NOIDA POLICE HAS ARRESTED TWO PERSONS WHO WERE INDULGED IN BLACK MARKETING OF PLASMA TO CORONA PATIENTS NODMK8

नोएडा: Plasma की कालाबाजारी करने वाले दो शातिर गिरफ्तार, जरूरतमंदों से 45 हजार में करते थे सौदा

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से एक यूनिट प्लाज्मा, एक ब्लड सैंपल, एक कार, दो मोबाइल फोन और 35,000 रुपये बरामद किया है

पुलिस की पूछताछ में दोनों आरोपियों ने बताया कि वो अलग-अलग अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Therapy) के जरूरतमंद मरीजों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे फिर डोनर का इंतजाम कर प्लाज्मा को 40 हजार से 45 हजार रूपये में बेचते थे. आरोपियों ने अभी तक कई यूनिट प्लाज्मा अवैध रूप से बेचने की बात स्वीकार की है

  • Share this:
    नोएडा. कोरोना काल में मुनाफाखोर और कालाबाजारी करने वाले लोग सक्रिय हैं. रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) के बाद अब प्लाज्मा की कालाबाजारी (Plasma Black Marketing) का पर्दाफाश हुआ है. उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर जनपद के नोएडा (Noida) थाना बीटा 2 और क्राइम ब्रांच के टीम ने अवैध रूप से प्लाज्मा का बेच रहे दो लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपी प्लाज्मा की कालाबाजारी कर मुनाफाखोरी में लगे हुए थे. पुलिस को इनके कब्जे से एक यूनिट प्लाज्मा, एक ब्लड सैंपल, एक कार, दो मोबाइल फोन और 35,000 रुपये बरामद हुआ है.

    एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से परेशान है, लोग जरूरी दवाइयां, ऑक्सीजन और प्लाज्मा के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. वहीं यह दोनो अभियुक्त लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर नाजायज तरीके से पैसे कमाने में जुटे हुए थे. आरोपी प्लाज्मा थेरेपी वाले जरूरतमंद लोगों को 40,000 से 45,000 रूपये में प्रति यूनिट प्लाज्मा बेच कर मुनाफाखोरी कर रहे थे.



    पुलिस की पूछताछ में दोनों आरोपियों ने बताया कि वो अलग-अलग अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी के जरूरतमंद मरीजों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे फिर डोनर का इंतजाम कर प्लाज्मा को 40 हजार से 45 हजार रूपये में बेचते थे. आरोपियों ने अभी तक कई यूनिट प्लाज्मा अवैध रूप से बेचने की बात स्वीकार की है. पुलिस ने मामला दर्ज कर इन दोनों को जेल भेज दिया है.
    Published by:Manish Kumar
    First published: