होम /न्यूज /crime /दिल्ली: पांडव नगर में भी श्रद्धा मर्डर केस जैसा मामला, पुलिस ने किया पर्दाफाश, 2 गिरफ्तार

दिल्ली: पांडव नगर में भी श्रद्धा मर्डर केस जैसा मामला, पुलिस ने किया पर्दाफाश, 2 गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पूर्वी दिल्ली में पाए गए मानव अंगों के रहस्य को सुलझाया. (ANI)

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पूर्वी दिल्ली में पाए गए मानव अंगों के रहस्य को सुलझाया. (ANI)

Delhi: पूर्वी दिल्ली में कई जगह पाए गए मानव शरीर के अंगों का रहस्य दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सुलझा लिया है. एक श ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ईस्ट दिल्ली में मिले इंसानी शरीर के टुकड़ों की गुत्थी को सुलझाया.
पाडंव नगर के रहने वाले एक युवक की लाश को एक घर में काटकर उसे फ्रीज में रखा गया था.
शव के टुकड़ों को पाडंव नगर और ईस्ट दिल्ली के अलग-अलग इलाको में फेंक दिया जाता था.

नई दिल्ली. दिल्ली के महरौली में श्रद्धा वालकर की हत्या के बाद उसके शव को 35 टुकड़े करके फ्रिज में रखकर उनको इधर-उधर फेंकने की घटना से मिलते-जुलते एक मामले को दिल्ली पुलिस ने सुलझाने में सफलता हासिल की है. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ईस्ट दिल्ली में मिल रहे इंसानी शरीर के टुकड़ों की गुत्थी को सुलझाया है. पाडंव नगर के रहने वाले एक युवक की लाश को एक घर में काटकर उसे फ्रीज में रखा गया था. जिसके बाद रोजाना शव के टुकड़ों को पाडंव नगर और ईस्ट दिल्ली के अलग-अलग इलाको में फेंक दिया जाता था.

कत्ल की इस खौफनाक वारदात को एक लड़के और एक लड़की ने मिलकर अंजाम दिया था. ये दोनों आरोपी अपने घर में शव के टुकड़े कर फ्रीज में रखे हुए थे और फिर उसे पाडंव नगर इलाके में फेंक दिया करते थे. पुलिस ने आरोपी लड़के और लड़की को गिरफ्तार कर लिया है. गौरतलब है कि पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके और पांडव नगर के एक मैदान से मानव शरीर के कुछ अंग बरामद किए गए थे. माना जाता है कि बरामद हुए शरीर के अंग किसी एक व्यक्ति के थे, जिसकी हत्या हो चुकी थी.

Exclusive: पूछताछ के लिए वसई पुलिस के बुलावे से चौकन्ना हुआ आफताब, सबूतों को तेजी से मिटाया

पाए गए सिर और हाथ क्षत-विक्षत अवस्था में थे और पुलिस तब यह पता नहीं लगा पाई है कि वे शरीर के अंग किसके थे. पुलिस सूत्रों ने तब कहा था कि पहली नजर में ऐसा लग रहा था कि शरीर के अंगों को फ्रिज में रखा गया था और फिर झाड़ियों के पीछे फेंक दिया गया था. आगे की जांच के लिए ये मामला दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया था. पुलिस ने संदिग्ध लोगों की पहचान करने और घटनाओं के क्रम का पता लगाने के लिए इलाके में या उसके आसपास के सभी सीसीटीवी कैमरों की रिपोर्ट की जांच की थी.

Tags: Crime News, Delhi police, Murder

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें