Kota News: 1 लाख का इनामी हिस्ट्रीशीटर असलम उर्फ चिंटू आया पुलिस गिरफ्त में, 6 राज्यों की खाक छानी तब मिला

असलम उर्फ चिंटू के खिलाफ कोटा के विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन मामले दर्ज हैं

असलम उर्फ चिंटू के खिलाफ कोटा के विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन मामले दर्ज हैं

कोटा पुलिस ने आखिरकार हाड़ौती के मोस्ट वांटेड असलम उर्फ चिंटू (Aslam aka Chintu) को धरदबोचा है. उसकी तलाश में पुलिस ने राजस्थान समेत छह राज्यों की खाक छानी तब जाकर वह हाथ आया.

  • Share this:
कोटा. राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) के लिए 28 जनवरी का दिन कामयाबी (Success) के नाम रहा. प्रदेश की पुलिस ने एक तरफ जहां कुख्यात अपराधी राजस्थान और हरियाणा के 5 लाख के इनामी विक्रम उर्फ पपला गुर्जर (Vikram alias Papala Gurjar) को गिरफ्तार कर लिया. वहीं दूसरी तरफ हाड़ौती के कुख्यात हिस्ट्रीशीटर 1 लाख के इनामी बदमाश असलम उर्फ चिंटू (Aslam aka Chintu) को भी पुलिस ने धरदबोचा है. असलम उर्फ चिंटू की गिरफ्तारी होने के बाद कोटा पुलिस ने राहत की सांस ली है. कोटा पुलिस को छह राज्यों में दबिश देने के बाद इस कुख्यात अपराधी को पकड़ने में कामयाबी मिली है.

दरअसल हत्या के मामले में सजा के दौरान सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत के बाद अपराध की दुनिया में वापस सक्रिय होने वाले असलम के खिलाफ हाल ही में कोटा की कोर्ट ने 21 दिन में उसे गिरफ्तार करने के आदेश जारी किए थे. उसके बाद से कोटा पुलिस असलम उर्फ चिंटू की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही थी. लेकिन शातिर असलम लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था. इस पर कोटा रेंज के आईजी रविदत्त गौड़ और एसपी विकास पाठक ने असलम की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधिकारियों की 6 टीमों का गठन किया.

इन राज्यों में असलम की तलाश में की गई छापामारी

ये टीमें अलग-अलग स्तर पर अपना काम कर रही थी. असलम के कई साथियों को भी पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था. लेकिन असलम को पकड़ने में सफलता नहीं मिली. इसके बाद पुलिस की टीमों ने राजस्थान के जयपुर, बीकानेर ,उदयपुर, अजमेर और झालावाड़ में उसकी तलाश में छापामारी की. वहीं इसके साथ ही मध्य प्रदेश, दिल्ली ,हरियाणा, उत्तर प्रदेश और गुजरात में भी चिंटू की तलाश के लिए पुलिस टीमों को भेजा.
कोटा ग्रामीण के दर्रा इलाके से पकड़ा गया

इस दौरान पुलिस को असलम की पहली लोकेशन दिल्ली के आसपास मिली. इस पर कोटा पुलिस की दो विशेष टीमों को दिल्ली, नोएडा और हरियाणा भेज कर दबिश दी गई. लेकिन पुलिस की भनक पाकर बदमाश चिंटू भागकर महाराष्ट्र और गुजरात की तरफ चला गया. वह पुलिस की टीमों को गच्चा देते हुए लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा. आखिर में एडिशनल एसपी प्रवीण जैन के नेतृत्व वाली टीम ने झालावाड़ में मिली उसकी लोकेशन के बाद कड़ी घेराबंदी की. पुलिस ने कोटा ग्रामीण के दर्रा इलाके से 1 लाख इनामी बदमाश हो धरदबोचा. इस टीम में सीआई मनोज सिकरवार, राजेंद्र सिंह कमांडो, अमर सिंह, पुष्पेंद्र झाझड़िया, साइबर सेल के विशेषज्ञ प्रताप सिंह और इन्द्र सिंह शामिल थे. वे पल पल पर साइबर सेल की राडार पर आ रहे कुख्यात बदमाश असलम चिंटू को ट्रेस कर रहे थे.

विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन मामले दर्ज हैं



असलम उर्फ चिंटू के खिलाफ कोटा के विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन मामले दर्ज हैं. इसमें से आधा दर्जन मामले न्यायालय विचाराधीन चल रहे हैं. कुछ मामलों में असलम कोर्ट से बरी भी हो चुका है. हत्या के एक मामले में सुप्रीम कोर्ट से जमानत पर रिहा होने के बाद असलम के खिलाफ कोटा की कोर्ट से 4 संगीन मामलों में गिरफ्तारी वारंट जारी किए गए थे. वहीं कोटा पुलिस ने चिंटू की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश की तर्ज पर उसके मकान में नगर विकास न्यास की ओर से दबाव बनवाकर दो दिन पहले तोड़फोड़ की कार्रवाई भी की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज