छत्रपति हत्याकांड: गोली से लेकर राम रहीम पर फैसले की घड़ी तक का सफर

छत्रपति हत्याकांड: गोली से लेकर राम रहीम पर फैसले की घड़ी तक का सफर
राम रहीम

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड के केस में पिछले 16 सालों में क्या मोड़ आए? कौन सी तारीखें इस केस में मील का पत्थर साबित हुईं और कैसे यह केस फैसले की घड़ी तक पहुंचा? टाइमलाइन-खास पेशकश.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2019, 2:55 PM IST
  • Share this:
पत्रकार छत्रपति हत्याकांड में पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट शुक्रवार को फैसला सुना सकती है. मुख्य आरोपी डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये कोर्ट में पेशी होगी. राम रहीम इस समय रोहतक की सुनारिया जेल में साध्वी यौन शोषण मामले में सजा काट रहा है. वहीं राम रहीम की पेशी के मद्देनजर पंजाब-हरियाणा के कई जिलों समेत चंडीगढ़ में अलर्ट जारी कर दिया गया है. पंजाब के मालवा क्षेत्र के आठ जिलों की सुरक्षा के लिए 25 कंपनियां तैनात की गई हैं.

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर किशन लाल, निर्मल और कुलदीप के साथ मिलकर साजिश रचकर सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या कराने का आरोप है. आरोप है कि बाइक पर आए कुलदीप और निर्मल ने गोली मारकर रामचंद्र प्रजापति की हत्या कर दी थी. छत्रपति ने अपने ईवनिंग अखबार 'पूरा सच' में अनाम साध्वी का पत्र प्रकाशित किया था और पूरे मामले का खुलासा किया था.

इस मामले के तूल पकड़ने के बाद रामचंद्र छत्रपति की हत्या 16 साल पहले कर दी गई थी. 16 सालों से यह केस चल रहा है और सीबीआई इस केस में अपनी रिपोर्ट पेश कर चुकी है. अंतिम सुनवाई भी संपन्न हो चुकी है और इस केस में फैसला सुनाया जाना बाकी है. पिछले 16 सालों में यह केस किन मोड़ों से गुज़रते हुए अंतिम पड़ाव तक पहुंचा, टाइमलाइन में देखें.



ram rahim, dera sachchaa sauda, journalist murder case, verdict in ram rahim case, panchkula news, sirsa news, राम रहीम, डेरा सच्चा सौदा, सिरसा समाचार, पत्रकार हत्याकांड, छत्रपति हत्याकांड
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज