• Home
  • »
  • News
  • »
  • crime
  • »
  • ROBBERS ATTACK CASH VAN DRIVER SAVE RS 5 CRORE TO BE LOOTED JHNJ

बिहार: कार सवार लुटेरों ने कैश वैन पर बोला हमला, जान पर खेलकर ड्राइवर ने बचाए 5 करोड़ रुपये

ड्राइवर ने लूट को विफल करने के लिए कैश वैन को सड़क किनारे गड्ढे में लुढ़का दिया

घायल ड्राइवर ने जान की परवाह किए बगैर कैश वैन (Cash Van) को सड़क के किनारे गड्ढे में लुढ़का दिया. जिससे लुटेरों की बड़ी लूट (Loot) को कोशिश नाकाम हो गई. इस दौरान अपराधियों ने उसके हाथ में दो गोलियां मारी.

  • Share this:
    मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फपुर में बेखौफ लुटेरों (Robbers) ने पांच करोड़ रुपये लूटने के लिए कैश वैन (Cash Van) पर ताबड़तोड़ फायरिंग की, लेकिन वैन चालक ने अपनी जान पर खेलकर लूट की घटना को टाल दिया. हालांकि इस कोशिश में वह अपराधियों (Criminals) की गोली का शिकार हुआ. ड्राइवर को दो गोलियां लगी हैं. उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

    घायल ड्राइवर फिरोज ने जान की परवाह किए बगैर वैन को सड़क के किनारे गड्ढे में लुढ़का दिया. जिससे लुटेरों की बड़ी लूट को कोशिश नाकाम हो गई. इस दौरान अपराधियों ने उसके हाथ में दो गोलियां मारीं. घटना सरैया थाना के बखरा की है.

    जानकारी के मुताबिक एजीएस सिक्योर कंपनी का कैश वैन मिठनपुरा से छपरा पांच करोड़ रुपये लेकर जा रही थी. वहां इंडिया ‌वन एटीएम में कैश लोड करना था. लेकिन रास्ते में एनएच-72 पर बखरा के पास कार सवार अपराधियों ने कैश वैन पर हमला बोल दिया. चलती गाड़ी पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. कैश वैन के चालक ने स्थिति को समझते हुए वैन को सड़क किनारे गड्ढे में लुढ़का दिया. जिससे वैन दुर्घटना का शिकार हो गया. इससे ड्राइवर को काफी चोटें भी आईं. जबकि हाथ में अपराधियों ने दो गोली पहले ही मार दी थी.

    घटना के बाद मौके पर स्थानीय लोग जुटने लगे. इसको देखते हुए अपराधी कार लेकर वहां से फरार हो गये. उधर, घटना की सूचना मिलने पर सरैया पुलिस मौके पर पहुंची और ड्राइवर को आनन-फानन में एसकेएमसीएच ले गई. जहां से उसे एक निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया है.

    एसएसपी जयंतकांत ने लूट को बचाने का क्रेडिट एक एएसआई को देते हुए कहा कि घटनास्थल से कुछ दूर पर मौजूद पुलिस की टीम ने लूट की कोशिश को विफल कर दिया. उन्होंने जल्द कांड के उद्भेदन का भरोसा दिलाया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.
    Published by:Naween Kumar Jha
    First published: