अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: ऑपरेशन AAG, जयपुर में 121 अवैध हथियार बरामद, 125 आरोपी गिरफ्तार

ज्यादातर अवैध हथियार सवाईमाधोपुर, दौसा, अलवर और भरतपुर के अलावा उत्तरप्रदेश से चोरी छिपे प्रदेश में बेचे जा रहे हैं.
ज्यादातर अवैध हथियार सवाईमाधोपुर, दौसा, अलवर और भरतपुर के अलावा उत्तरप्रदेश से चोरी छिपे प्रदेश में बेचे जा रहे हैं.

जयपुर पुलिस ने अवैध हथियारों (Illegal weapons) के खिलाफ 'ऑपरेशन आग' चलाकर अब तक 121 अवैध हथियार बरामद कर 125 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में अवैध हथियारों (Illegal weapons) के दम पर खूनी खेल जारी है. राजधानी जयपुर समेत अन्य इलाकों में फायरिंग (Firing) की घटनाएं आम हो चली है. अपना वर्चस्व स्थापित करने की चाह में बदमाश बेखौफ होकर सड़कों पर खूनी खेल (Bloody game) खेल रहे हैं. फायरिंग की बढ़ती घटनाओं से खुद पुलिस भी सकते में है. लेकिन इस बीच अवैध हथियारों के खिलाफ जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की ओर से शुरू किया गया 'ऑपरेशन आग' (Operation AAG) अब रंग लाने लगा है.

अवैध हथियारों के दम पर हो रहे अपराधों को रोकने के लिए पुलिस मुख्यालय अपराधियों की धरपकड़ कर हथियारों की तस्करी से जुड़े नेटवर्क को तोड़ने में जुटा है. अवैध हथियारों के खिलाफ पुलिस का ऑपरेशन अगेंस्ट गन यानी 'ऑपरेशन आग' चलाया जा रहा है. इस अभियान तहत जयपुर पुलिस ने अब तक 93 मामले दर्जकर 125 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इन आरोपियों से 121 अवैध हथियारों के साथ ही 307 जिंदा कारतूस भी बरामद किए हैं.

Jaisalmer News: शादी से मना करने पर विधवा की जीभ और नाक काटी, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

सवाईमाधोपुर, दौसा, अलवर और भरतपुर के अलावा उत्तरप्रदेश से आ रहे हैं हथियार


पुलिस की मानें तो अवैध हथियारों की तस्करी को रोकना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है. लेकिन पुलिस अवैध हथियारों की खरीद-फरोख्त से जुड़े तस्करों का पता लगाने में जुटी है. अब तक की गई कार्रवाई में सामने आया है कि ज्यादातार अवैध हथियार सवाईमाधोपुर, दौसा, अलवर और भरतपुर के अलावा उत्तरप्रदेश से चोरी छिपे प्रदेश में बेचे जा रहे हैं. अब पुलिस ने इस काले कारोबार से जुड़े बड़े अपराधियों को ट्रेसकर उनकी कुंडली बनाना शुरू कर दिया है. लेकिन पिछली घटनाओं को देखें तो अवैध हथियारों की रोकथाम और बेलगाम अपराधियों के हौसलें पस्त कर पाना जयपुर पुलिस के लिए अब भी चुनौती बना हुआ है. इस चुनौती से निपटने के लिये पुलिस पूरी मुस्तैदी के साथ जुटी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज