सुशांत केस में चल रही पूछताछ लेकिन कई आत्महत्याओं की जांच अनसुलझी

सुशांत केस में चल रही पूछताछ लेकिन कई आत्महत्याओं की जांच अनसुलझी
सुशांत सिंह राजपूत के परिवार ने हाल ही में पटना पुलिस स्टेशन में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवाई है और बताया है कि वे लोग इस केस में हो रही जांच-पड़ताल से बिल्कुल भी खुश नहीं हैं.

सुशांत राजपूत केस में पुलिस पूछताछ कर रही है, सोशल मी़डिया के जरिए लोगों का कहना है कि सच बाहर आएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना महामारी के बीच एक जो सबसे बड़ा संकट इस समय देश के सामने हैं वो है आत्महत्या. आत्महत्या के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. WHO के मुताबिक हर साल दुनिया में करीब 8 लाख लोग आत्महत्या करते हैं. इनमें ज्यादातर युवा होते हैं. हाल में जाने-माने एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली. इसके बाद देश में नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) और पक्षपात की खबरें भी जोर पकड़ रही हैं. ज्यादातार लोगों का आरोप है कि सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या नहीं की बल्कि इसके लिए उन्हें उकसाया गया. इसको लेकर मुंबई पुलिस जांच भी कर रही है और लगभग हर रोज सुशांत से जुड़े लोगों के बयान भी दर्ज किए जा रहे हैं. हालांकि देश में आत्महत्या के कई ऐसे मामले हो चुके हैं जिनकी पुलिस जांच तो हुई लेकिन नतीजा नहीं आया.

पुलिस अधिकारी ने की खुदकुशी
इसी तरह की घटनाओं में से एक 2012 में हुई थी जब बिलासपुर के एसपी राहुल शर्मा ने कथित तौर पर खुद की रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी. बताया जाता है कि उस समय दिवंगत पुलिसकर्मी के सुसाइड नोट में स्पष्ट रूप से एक वरिष्ठ अधिकारी के हाथों उत्पीड़न का उल्लेख किया गया था. उस समय इस मामले में राहुल के पिता ने सीबीआई जांच की मांग भी की थी. हालांकि, हाल ही में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने इस मुद्दे को दोबारा उठाया है और उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से दोबार जांच खोलने और राहुल शर्मा को न्याय दिलाने का अनुरोध किया है.

जवान ने की आत्महत्या
जम्मू-कश्मीर के बाहरी क्षेत्र पंथा चौक में सीआरपीएफ के एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. यह घटना 21 जुलाई की ही है. गोली सिर में लगने से जवान की मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस के मुताबिक आत्महत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. जवान का नाम विश्वजीत दत्ता था जो सीआरपीएफ की 29 बटालियन में तैनात में थे.



अस्पताल के मालिक ने की आत्महत्या
उत्तर प्रदेश के मेरठ में आनंद अस्पताल के मालिक हरिओम आनंद की आत्महत्या के मामले में भी जांच चल रही हैं. हरिओम आनंद ने 27 जून को आत्महत्या की थी. अब उनकी मौत के लगभग एक महीने बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. फिलहाल इस मामले की भी जांच की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading