होम /न्यूज /crime /महीनों से लिव-इन-पार्टनर की बेटी से रेप कर रहा था आरोपी, मासूम ने रो-रोकर बताई दास्तां, गर्भपात के लिए आवेदन दायर

महीनों से लिव-इन-पार्टनर की बेटी से रेप कर रहा था आरोपी, मासूम ने रो-रोकर बताई दास्तां, गर्भपात के लिए आवेदन दायर

Rajasthan Rape Case: पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर उसे बाल आश्रय गृह भेज दिया है. (संकेतिक फोटो)

Rajasthan Rape Case: पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर उसे बाल आश्रय गृह भेज दिया है. (संकेतिक फोटो)

Rajasthan Rape Case: आरोपी को नशे की लत है. वो करीब 8-9 महीने से लड़की के साथ कथित तौर पर बलात्कार और यौन शोषण कर रहा थ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राजस्थान के बारां में लिव-इन-पार्टनर की बेटी से दुष्कर्म
आरोपी केदार सिंह पर पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज
नाबालिग के गर्भपात के लिए पुलिस ने दिया आवेदन

जयपुर. राजस्थान में एक व्यक्ति द्वारा अपने लिव-इन-पार्टनर की नाबालिग बेटी से रेप का मामला सामने आया है. राजस्थान (Rajasthan) के बारां (Baran Rape Cae) जिले के 48 वर्षीय व्यक्ति को अपने लिव-इन पार्टनर (Live-In-Partner) की 13 वर्षीय बेटी के साथ बार-बार बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी ने मासूम का रेप कर उसे गर्भवती कर दिया था. आरोपी की पहचान केदार सिंह के रूप में हुई है और उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया.

छाबड़ा पुलिस थाने के एसएचओ राजेश मीणा (Rajesh Meena) ने बताया कि केदार सिंह (Kedar Singh) शराबी है. उसे नशे की लत है. वो करीब 8-9 महीने से लड़की के साथ कथित तौर पर बलात्कार और यौन शोषण कर रहा था. बताया गया कि करीब 11 माह पहले लड़की की मां की मौत हो गई और उसके कुछ समय बाद ही आरोपी ने उसका शोषण करना शुरू कर दिया.

Amritsar- नशे में धुत ASI ने उतारा अंडरवियर, वीडियो हुआ वायरल, ACP ने किया सस्पेंड

आरोपी को किया गिरफ्तार
एसएचओ राजेश मीणा ने कहा कि नाबालिग की मेडिकल जांच से पता चला कि वह 23 सप्ताह की गर्भवती है. पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब लड़की के मामा उससे मिलने आए. अधिकारी ने कहा कि जब उसने अपने मामा को आपबीती सुनाई, तो वह सन्न रह गए. इसके बाद वो मासूम को थाने ले गए और केदार सिंह के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई. आरोपी पर भारतीय दंड संहिता और पॉक्सो अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

" isDesktop="true" id="5342705" >
पुलिस ने बताया कि आरोपी को एक अदालत में पेश किया गया जहां से उसे सोमवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया. पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर उसे बाल आश्रय गृह भेज दिया है. एसएचओ राजकुमार मीणा ने कहा कि पुलिस ने गर्भपात के लिए एक आवेदन भी दायर किया है. फिलहाल पुलिस अग्रिम विधिक कार्रवाई में जुटी है.

Tags: POCSO, Rape Case

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें