अपना शहर चुनें

States

कोटा में फिर चाकूबाजी: जोर-जोर से बोलने पर टोका तो बदमाशों ने किशोर को चाकुओं से गोद डाला

पुलिस को घटना की जानकारी देते परिजन.
पुलिस को घटना की जानकारी देते परिजन.

कोचिंग सिटी कोटा (Kota) में चाकूबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है. सोमवार को फिर करीब आधा दर्जन बदमाशों ने एक किशोर को घेरकर उसे चाकुओं (Knife) से गोद डाला. गनीमत है कि किशोर की जान बच गई.

  • Share this:
कोटा. कोचिंग सिटी कोटा (Kota) में चाकूबाजी की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही है. सोमवार शाम को मामूली कहासुनी को लेकर करीब आधा दर्जन बदमाशों ने एक किशोर को चाकुओं से गोदकर उसे गंभीर रूप से घायल (Injured) कर दिया. युवक को इलाज के लिये स्थानीय एमबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहां उसकी हालत अब खतरे से बाहर बताई जा रही है.

युवक का दोष सिर्फ इतना ही था कि उसने अपने घर के पास खड़े होकर जोर जोर से बातें और गाली गलौच कर रहे बदमाशों को टोक दिया था. इस पर बिफरे बदमाशों ने युवक पर चाकुओं से दनादन वार कर डाले. हमले में युवक के पैर, पीठ और कंधे पर चाकुओं से करीब आधा दर्जन वार किये गये हैं. इतना ही नहीं बदमाशों ने पीड़ित किशोर को उसके भाई और पिता को परिवार सहित जान से मारने की धमकी भी दे डाली.

जोधपुर: रेप पीड़िता 11 वर्षीय मासूम ने दिया बच्चे को जन्म, पड़ोसी ने किया था रेप

बदमाशों ने तबेला हाउस के पास दिया वारदात को अंजाम


जानकारी के अनुसार सोमवार शाम को कैथूनीपोल निवासी आदित्य पाठक के घर के पास कुछ युवक खड़े होकर जोर जोर से बातें और गाली गलौच कर रहे थे. इस पर आदित्य ने उनको टोका तो वे बिफर गये. बदमाश युवकों ने तबेला हाउस के पास आदित्य को घेर लिया और उस पर चाकुओं से हमला कर दिया. आदित्य पर करीब आधा दर्जन वार किये गये. हमले की वारदात को अंजाम देने के बाद वे वहां से फरार हो गये. वारदात के बाद पीड़ित और उसके परिजनों ने कैथूनीपोल पुलिस थाने में बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.

दिसंबर माह में ही चाकूबाजी की करीब दो दर्जन वारदातें हो चुकी हैं
इससे पहले सोमवार को दिन में ही एडीजी श्रीनिवासराव जंगा ने पुलिस अधिकारियों की क्राइम मीटिंग ली थी. इस मिटिंग में उन्होंने शहर में होने वाली चाकूबाजी की घटनाओं को नियंत्रण करने की विशेष निर्देश दिए थे. उसके कुछ देर बाद ही शहर में फिर से चाकूबाजी हो गई. इससे पहले एसपी के स्तर पर भी चाकूबाजी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया जा चुका है. लेकिन कोटा में चाकूबाजी वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही है. अकेले दिसंबर माह में ही चाकूबाजी की करीब दो दर्जन वारदातें हो चुकी हैं. इनमें एक किशोर की मौत भी हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज