कत्ल की नाकाम कोशिश से खुला पिछले कत्ल का राज़, लेडी डॉन तक पहुंची कहानी

सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

कॉंट्रैक्ट किलिंग यानी हत्या की सुपारी लेकर एक कत्ल को अंजाम देने के सिलसिले में दिल्ली की लेडी डॉन बसीरन उर्फ मम्मी को हिरासत में लिया गया. आतंक का पर्याय बन चुकी इस लेडी डॉन और इसके परिवार के खिलाफ 100 से ज़्यादा आपराधिक केस दर्ज हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2018, 7:54 PM IST
  • Share this:
एक कत्ल होने जा रहा था लेकिन हो नहीं सका क्योंकि पुलिस किस्मत से वारदात से पहले ही पहुंच गई. लेकिन मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस को पता चला उस कत्ल के बारे में जो करीब चार महीने पहले इसी जगह हो चुका था. इस केस की गुत्थी के उलझे हुए तार सब सुलझे तब तार जुड़ते चले गए और दिल्ली की बदनाम लेडी डॉन के गिरेबान तक पहुंच गए.

दिल्ली के संगम विहार इलाके के घने जंगल में आए-दिन किसी न किसी जुर्म होने की खबरें आम रही हैं. ये घना जंगल कई तरह के अपराधियों और अपराधों को छुपाने की जगह के तौर पर भी काम आता रहा है. इन्हीं तमाम सरगर्मियों के चलते गाहे-ब-गाहे पुलिस की गश्त इस जंगल के आसपास हुआ करती है. इसी साल यानी जनवरी 2018 में एक रात पुलिस इस इलाके में गश्त पर थी. आसपास पुलिस की मौजूदगी से बेखबर कुछ लोग जंगल के दूसरे हिस्से में एक कत्ल की साज़िश रच रहे थे.

तीन-चार लोग मिलकर एक नौजवान लड़के को पकड़कर, तकरीबन घसीटकर जंगल के भीतर ले आए थे. दिल्ली के ही इस लड़के को उसके घर से अगवा कर लिया गया था और अब उसका कत्ल करने की साज़िश थी. जंगल के भीतर वह लड़का चीख रहा था और ये हमलावर हंस रहे थे. 'चीख ले बेटा, यहां कोई न है तेरी आवाज सुनने वाला.' कुछ ही सेकंड्स बाद एक हमलावर को गुस्सा आया और उसने लड़के के मुंह पर एक तमाचा खींचकर मारा और चुप होने को कहा.



लड़का सुबकते हुए उन लोगों से मिन्नतें करने लगा कि वो उसे छोड़ दें. इन लोगों ने लड़के के हाथ पैर बांधकर वहीं पटक दिया और शराब व सिगरेट पीते रहे. इस बीच, लड़का गिड़गिड़ाता रहा. तभी, एक हमलावर ने उस लड़के की मिन्नतों के जवाब में उसे इशारे में समझाया कि उसे मारने के लिए उन्हें कॉंट्रैक्ट मिला है इसलिए उसकी मौत तो तय है. कुछ ही देर बाद जब हमलावरों ने बड़े से चाकू निकालकर उस लड़के को दिखाए तो वह डर के मारे फिर चिल्लाने लगा.
delhi, murder, murder case, contract killing, lady don, दिल्ली, कत्ल, हत्याकांड, कॉंट्रैक्ट किलिंग, लेडी डॉन

उसकी चीखें सुनकर वो लोग फिर हंसे और उस लड़के को जी भर कर चीख लेने के लिए कहा. फिर जैसे ही एक हमलावर ने उस लड़के को मारने के लिए बड़ा सा चाकू उठाया तभी पुलिस के गश्ती वाहन की आवाज़ सुनाई दी और पुलिस ने भी चीखें सुन ली थीं इसलिए हवाई फायर किए. ये हमलावर उस लड़के को वहां छोड़कर भाग खड़े हुए. पुलिस ने इस लड़के को बचा लिया और इससे पूछताछ की तो उस लड़के ने कुछ बातें बताईं -

ये लोग मुझे ईस्ट दिल्ली से मेरे घर के पास से उठाकर लाए थे और कह रहे थे कि किसी ने मेरे मर्डर के लिए कॉंट्रैक्ट दिया है. ये तीन लोग बार-बार किसी 'मम्मी' का जिक्र कर रहे थे और कह रहे थे कि ये मम्मी के कहने पर मुझे मारने वाले हैं. इन लोगों के पास धारदार हथियार थे जिनसे ये मुझे मारने वाले थे. इन लोगों ने यह भी कहा कि पहले भी इस जंगल में ये लोग कोई जुर्म कर चुके हैं.


पुलिस की एक टीम इस लड़के को लेकर चली गई जबकि एक टीम इसी जंगल में रुकी और जंगल में आसपास कुछ तलाशने लगी. थोड़ी ही देर बाद जंगल के इस हिस्से से थोड़ी दूर एक गड्ढा पुलिस को दिखाई दिया. इस गड्ढे के पास जब कुछ मिट्टी हटाई गई तो शक और गहरा हो गया. ज़रा सी ही मेहनत करने के बाद इस उथले गड्ढे से एक सड़ी गली लाश निकली. इस लाश को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाकर पुलिस ने इस बारे में तफ्तीश जारी रखी.

कुछ ही दिनों में पता चला कि यह अधजली लाश उत्तर प्रदेश के रहने वाले 21 साल के लड़के मिराज की थी जो सितंबर 2017 से लापता था. इलाके में पूछताछ और खबरियों के ज़रिये पुलिस के पास टिप थी कि मिराज को मारने के लिए कॉंट्रैक्ट दिया गया था. इसी बीच पुलिस के हाथ एक वो आरोपी लगा जो उस रात जंगल से उस लड़के को छोड़कर भागा था. इसका नाम नीरज था और इसने पूछताछ में बहुत कुछ उगलना शुरू कर दिया.

अब पुलिस ने अपने खबरी लगाए और इस कॉंट्रैक्ट किलिंग की और डिटेल्स निकालीं. खबर मिलते ही पुलिस ने मुन्नी बेगम को पकड़ा और उससे पूछताछ की. मुन्नी ने बताया कि मिराज उसका सौतेला भाई था और उससे परेशान होकर मुन्नी ने ही आकाश, विकास, नीरज को सुपारी दी थी कि वो मिराज को खत्म कर दें. ये सभी लोग 'मम्मी' के लिए काम करते थे और 'मम्मी' ने इन लोगों को इस हत्या को अंजाम देने का आॅर्डर दिया था. पूरी डील 60 हज़ार रुपये में फिक्स हुई थी.


अब पुलिस के पास पुख्ता खबर थी कि 'मम्मी' के नाम से कुख्यात दिल्ली के संगम विहार की लेडी डॉन बसीरन इस पूरे हत्याकांड के पीछे है. पुलिस से दो कदम आगे निकली बसीरन और पुलिस की हरकत की भनक लगते ही वह फरार हो गई. पुलिस जब संगम विहार में उसे पकड़ने पहुंची तो उसे खाली हाथ लौटना पड़ा. बसीरन उर्फ मम्मी की तलाश जारी थी लेकिन उसका कहीं कोई सुराग नहीं मिल रहा था. इसके बाद पुलिस ने बसीरन का पूरा इतिहास टटोलना शुरू किया.

delhi, murder, murder case, contract killing, lady don, दिल्ली, कत्ल, हत्याकांड, कॉंट्रैक्ट किलिंग, लेडी डॉन
लेडी डॉन बसीरन उर्फ मम्मी


इस बीच, बसीरन के खिलाफ वॉरंट निकल चुका था, उसे भगोड़ा घोषित किया जा चुका था और बसीरन अपने रिश्तेदारों की मदद से कभी अहमदाबाद तो कभी इलाहाबाद या मैनपुरी जैसे शहरों में छुपी रही. दूसरी तरफ, पुरानी डॉन रह चुकी बसीरन के खिलाफ कई केस चल रहे थे और इसी सिलसिले में कानूनी तौर पर उसकी संपत्ति कुर्क की जा चुकी थी. इस संपत्ति को वापस लेने के लिए बसीरन अपने लोगों की मदद से कानूनी लड़ाई लड़ रही थी.

इसी सिलसिले में एक कानूनी कार्रवाई और पेशी के सिलसिले में बसीरन को दिल्ली पहुंचना ही था. खबरियों से यह भनक पुलिस को लग चुकी थी और मिराज की कॉंट्रैक्ट किलिंग के मामले में बसीरन को हिरासत में लेने के लिए पुलिस ने पूरी योजना तैयार की. पिछले 17 अगस्त को जब बसीरन संगम विहार पहुंची तो पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया. कॉंट्रैक्ट किलिंग केस के सिलसिले में 8 महीने से फरार लेडी डॉन की गिरफ्तारी के बाद अहम यह है कि बसीरन और उसके परिवार के खिलाफ हत्या, लूट, वसूली जैसे कुल 113 केस दर्ज हैं.

कत्ल की एक नाकाम कोशिश के बाद खुली एक कहानी से बड़ी मछली पुलिस के हाथ लगी और बरसों से जो लेडी डॉन इलाके में आतंक का पर्याय बन चुकी थी, उसे आखिरकार हिरासत में ले ही लिया गया.

ये भी पढ़ें

LoveSexaurDhokha: शादी के दबाव के बाद ब्लैकमेलिंग का दांव
IPL सट्टे में बुरी तरह फंस गया तो लूट की साज़िश रची और बन बैठा कातिल
#LoveSexaurDhokha: घर के भीतर ही छुपा था लड़के के कैरेक्टर का राज़
बेवफा निकली बंदूक की गोली, कंधे के बजाय छाती में धंसकर ले गई जान
#LoveSexaurDhokha: शादी से ऐन पहले रंगे हाथों पकड़ी गई फरेबी लड़की

PHOTO GALLERY : बच्चों को नशा देकर मुजरिम बनाती थी दिल्ली के 'पानी गैंग' की ये 'मम्मी'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज