कत्ल का राज़ 44 साल बाद खुला, कातिल तक पुलिस पहुंची भी, लेकिन पकड़ नहीं सकी!

हत्याकांड के बाद 44 साल लगे, शक के दायरे में रहे उस कातिल तक पहुंचने में, जिसने बलि के अंदाज़ में नौजवान लड़की की नृशंस हत्या की थी. डीएनए तकनीक के ज़रिये कातिल तक पहुंची अमेरिकी पुलिस अब सोच रही है कि वह सीरियल किलर तो नहीं था!

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: October 23, 2018, 7:45 PM IST
कत्ल का राज़ 44 साल बाद खुला, कातिल तक पुलिस पहुंची भी, लेकिन पकड़ नहीं सकी!
सांकेतिक चित्र
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: October 23, 2018, 7:45 PM IST
12 अक्टूबर 1974, रात करीब 11 बजे
अपने अपार्टमेंट में 19 साल की पैरी और उसका पति ब्रूस अकेले थे. घर में टीवी आॅन थी और दोनों के बीच बहस छिड़ी तो पैरी ने टीवी का रिमोट फेंककर टीवी आॅफ कर दी और कहा -

READ : सीरियल किलर्स की कहानियां

पैरी : पहले तुमने कहा था छुट्टी है इसलिए मैंने प्रोग्रैम बनाया था. अब तुम मना कर रहे हो तो इसमें मेरी क्या गलती है?

ब्रूस : ओह कम आॅन यार, क्या अचानक काम नहीं आ सकता है? इतनी सी बात समझने के लिए कितनी अक्ल चाहिए?
पैरी : हां, मैं ही बेवकूफ हूं और तुम ही तो समझदार हो. हर बार यही होता है कि लास्ट मिनट पर हर प्रोग्रैम कैंसल कर देते हो.
ब्रूस : अब तुम्हें जो समझना है समझो. मैं जा रहा हूं सोने, गुड नाइट.
Loading...

पैरी : मैं भी जा रही हूं. मेरे पास मेरी चाबी है. गुड नाइट.

इतनी रात गए पैरी ने चर्च जाकर कुछ देर शांति में रहने की बात कही और चली गई. चर्च पास ही था और पैरी कई बार वहां जाती थी इसलिए ब्रूस को कुछ अजीब नहीं लगा. चर्च बंद होने में अभी कुछ वक्त था इसलिए ब्रूस ने घड़ी देखी और वह बेडरूम में चला गया. ब्रूस को नींद तो आ नहीं सकती थी क्योंकि पैरी बाहर गई थी इसलिए वह कोई किताब पढ़ने लगा था ताकि कुछ वक्त कट सके.

कहानी में तीसरा किरदार आया स्टीफन. स्टीफन पहले डिफेंस सर्विस में रह चुका था लेकिन उसे निकाल दिया गया था. तबसे कुछ काम करने के बाद स्टीफन कुछ समय से स्टैनफोर्ड के इस चर्च में बतौर वॉचमैन काम कर रहा था. यूनिवर्सिटी के आसपास के इस इलाके में मेमोरियल चर्च को बंद करना स्टीफन की ज़िम्मेदारी थी और वह अपने कुछ साथियों के साथ बैठा गप्पें मार रहा था जब रात सवा 11 बजे के आसपास पैरी चर्च में दाखिल हुई.

मेमोरियल चर्च, रात करीब साढ़े 11 बजे
गप्पें लड़ाने के बाद साथी अपने अपने ठिकाने चलने लगे और स्टीफन ने कहा कि अब चर्च बंद करने का टाइम हो गया है. यह कहकर स्टीफन गेट से अंदर गया और करीब 15 मिनट बाद पौने बारह बजे स्टीफन बाहर आया और एकाध साथी के साथ अपने कमरे की तरफ चला गया. लेकिन किसी का भी ध्यान इस बात पर नहीं गया कि चर्च बंद हो गया था और पैरी चर्च के बाहर नहीं आई थी. कमरे तक पहुंचने के बाद स्टीफन अकेला था क्योंकि उसका साथी अपने रास्ते निकल गया था.

Serial killer, DNA technology in murder, US murder case, story of murder mystery, satanic murder case, सीरियल किलर, हत्या और डीएनए तकनीक, अमेरिका हत्याकांड, तंत्र मंत्र से हत्या, रहस्यमयी हत्या की कहानी

यहां से कहानी में एक मोड़ आया. अब रात के घुप अंधेरे में अकेला स्टीफन एक टॉर्च के साथ चर्च की तरफ लौटा और मुख्य दरवाज़े से नहीं बल्कि पीछे के एक रास्ते से चर्च के भीतर दाखिल हुआ. इस वक्त वहां कोई चहल पहल नहीं थी यानी कोई चश्मदीद नहीं था. स्टीफन ने चर्च के भीतर जाकर देखा तो पैरी अब तक बेहोश पड़ी हुई थी क्योंकि चर्च बंद करते वक्त उसने पैरी की गर्दन पर एक ज़ोरदार वार कर उसे बेहोश कर दिया था.

पैरी को उठाकर स्टीफन चर्च से कुछ दूर एक वीरान हिस्से में ले गया जहां पहले से कुछ चीज़ें रखी हुई थीं. कुछ मोमबत्तियां, एक हवनकुंड जैसी जगह पत्थरों से बनी हुई थी और कुछ रस्सियां व आग जलाने की और चीज़ें. यहां से कुछ दूर चर्च का स्टोर था जहां एक फ्रिज भी रखा था. फ्रीज़र में बर्फ इस तरह जम चुकी थी कि उससे हथियार का काम लिया जा सकता था. स्टीफन को पता था कि कुछ देर में पैरी को होश आ सकता है इसलिए वह उस फ्रीज़र से बर्फ के कुछ टुकड़े ले आया.

स्टीफन के पास एक छोटा चाकू भी था. कुछ ही देर में जैसे ही पैरी को होश आया तो उसने महसूस किया कि उसका मुंह और हाथ-पैर बंधे हुए थे. वह चीख नहीं पा रही थी और अंधेरे में स्टीफन को साफ देख भी नहीं पा रही थी लेकिन वह बुरी तरह छटपटा रही थी. उसे काबू करने के लिए स्टीफन ने बर्फ के उन धारदार और नुकीले टुकड़ों से पैरी के चेहरे और सिर पर हमले किए और कुछ देर में ही पैरी फिर निढाल पड़ गई.


पैरी का चेहरा लहूलुहान हो चुका था. अब स्टीफन ने पैरी के कपड़े उतारे और फाड़े. फिर उसने उस हवनकुंड में थोड़ी सी आग जलाई और आसपास कुछ निशान बनाए. कुछ मोमबत्तियां भी जलाईं. वह पैरी के साथ सेक्स करना चाहता था लेकिन पैरी को पकड़ते ही उसे पता चल गया कि पैरी लाश बन चुकी थी. इसके बावजूद स्टीफन ने पैरी की लाश के ही साथ सेक्स करने की कोशिश की.

इसके बाद स्टीफन ने एक किताब निकालकर आग और टॉर्च की रोशनी के सहारे उस किताब से कुछ पाठ और जाप किया. इस पाठ के दौरान स्टीफन ने एक मोमबत्ती का गर्म मोम टपकाकर उसे पैरी की लाश के सीने पर रखा, दूसरी मोमबत्ती इसी तरह उसके पेट पर और एक और उसके प्राइवेट पार्ट पर रखी. आखिरकार, यह सब करने के बाद स्टीफन पैरी को उसी हालत में वहीं छोड़कर चला गया. आधी रात गुज़र चुकी थी.

Serial killer, DNA technology in murder, US murder case, story of murder mystery, satanic murder case, सीरियल किलर, हत्या और डीएनए तकनीक, अमेरिका हत्याकांड, तंत्र मंत्र से हत्या, रहस्यमयी हत्या की कहानी

करीब एक बजे जब स्टीफन वहां से जाने को हुआ था तब उसे ऐसी आवाज़ सुनाई दी कि कोई पैरी को पुकार रहा था. आवाज़ काफी दूर से आती हुई मालूम पड़ रही थी इसलिए स्टीफन जल्दबाज़ी में इस तरह वहां से चला गया कि कोई उसे देख न सके. उसे इस वक्त कमरे में दाखिल होते हुए भी किसी ने नहीं देखा था. कुछ देर बाद स्टीफन के कमरे के दरवाज़े को किसी ने ज़ोर से भड़भड़ाया.

स्टीफन ने दरवाज़ा खोला तो ब्रूस सामने खड़ा था और वह पैरी के बारे में पूछ रहा था. स्टीफन ने कहा कि उसने पैरी को चर्च में आते-जाते नहीं देखा. ब्रूस ने उससे मदद करने की बात कही और खुद पैरी को तलाशने चला गया. कुछ देर स्टीफन पैरी का नाम पुकारते हुए उस पूरे कैम्पस और आसपास के इलाकों में घूमता रहा. जिसने भी आवाज़ सुनकर उससे बात की, ब्रूस ने हर उस शख़्स से पैरी के बारे में पूछा लेकिन कुछ पता नहीं चला.


ब्रूस फिर स्टीफन के पास लौटा और उसने चर्च में फिर चेक करने की बात कही. स्टीफन ने रात करीब दो बजे चर्च खोला और चर्च के भीतर चेक करने के बाद ब्रूस को तसल्ली दिलाई कि पैरी चर्च में नहीं थी. ब्रूस और भटकता रहा और रात करीब तीन बजे उसने पुलिस को फोन कर दिया. पुलिस आई, तफ्तीश शुरू हुई और काफी पूछताछ व खोजबीन के बाद अलसुबह पैरी की लाश चर्च से कुछ दूर उस हवनकुंड के पास पाई गई. ब्रूस के होश उड़े हुए थे और वह बिलखते हुए पैरी की लाश के पास बैठा खुद को कोस रहा था - 'न मैं तुमसे झगड़ा करता, न तुम इस तरह चली जातीं और न ये सब...'

रहस्य बन गया पैरी का कत्ल
एक लाश मिली थी और भयानक हालत में. पुलिस ने गहन तफ्तीश शुरू की तो शक के दायरे में शुरू से दो शख्स थे - पहला ब्रूस और दूसरा स्टीफन. जांच चलती रही और इस दौरान ब्रूस ने अपना डीएनए सैंपल देने में कोई हिचक नहीं दिखाई जबकि स्टीफन ने अपना डीएनए सैंपल देने से इनकार कर दिया और पुलिस को उसका सैंपल पाने के लिए लंबा इंतज़ार और चालें चलनी पड़ीं. इसके बावजूद, इतने साल पहले डीएनए के ज़रिये जांच की तकनीक विकसित नहीं थी इसलिए कुछ हासिल हुआ नहीं.

Serial killer, DNA technology in murder, US murder case, story of murder mystery, satanic murder case, सीरियल किलर, हत्या और डीएनए तकनीक, अमेरिका हत्याकांड, तंत्र मंत्र से हत्या, रहस्यमयी हत्या की कहानी
44 साल पहले मारी गई एर्लिस पैरी की तस्वीर.


ब्रूस धीरे धीरे शक के दायरे से बाहर हो गया लेकिन स्टीफन जांचकर्ताओं के शक के घेरे में बना रहा. इसके बावजूद उसके खिलाफ कोई सबूत या गवाह न होने के कारण न तो उसे गिरफ्तार किया जा सकता था और न ही कोई थ्योरी उसके खिलाफ साबित की जा सकती थी. महीनों, सालों तक पैरी की हत्या के केस में बात आगे नहीं बढ़ी और हर पहलू को कुरेदने के बावजूद पुलिस के हाथ कुछ नहीं लग रहा था. ये वही समय था जब अमेरिका के इस और आसपास के कई इलाकों में रहस्यमयी हत्याएं हो रही थीं और एक से ज़्यादा सीरियल किलर्स के सक्रिय होने के अंदेशे लगाए जा रहे थे.

कई सालों के दरमियान कई बार ऐसा हुआ कि अचानक स्टीफन के पास कोई जांचकर्ता पूछा और पैरी के केस में नये सिरे से पूछताछ की. हर बार स्टीफन के खिलाफ कोई ऐसा सुराग नहीं मिल सका कि उसके खिलाफ कुछ भी एक्शन लिया जा सके. जांच के कागज़ात, सैंपल और रिपोर्ट्स के गट्ठर पुलिस रिकॉर्ड में जमा हो चुके थे और कोल्ड केस यानी ठंडे बस्ते का केस बनकर रह गई थी पैरी की हत्या.

खुलासे के बावजूद पुलिस कातिल को पकड़ नहीं सकी क्योंकि...
डेढ़ दो साल पहले डीएनए तकनीक काफी विकसित हुई और इस तकनीक की मदद से कई कोल्ड केसों को सुलझाने में मदद मिली और पुलिस ने 70 के दशक के कुख्यात गोल्डन स्टेट किलर को भी धर दबोचा. इसके बाद पैरी के ठंडे पड़े केस को खोला गया और सारे सबूतों और सैंपलों की दोबारा जांच की गई. डीएनए टेस्ट से ये साबित हो गया कि पैरी की हत्या के सीन आॅफ क्राइम से जो डीएनए सैंपल मिला था, स्टीफन का डीएनए सैंपल उससे मैच करता था.

ये एक पुख़्ता सबूत था जो स्टीफन को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ केस चलाने के लिए काफी था. वैसे भी स्टीफन हमेशा से शक के दायरे में रहा था. पुलिस ने पूरी कवायद कर स्टीफन के खिलाफ गिरफ्तारी के आदेश और सर्च वॉरंट जारी करवाया और इसी साल जून के महीने में पुलिस टीम सैन जोस स्टूडियो अपार्टमेंट में स्टीफन के घर पहुंची. इस दौरान पुलिस की कार्यवाही की खबरें स्टीफन तक पहुंच रही थीं और वह सब कुछ समझ पा रहा था.


दरवाज़े पर दस्तक के बाद स्टीफन ने पुलिस को देखा तो उसने पुलिस से कुछ मिनटों की इजाज़त मांगी ताकि वह कपड़े ठीक से पहनकर उनके साथ चल सके. पुलिस ने घर में दाखिल होते ही भांप लिया कि दो कमरों का छोटा सा मकान है और स्टीफन 72 साल का बूढ़ा आदमी हो चुका है इसलिए वह भाग नहीं सकेगा, तो पुलिस ने उसे इजाज़त दे दी. स्टीफन अंदर के कमरे में गया और पर्दा खींच दिया. पुलिस टीम बाहर के कमरे को अपनी आंखों से टटोलने लगी थी.

Serial killer, DNA technology in murder, US murder case, story of murder mystery, satanic murder case, सीरियल किलर, हत्या और डीएनए तकनीक, अमेरिका हत्याकांड, तंत्र मंत्र से हत्या, रहस्यमयी हत्या की कहानी
एर्लिस पैरी हत्याकांड का मुख्य आरोपी स्टीफन क्रॉफोर्ड.


कुछ ही सेकंड्स बाद पल भर के लिए पर्दा उड़ा तो एक पुलिस अफसर की नज़र पड़ी कि स्टीफन अंदर के कमरे में अपने बेड पर बैठा था और उसने पिस्तौल अपने सिर से सटा रखी थी. पुलिस अफसर से नज़र मिलते ही स्टीफन मुस्कुराया और उस अफसर ने 'स्टॉप' चिल्लाकर भीतर के कमरे की तरफ कदम बढ़ाया तभी एक गोली चलने की आवाज़ गूंजी. स्टीफन ने खुद को गोली मार ली थी और पुलिस टीम की यूनिफॉर्म में जो स्पाय कैमरे लगे थे, उनमें ये पूरा वाकया कैद हो गया.

सालों बाद इस केस में पुलिस के हाथ स्टीफन को गिरफ्तार करने लायक सबूत मिला था और पुलिस स्टीफन तक पहुंची थी लेकिन वह पकड़ में नहीं आ सका और उससे कोई पूछताछ नहीं हो सकी. अब हाल यह है कि पैरी की हत्या का केस अब भी पूरी तरह नहीं सुलझा है क्योंकि निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता कि 44 साल पहले उस रात पैरी को भयानक और शैतानी ढंग से मौत के घाट उतारने वाला स्टीफन ही था. हालांकि जांचकर्ताओं को यह शक भी है कि स्टीफन सीरियल किलर भी हो सकता है और संभव है कि पैरी के अलावा कुछ और कत्लों का ज़िम्मेदार भी रहा हो.

इस शक और थ्योरी की वजह भी है क्योंकि स्टीफन के खुदकुशी करने के बाद उसके अपार्टमेंट की तलाशी ली गई तो कई चौंकाने वाली चीज़ें बरामद हुईं. स्टीफन के हाथ का लिखा एक सुसाइड नोट मिला जो उसने साल 2016 में लिखा था. उस किताब की जिल्द संभालकर रखे हुए कागज़ात में मिली, जो रहस्य बन चुके पैरी हत्याकांड पर एक पत्रकार ने 1987 में लिखी थी. इसके अलावा कई अखबारों की कतरनें और पैशाचिक या शैतान की पूजा की तरफ इशारा करने वाली कुछ चीज़ें भी मिलीं.

ये भी पढ़ें

पहला प्लॉट फेल हुआ तो उसने बीवी को हज़ारों फीट ऊंचाई से गिराने की साज़िश रची
दक्षिण कोरिया में पॉर्न की शिकार लड़कियां, एक ट्विटर अकाउंट से मचा तहलका
मुंबई शिफ्ट हो चुकी प्रेमिका को हर कीमत पर पाना चाहता था आशिक इसलिए...

PHOTO GALLERY : वो माधुरी दीक्षित बनना चाहती थी लेकिन सेक्स प्रपोज़ल ठुकराने पर गई जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2018, 7:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...