बाहुबली अतीक अहमद की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई पेशी, स्पेशल कोर्ट से रखी यह मांग

पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अहमदाबाद के साबरमती जेल में बंद किया गया है (फाइल फोटो)
पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अहमदाबाद के साबरमती जेल में बंद किया गया है (फाइल फोटो)

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई पेशी के बाद बाहुबली अतीक अहमद (Atiq Ahmad) ने अदालत की कार्यवाही में सहयोग करने की बात कही. साथ ही उसने स्पेशल जज एमपी-एमएलए कोर्ट से अपने सभी लंबित मुकदमों की सुनवाई एक ही दिन में रखे जाने की मांग की

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 10:27 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. अहमदाबाद (Ahmedabad) के साबरमती जेल में बंद माफिया डॉन अतीक अहमद (Atiq Ahmad) की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बुधवार को प्रयागराज (Prayagraj) के एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट (Special Court) पेशी हुई. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई पेशी के बाद बाहुबली अतीक अहमद ने अदालत की कार्यवाही में सहयोग करने की बात कही. साथ ही उसने स्पेशल जज एमपी-एमएलए कोर्ट से अपने सभी लंबित मुकदमों की सुनवाई एक ही दिन में रखे जाने की मांग की. बाहुबली अतीक अहमद के खिलाफ धूमनगंज थाने में दर्ज सरकार बनाम पुत्तन बाबा के मामले में हेड कॉन्स्टेबल महेश प्रसाद दीक्षित की गवाही कराई गई.

इसके साथ ही बाहुबली अतीक की जिन पांच मामलों में अभियोजन की अर्जी पर 16 अक्टूबर, 2020 को जमानत निरस्त (रद्द) हुई थी, उन सभी मामलों में वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी के बाद 309 बी का फ्रेस वारंट कोर्ट के आदेश पर बनाया गया है. जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी गुलाब चंद्र अग्रहरि के मुताबिक धूमनगंज थाने में दर्ज पुत्तन बाबा मामले में 18 नवंबर को अगली सुनवाई होगी. जबकि अन्य चार मामलों में जिनमें जमानत निरस्त (रद्द) हो चुकी है. 20 नवंबर को वीडियो कांफ्रेन्सिंग के जरिए सुनवाई होगी. इन सभी मामलों में अभियोजन की ओर से गवाहों को बुलाकर गवाही कराई जाएगी.





बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बाहुबली अतीक अहमद गुजरात के अहमदाबाद के साबरमती जेल में बंद है. उसने अहमदाबाद से प्रयागराज की 1,450 किलोमीटर की दूरी, अपनी जान को खतरा और बीमारियों का हवाला देते हुए वीडियो कांफ्रेन्सिंग से मुकदमे की सुनवाई की मांग की थी. कोर्ट ने बाहुबली अतीक अहमद की अर्जी मंजूर करते हुए उसे वीडियो कांफ्रेन्सिंग से पेशी का आदेश दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज