होम /न्यूज /crime /Shraddha murder case: आफताब का नार्को टेस्ट 1 दिसंबर को हो सकता है, पुलिस ने कोर्ट से मांगी मंजूरी

Shraddha murder case: आफताब का नार्को टेस्ट 1 दिसंबर को हो सकता है, पुलिस ने कोर्ट से मांगी मंजूरी

दिल्ली पुलिस आफताब पूनावाला का नार्को टेस्ट अब 1 दिसंबर को कराने की तैयारी में है.  (News18)

दिल्ली पुलिस आफताब पूनावाला का नार्को टेस्ट अब 1 दिसंबर को कराने की तैयारी में है. (News18)

Shraddha murder case: दिल्ली पुलिस ने श्रद्दा वालकर की हत्या के आरोपी आफताब पूनावाला का नार्को टेस्ट 1 दिसंबर को ही करा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

श्रद्धा की हत्या के आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट 1 दिसंबर को कराया जा सकता है.
दिल्ली पुलिस को 5 दिसंबर को नार्को टेस्ट कराने के लिए कोर्ट से अनुमति मिली है.
आफताब का नार्को टेस्ट एक दिसंबर को कराने के लिए दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में एप्लीकेशन लगाई.

नई दिल्ली. श्रद्धा वालकर की हत्या के आरोपी आफताब पूनावाला का नार्को टेस्ट 1 दिसंबर को कराया जा सकता है. दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी (कानून व्यवस्था) सागर प्रीत हुड्डा ने बताया कि पुलिस 5 दिसंबर को नार्को टेस्ट कराने के लिए कोर्ट से अनुमति मिली है. लेकिन आफताब का नार्को टेस्ट एक दिसंबर को कराने के लिए दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में एप्लीकेशन लगाई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने एक एसआईटी बनाई हुई है. महरौली के जंगल और हर उस जगह जहां किसी भी सामान या सबूत की बरामदगी का कोई मौका हो सर्च अभी भी चल रही है.

पुलिस ने बताया कि पॉलीग्राफी टेस्ट की रिपोर्ट अभी नही मिली है. पॉलीग्राफी टेस्ट से बस इस बात का अंदाजा होता है आरोपी सच बोल रहा है या नहीं. आफताब का पॉलीग्राफिक टेस्ट कल सोमवार को ही पूरा हो चुका है. आज कुछ मेडिकल टेस्ट हो रहे हैं. जो पॉलीग्राफिक टेस्ट के बाद होते हैं. हुड्डा ने बताया कि नार्को टेस्ट भी आमतौर पर कोर्ट में कानूनी रूप से सबूत के तौर पर मान्य नहीं होता है. हालांकि नार्को टेस्ट के जरिए अगर किसी सबूत की बरामदगी होती है वो कोर्ट में स्वीकार किया जाता है. उन्होंने कहा कि नार्को टेस्ट के जरिए कुछ और सबूतों की रिकवरी के चांस हो सकते हैं.

आफताब की इंटरनेट सर्चिंग संदिग्ध
दिल्ली पुलिस साइंटिफिक टेक्निक्स का इस्तेमाल करने की कोशिश कर रही है. जिससे कोई ऐसा एविडेंस मिले, जिससे केस में मदद मिल सके. जिससे ये साबित हो सके मौत किस दिन और किस समय हुई. इसके लिए फॉरेंसिक रिपोर्ट अहम है. ये बताया गया कि श्रद्धा की हत्या के बाद आफताब की इंटरनेट सर्चिंग संदिग्ध है. उसने क्या सर्च किया, इसकी जांच चल रही है. ज्यादातर सर्च आफताब ने इंटरनेट से डिलीट की हुई थी. दिल्ली पुलिस ने गूगल पे, paytm, bumble dating app, facebook, इंस्टाग्राम समेत कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को चिट्ठी लिखकर आफताब के एकाउंट्स की डिटेल्स मांगी थी. कुछ app ने डिटेल्स दी हैं. गूगल ब्राउज़िंग के कुछ संदिग्ध लिंक मिले हैं, जिन्हें आफताब ने सर्च किया था.

आफताब को अब छोड़ना चाहती थी श्रद्धा
दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक श्रद्धा अब आफताब को छोड़ना चाहती थी. 3, 4 मई को दोनों का फैसला हुआ था कि अब हम अलग-अलग होकर रहेंगे. ये बात आफताब को रास नहीं आई. उसे लगा कि श्रद्धा किसी और के साथ जुड़ जाएगी. पुलिस के सूत्रों ने बताया कि अभी तक बद्री का कोई संदिग्ध रोल नहीं लगा है. उसने इन्हें रहने के लिए बस जगह सजेस्ट की थी. दिल्ली पुलिस के पास कोई चश्मदीद नहीं है. केस में ये सबसे बड़ी दिक्कत है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक श्रद्धा की गुमशुदगी की रिपोर्ट मुंबई में दर्ज होने के बाद जब आफताब मुंबई पुलिस की पूछताछ में शामिल होने जा रहा था, तब भी उसके फ्रीज में बॉडी के कुछ टुकड़े थे.

श्रद्धा हत्याकांड की गुत्थी कहां तक सुलझी? कितने जवानों की टीम कर रही जांच, दिल्ली पुलिस ने HC को सब बताया

खून के धब्बों की रिपोर्ट आने में लगेगा समय
जबकि दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा कि घर में जो खून के धब्बे मिले हैं, उनकी रिपोर्ट आने में समय लगेगा. बाथरूम, किचन, बेडरूम तीनों जगहों से खून के निशान मिले हैं. अभी तक 13 हड्डियां कन्फर्म मिल गई हैं. उसके अलावा भी कुछ मिली हैं वो सीएफएसएल की जांच से साफ होगा. श्रद्धा का जबड़ा भी मिल चुका है. सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने कुछ हथियार बरामद किए हैं. ये हथियार जंगल और आफताब के फ्लैट से मिले हैं. किस हथियार से शव को काटा गया, ये सीएफएसएल की रिपोर्ट के बाद पता लगेगा. जबकि गुरुग्राम से भी कुछ बॉडी पार्ट रिकवर हुआ था.

Tags: Brutal Murder, Delhi police, Murder, Shraddha murder case

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें