होम /न्यूज /crime /Nakodar Murder Case: फिरौती न देने पर कारोबारी को गैंगस्टरों ने दी थी धमकी, 'पुलिस तुम्हें कब तक बचाएगी' फिर मार दी गोलियां

Nakodar Murder Case: फिरौती न देने पर कारोबारी को गैंगस्टरों ने दी थी धमकी, 'पुलिस तुम्हें कब तक बचाएगी' फिर मार दी गोलियां

नकोदर के कारोबारी भूपिंदर चावला उर्फ टिम्मी के जख्मी हुए गनमैन कांस्टेबल मनदीप सिंह की मौत के बाद लोगों में दहशत का माहौल है. (File Photo)

नकोदर के कारोबारी भूपिंदर चावला उर्फ टिम्मी के जख्मी हुए गनमैन कांस्टेबल मनदीप सिंह की मौत के बाद लोगों में दहशत का माहौल है. (File Photo)

Punjab Shotout Gangsters: नकोदर के कारोबारी भूपिंदर चावला उर्फ टिम्मी के जख्मी हुए गनमैन कांस्टेबल मनदीप सिंह की मौत के ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

गनमैन कांस्टेबल मनदीप सिंह की मौत के बाद लोगों में दहशत
नवंबर के शुरुआती दिनों में गैंगस्टरों के टिम्मी चावला को लगातार म‍िले फोन कॉल्स
जबरन वसूली की रकम 20 लाख से बढ़ाकर 30 लाख रुपये कर दी थी

एस. सिंह

चंडीगढ़. फिरौती न देने पर कत्ल कर दिए गए नकोदर के कारोबारी भूपिंदर चावला उर्फ टिम्मी के जख्मी हुए गनमैन कांस्टेबल मनदीप सिंह की मौत के बाद लोगों में दहशत का माहौल है. नवंबर के शुरुआती दिनों में गैंगस्टरों के टिम्मी चावला को लगातार फोन कॉल्स ने उनके परिवार को हिला कर रख दिया था. उन्होंने पूरे समय पंजाब पुलिस को सूचित किया और हर एक कॉल की सूचना दी गई थी. कॉल जो अब सार्वजनिक डोमेन में हैं और वायरल हो गई हैं, से पता चलता है कि गैंगस्टरों ने नकोदर व्यवसायी को बार-बार धमकाया था. कॉल में गैंगस्टर बार-बार टिम्मी से कहते हैं, “पुलिस कब तक आपकी रक्षा करेगी?”

पंजाब पुलिस ने शातिर ‘पुजारी’ को दबोचा, चोरी के 35 मामलों में था शामिल, 1.5 करोड़ का सामान बरामद

इसके बाद दो हफ्ते से 10 नवंबर तक लगातार कॉल किए गए. परिवार ने नंबर ब्लॉक कर दिए. ऐसी पांच रिकॉर्डिंग सार्वजनिक डोमेन में हैं. टिम्मी के चचेरे भाई शैफी चावला ने कहा कि हमें पहली कॉल 1 नवंबर को मिली थी. जिसमें रिंदा गिरोह का सदस्य होने का दावा करने वाले एक व्यक्ति ने हमसे 20 लाख रुपये मांगे थे. बदमाशों ने कहा था कि वे हमारे कारोबार के बारे में सब कुछ जानते हैं और हमारी दुकान में बहुत सारे ग्राहक हैं.

शैफी ने कहा कि पहला कॉल इसलिए रिकॉर्ड नहीं किया गया क्योंकि वह आईफोन पर था. जबकि परिवार ने 3 नवंबर को प्राथमिकी दर्ज कराई. शैफी ने कहा कि पुलिस ने आश्वासन दिया कि कॉल का पता लगाया जा रहा है और दोषियों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा. जल्द ही दो बंदूकधारी भी तैनात किए गए.

परिवार ने कहा कि आखिरी कॉल के बाद भी पुलिस ने उन्हें आश्वासन दिया था कि जल्द ही दोषियों का पता लगा लिया जाएगा. हालांकि पुलिस में शिकायत किए जाने के बाद से उन्होंने जबरन वसूली की रकम 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 30 लाख रुपये कर दी थी. एक कॉल में, कॉल करने वालों ने कहा कि आज तेरी पुलिस रक्षा कर रही है, जिस दिन तू हमारे हाथ आ गया हम तुझे मार ही डालेंगे.

क्या है मामला
कारोबारी टिम्मी को गुरुवार रात पांच अज्ञात बाइक सवार लोगों ने गोली मार दी थी, जब वह मालरी रोड, नकोदर में रॉयल टॉवर परिसर में अपने परिधान स्टोर के सामने अपनी ब्रेजा कार में सवार हो रहे थे. इस घटना में टिम्मी और उनके गनमैन दोनों को गोली मार दी गई थी. शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक टिम्मी को चार और गनमैन मनदीप सिंह को पांच गोली मारी गई थी. जबकि टिम्मी की मौके पर ही मौत हो गई, उसके गनमैन को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसने शुक्रवार को दम तोड़ दिया था.

Tags: Crime News, Punjab news, Punjab Police

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें