होम /न्यूज /crime /दुबई में बैठे ठगों ने Amazon के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, वर्क फ्रॉम होम के नाम पर ठगे लाखों रुपये

दुबई में बैठे ठगों ने Amazon के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, वर्क फ्रॉम होम के नाम पर ठगे लाखों रुपये

Big Story: नई दिल्ली में अमेजन डॉट कॉम की फर्जी वेबसाइट के नाम पर युवाओं से लाखों रुपये लूटने वाले गिरफ्तार. (सांकेतिक तस्वीर)

Big Story: नई दिल्ली में अमेजन डॉट कॉम की फर्जी वेबसाइट के नाम पर युवाओं से लाखों रुपये लूटने वाले गिरफ्तार. (सांकेतिक तस्वीर)

Delhi Crime: दिल्ली पुलिस ने amazon.com की फर्जी वेबसाइट बनाकर युवाओं को ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. वर्क फ्रॉ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आरोपियों ने फर्जी कॉल सेंटर बनाकर दिया लोगों को धोखा
दुबई से गैंग ऑपरेट कर रहा है इस ठगी का मास्टरमाइंड
पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया, आगे की जांच जारी

नई दिल्ली. देश की राजधानी नई दिल्ली में हैरान करने वाला मामला सामने आया है. एक गैंग ने amazon.com में वर्क फ्रॉम होम के नाम पर युवाओं से लाखों रुपये ठग लिए. इसका आरोपी खुद को अमेजन का कार्यकारी सहायक बताता था. उसने बाकायदा फर्जी कॉल सेंटर चलाकर लोगों को झांसा दिया. चौंकाने वाली बात यह भी है कि इस ठगी का मास्टरमाइंड दुबई से गैंग को ऑपरेट कर रहा है. पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने बताया कि मामला नॉर्थ दिल्ली का है. मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स के कहने पर साइबर पुलिस ने जांच की तो पता चला कि फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों को लूटा जा रहा है. यह भी पता चला कि आरोपियों ने फर्जी कॉल सेंटर भी बनाया है. यह जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने छापा मारा और 4 आरोपियों अमित केडिया, सचिन गुप्ता, रोहित जैन और प्रदीप कुमार हैं को गिरफ्तार कर लिया है.

वॉलेट से लिंक किया फर्जी अकाउंट
पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने amazon.com की फर्जी वेबसाइट और लिंक बनाया हुआ था. इस लिंक में एक वर्चुअल वॉलेट भी था. इनकी बनाई हुई नकली वेबसाइट हूबहू असली वेबसाइट जैसी दिखती है. आरोपी पीड़ितों से कहते थे कि अमेजन कंपनी में वर्क फ्रॉम होम दिया जा रहा है. इससे वह अच्छा पैसा कमा सकते हैं. इसके लिए वह युवाओं से वॉलेट से लिंक फर्जी अकाउंट में रुपये डलवा लेते थे. इस तरह उन्होंने सैकड़ों युवाओं से रुपये अकाउंट में डलवा लिए.

दुबई से जुड़े तार
मामले के तार दुबई से भी जुड़े हुए हैं. आरोपियों ने दिल्ली के अशोक विहार में एक फर्जी कॉल सेंटर खोला हुआ था. इस कॉल सेंटर से भी लोगों को फोन करके क्रिकेट बेटिंग एप डाउनलोड करने के लिए कहा जाता था. इसका संचालन भी दुबई से हो रहा था. पुलिस ने छापे में आरोपियों से हजारों की नकदी, दर्जनों मोबाइल फोन, 22 सिम कार्ड और फर्जी इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट सर्टिफिकेट बरामद किए हैं. पुलिस को आरोपियों के 17 बैंक अकाउंट की डिटेल मिली है.

इस तरह पकड़ में आया फर्जीवाड़ा
बताया जा रहा है कि इस मामले की शिकायत एक महिला ने मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स को दी थी. उसके बाद उत्तरी दिल्ली की साइबर पुलिस ने जांच शुरू की थी. महिला से तीन लाख से ज्यादा की ठगी की गई थी, जिसके बाद धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करके जांच की गई. पुलिस को पता चला है कि इस मामले का किंगपिन जिगर उर्फ जोली गुलाटी है, जो दुबई से ऑपरेट करता है. लोगों को झांसा देने के लिए वह जो वॉट्सएप नंबर इस्तेमाल कर रहा है वह फिलीपींस का है. इस गैंग ने naukri.com और shine.com जैसे मिलते जुलते नाम के फर्जी पोर्टल भी बनाए गए थे.

Tags: Cyber Crime, Delhi news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें