सीवान: पत्नी, बेटी और बेटे ने मिलकर ASI को मार डाला, पढ़िए क्या थी वजह

बक्सर जिले के डुमरांव में पदस्थापित एएसआई अवधेश कुमार चौधरी की हत्या 7 और 8 मई की रात में की गई थी.

News18 Bihar
Updated: May 11, 2019, 1:38 PM IST
सीवान: पत्नी, बेटी और बेटे ने मिलकर ASI को मार डाला, पढ़िए क्या थी वजह
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Bihar
Updated: May 11, 2019, 1:38 PM IST
बिहार के सीवान में रिश्तों के भरोसे का कत्ल करने का खौफनाक वाकया सामने आया है. 7 मई की रात हुए एएसआई मर्डर केस की गुत्थी का सीवान पुलिस ने जब खुलासा किया तो चौकाने वाली जानकारी सामने आई. बकौल सीवान पुलिस पत्नी, बेटी और बेटे ने ही मिलकर एएसआई की हत्या की घटना को अंजाम दिया था. ये तीनों अब सलाखों के पीछे हैं.

बता दें कि बक्सर जिले के डुमरांव में पदस्थापित एएसआई अवधेश कुमार चौधरी की हत्या 7 और 8 मई की दरमियानी रात में की गई थी. पत्नी, बेटी और बेटे ने मिलकर एएसआई की हत्या कर दी थी. बताया जा रहा है कि वजह आपसी कलह थी.



ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: बिहार की इन 5 सीटों पर विरासत बचाने की जद्दोजहद कर रहे ये प्रत्याशी

बकौल पुलिस तीनों ने मर्डर करने के बाद शव को महाराजगंज थाना क्षेत्र के तक्कीपुर गांव के समीप फेंक दिया. 8 मई की सुबह एएसआई का शव महाराजगंज थाना क्षेत्र के सीवान पैगंबरपुर पथ के नजदीक तक्कीपुर गांव के सटे नहर के समीप देखा गया. एक पुलिसकर्मी की निर्मम हत्या ख कुछ समय के लिए लोगों में दहशत फैल गई थी.

मृत एएसआई के हाथों में रस्सी बाधकर गला घोंटा गया था. बता दें कि एएसआई की हत्या के बाद उसके पिता जगन्नाथ चौधरी ने अपने परिजनों पर ही बेटे की हत्या किए जाने का आरोप लगाया था.  पिता के बयान पर स्थानीय थाने में कांड संख्या 129/19 के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी.

ये भी पढ़ें- खुशखबरी: बिहार में चुनाव बाद होगी शिक्षकों की बहाली, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा

भगवानपुर हाट थाने के सकरी निवासी जगन्नाथ चौधरी ने अपने बयान में कहा था कि उसके पारिवारिक कलह के कारण उनके परिजनों ने ही मार डाला. मृतक के पिता ने बताया कि उनका पुत्र अवधेश कुमार चौधरी चुनावी ड्यूटी से लौटकर 7 मई को उनसे मिलने के लिए अपराह्न 3 बजे घर आया था.  8 मई को सुबह 7 बजे खबर मिली के उनके बेटे की हत्या कर शव को महाराजगंज थाने के तक्कीपुर में फेंक दिया गया है.
Loading...

जब एएसआई की हत्या मामले में पूछताछ की गई तो परिजन टालमटोल करने लगे. किसी ने घटना को लेकर चिंता नहीं जताई. इसके बाद पुलिस ने अपने हिसाब से जांच की और हत्या की गुत्थी सुलझा ली. पुलिस ने पत्नी, बेटी और बेटे को गिरफ्तार कर लिया है.

रिपोर्ट- मृत्युंजय

ये भी पढ़ें-
बिहार: हड़ताल पर जा सकते हैं नियोजित शिक्षक, सुप्रीम कोर्ट में हार को बताया सरकार की साजिश

गिरिराज का राहुल पर तंज, कहा- क्या 1984 के चुनाव में राजीव गांधी से भी माफी मंगवाते?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...